• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • मंगल से अधिक युवा है शुक्र, यहां आज भी पृथ्वी की तरह हैं सक्रिय ज्वालामुखी

मंगल से अधिक युवा है शुक्र, यहां आज भी पृथ्वी की तरह हैं सक्रिय ज्वालामुखी

पहली बार शुक्र (Venus) और मंगल के बीच इस तरह से तुलना हुई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

पहली बार शुक्र (Venus) और मंगल के बीच इस तरह से तुलना हुई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

सौरमंडल (Solar system) के दूसरे ग्रह शुक्र (Venus) के अध्ययन से पाया गया है कि वह मंगल (Mars) के बनने के काफी बाद बना था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    हमारे वैज्ञानिक हमारे सौरमंडल (Solar System) के सभी ग्रहों का विशेष अध्ययन करते हैं. इनके अवलोकन से वे यह जानने का प्रयास करते है कि वो कौन से हालात थे जिनसे सौरमंडल में पृथ्वी जैसा ग्रह बना जहां जीवन पनप सका. इसके अलावा उनका ध्यान मंगल (Mars) और शुक्र (Venus) ग्रह पर रहता है जिससे वे यह जान सके कि वे पृथ्वी से इतने अलग कैसे रह गए और क्या वहां कभी जीवन पनपने की स्थितियां भी रही थीं. इस सिलसिले में एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने यह पता लगाया है कि शुक्र ग्रह मंगल की तुलना में ज्यादा युवा ग्रह है.

    शुक्र के ज्वालामुखी
    अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों के समूह के इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने शुक्र ग्रह के ज्वालामुखी वाले इलाकों का विश्लेषण कर यह नतीजा निकाला है. ये नतीजे सोलर सिस्टम जर्नल  प्रकाशित हुए हैं. अध्ययन में रूस, स्पेन, फिनलैंड , इटली और स्पेन के वैज्ञानिक शामिल थे. वैज्ञानिक फिलहाल शुक्र ग्रह की युवा ज्वालामुखी क्षेत्रों के अध्ययन पर ध्यान दे रही हैं जिनका अध्ययन भावी अभियानों द्वारा शुक्र की कक्षा से किए जाने वाले अवलोकनों से भी किया जाएगा.

    युवा आयु का संकेत
    शोधकर्ताओं ने अपना अध्ययन प्रमुख रूप से शुक्र के इम्दिर क्षेत्र पर केंद्रित किया जहां इदुन मोन्स नाम के 200 किलोमीटर चौड़ा ज्वालामुखी मौजूद है. VIRTIS स्पैक्ट्रोमीटर के जरिए इस इलाके के विश्लेषण करने पर वैज्ञानिकों ने पाया कि इस सतह की उम्र करीब 25 लाख साल से लेकर 2.5 लाख साल ही होनी चाहिए. इस नतीजे के समर्थन में वैज्ञानिकों को और भी प्रमाण मिले.

    शुक्र नया, मंगल पुराना
    शोधकर्ताओं ने पाया कि इस इलाके के ऊपर शुक्र के बादलों की परत के नीचे हवा की गति कम हैं जो युवा क्षेत्रों में ज्वालामुखी गतिविधियों के कारण है. अपने पूरे अवलोकन में वैज्ञानिकों ने यह निष्कर्ष निकाला कि शुक्र ग्रह युवा ग्रह होना चाहिए जबकि मंगल ग्रह अरबों साल पुराना हो सकता है.

    Research, Space, Earth, Solar System, Venus, Mars, Planets, Sun, life beyond Earth,

    शोधकर्ताओं का कहना है कि मंगल (Mars) अरबों साल पुराना ग्रह है, (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

    ज्वालामुखियों की आयु
    रूसी स्पेस एजेंसी रोसमोसकोस के अनुसार अप्रत्यक्ष प्रमाण  सुझाते हैं कि शुक्र के ज्वालामुखी और टेक्टोनिक प्लेट्स ग्रह की आंतरिक जगहों के साथ अब भी सक्रिय है. शुक्र के पास चक्कर लगा रहे ऑर्बिटर से मिले आकंड़ों के विश्लेषण से पता चला है कि युवा ज्वालामुखी ऊंचाइयों में सतह की आयु समान्यतया मानी गई 50 करोड़ साल की उम्र से काफी कम हो सकती है.

    क्या एलियंस के साथ खतरनाक वायरस भी मिलेंगे हमें?

    आज भी सक्रिय हैं ज्वालामुखी
    इस शोध के जरिए शोधकर्ता शुक्र की संरचना का अध्ययन करना चाहते हैं और सतह पर अभी होने वाली गतिविधियों को समझने के साथ वहां पूर्व में होने वाली गतिविधियों के बारे में भी जानना चाहते हैं. इस विश्लेषण ने संकेत दिए हैं कि शुक्र में कई जगहों पर आज भी ज्वालामुखी सक्रिय हैं जिन्हें आगे पड़ताल का विषय बनाना चाहिए.

    Research, Space, Earth, Solar System, Venus, Mars, Planets, Sun, life beyond Earth,

    अध्ययन में पाया गया है कि शुक्र पर पृथ्वी की तरह आज भी सक्रिय ज्वालामुखी हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

    केवल पृथ्वी-शुक्र पर ही ज्वालामुखी सक्रिय
    इससे पहले की गई यूनिवर्सिटीज स्पेस रिसर्च एसोसिएशन (USRA) के किए गए शोधों में यह भी पता चला है कि शुक्र ग्रह की सतह पर बहता हुआ लावा मौजूद है जो केवल कुछ साल पुराना ही हो सकता है. इस खोज से पता चला था कि पृथ्वी और शुक्र जैसे युवा ग्रह ही ऐसे ग्रह हैं जहां ज्वालामुखी सक्रिय है.

    क्या मंगल पर मानव अभियान भेजने में लगेगा 20-30 साल का वक्त?

    कई वैज्ञानिकों का मानना है कि शुक्र और पृथ्वी की निर्माण एक साथ हुआ था और अपने शुरुआती दौर में दोनों ग्रहों पर एक जैसे ही हालात थे, लेकिन बाद में जहां पृथ्वी पर जीवन के अनुकूल स्थितियां पैदा हो गईं वहीं शुक्र ग्रह में नर्क जैसे हालात हो गई. सल्फ्यूरिक एसिड के वायुमंडल वाले शुक्र में आज पृथ्वी जैसे जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज