Video में देखें कैसे मास्क और बिना मास्क से हवा में फैलते हैं ड्रॉपलेट्स

मास्क हमारे मुंह के ड्रॉपलेट्स को काफी प्रभावी तरीके से रोकता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सोशल मीडिया पर शेयर किए एक विडियो में प्रदर्शित किया गया है कि कैसे मास्क (Mask) पहनकर और उसे पहने बिना मुंह से ड्रॉपलेट्स (Droplets) हवा में फैलते हैं

  • Share this:
    कोविड-19 (Covid-19) महामारी को फैले हुए छह महीने से ज्यादा का समय हो गया है जबकि इसकी इलाज और वैक्सीन पर काम जारी है. इसी बीच इसे रोकने के उपायों में सोशल डिस्टेंसिंग  (Social Distancing) के साथ ही मास्क (Mask) पहनने की अहमियत कायम है. लेकिन दुनिया में अब मास्क की उपयोगिता और प्रभावतोपादकता पर बहस और शोध चल रहे हैं. इनमें से कुछ यह बताते हैं कि किस तरह के मास्क उपयोगी हैं तो कुछ यह बताते हैं कि मास्क का उपयोग कैसे प्रभावी और सटीक हो सकता है. लेकिन हाल में एक वीडियो (Video) सोशल मीडिया पर शेयर हुआ है जो यह दिखा रहा है कि मास्क पहनने और न पहनने क्या अंतर पड़ता है.

    शुरू से ही मास्क पर जोर
    मास्क के उपयोग को लेकर बहस तब शुरू हुई जब यह बात सामने आई कि कोरोना वायरस का ताजा रूप यानि सार्स कोव-2 (SARS CoV-2) छींकने या खांसने से फैलता है. ठीक उसी समय से मास्क पर अध्ययन शुरू हुए. शुरुआती समय में इस तरह की खबरें चर्चा में रही जिनमें यह बताया गया था कि मास्क पहनने के क्या फायदे हैं. साथ ही इस पर भी काफी बहस हुई कि किस तरह के मास्क कितने और कब प्रभावी हैं.

    क्या दिखाया गया है वीडियो में
    ऐसा प्रयोग हाल ही में हुआ है जिसमें यह दिख रहा है कि मास्क पहने और न पहनने में कितना फर्क है क्योंकि उसमें दोनों स्थितियों में मुंह से कितने ड्रॉपलेट्स निकल रहे हैं यह दिख रहा है. इस वीडियों में पहले यह दिखाया गया है कि मास्क पहने बिना जब हम केवल जोर से बोलते हैं तब हमारे मुंह से ड्रॉपलेट्स कैसे फैलते हैं. इसके बाद मास्क पहने के बाद की स्थिति को दिखाया गया है.

    coronavirus mask,
    मास्क पहनने का तरीका भी बहुत अहमियत रखता है.


    दो तरह के मास्क में अंतर
    इतना ही नहीं यह भी बताया गया है कि मास्क के प्रकार से कितना अंतर पड़ता है. इस वीडियो में सिले हुए मास्क और बिना सिले हुए मास्क के प्रभाव में अंतर दिखाया गया है. वीडियो में साफ तौर पर दिख रहा है कि सिले हुए मास्क और बिना सिले हुए मास्क में बहुत ज्यादा अंतर नहीं हैं. इसके साथ इसमें यह बताया गया है कि आमतौर अंग्रेजी के B और P अक्षर के उच्चारण से ज्यादा ड्रॉपलेट्स हवा में फैलते हैं

    बार-बार खांसने से मास्क को होता है नुकसान, फिल्टर करने की क्षमता हो जाती है कम

    मास्क पहने के बाद भी हो सकती है लीकिंग
    वीडियों में केवल इतना ही नहीं दिखाया गया है कि मास्क पहनने और न पहनने में कितना अंतर है. इसमें यह भी दिखाया गया है कि मास्क पहनने के बाद भी कहां से और कैसे लीकिंग (Leaking) हो सकती है यानि  ड्रॉपलेट्स हवा में पहुंच सकते हैं.  इससे बचाव के लिए सलाह दी गई है कि मास्क को टाइट तरीके से पहना जाए. इसमें साफ तौर पर दिखाया गया है कि मास्क और बिना मास्क में कितना अंतर है.



    WHO ने भी मानी मास्क की अहमियत
    मास्क की कोरोना वायरस से बचाव में अहमियत को विश्व स्वास्थ्य संगठन भी मान चुका है. मास्क पहने से दो तरीके से बचाव होते हैं. एक तो अगर संक्रमित व्यक्ति मास्क पहने है तो इससे संक्रमण नहीं फैलता और दूसरा स्वस्थ व्यक्ति अगर मास्क पहने तो वह संक्रमित नहीं हो सकता.

    कोरोना वायरस को मारेगा यह Reusable Mask, जानिए कैसे काम करता है ये

    उपयोग का सही तरीका भी जरूरी
    मास्क की सफलता का एक संबंध उसके उपयोग से ज्यादा उसके उपयोग के तरीके से भी है. मास्क कैसे पहनना है और उसे पहनने और उतारने में सावधनियां बरतने की जरूरत होती है. इसके अलावा इसे प्रयोग के बाद दोबारा प्रयोग को लेकर भी कई तरह की सावधानियां बरतनी होती है. ऐसे में इसका उपयोग से हमें कितनी सफलता मिल रही है या कितनी नहीं इसका आंकलन भी मुश्किल है. बहराल, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का उपयोग व्यक्तिगत होता जा रहा है, भले ही उसका ज्यादातर सामाजिक ही क्यों न हो.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.