विराट कोहली क्यों पढ़ रहे थे ईगो से बचने की ये किताब?

विंडीज़ (West Indies) के खिलाफ पहले टेस्ट के दौरान टीम इंडिया (Team India) के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) एक मोटिवेशनल किताब पढ़ते देखे गए थे, जिसके बाद से लगातार वह किताब चर्चाओं में है.

News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 4:40 PM IST
विराट कोहली क्यों पढ़ रहे थे ईगो से बचने की ये किताब?
ड्रेसिंग रूम में एक किताब पढ़ते देखे गए थे टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली.
News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 4:40 PM IST
खबर ये है कि वो किताब भारत में सोल्ड आउट (Book Out of Stock) हो चुकी है, जिसे एंटिगुआ में भारत और वेस्टइंडीज़ (India vs West Indies) के बीच खेले गए पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली ड्रेसिंग रूम में पढ़ते देखे गए थे. ये कोहली इफेक्ट (Kohli Impact) है या इस किताब की खूबी? इसका जवाब भी आपको मिलेगा लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि स्टीवन सिल्वेस्टर (Steven Sylvester) लिखित किताब 'डिटॉक्स योर ईगो' (Detox Your Ego) वास्तव में किस बारे में है, कैसी है और क्यों पढ़ी जाना चाहिए?

ये भी पढ़ें : सबसे बड़ी डिफेंस हड़ताल करने वाली हथियार फैक्ट्रियों की कुंडली

इस किताब की बिक्री से जुड़े एक ट्विटर (Twitter) अकाउंट पर ये जानकारी दी गई कि भारत में इसकी सारी कॉपियां बिक चुकी हैं और नया स्टॉक आने के लिए ग्राहक संबंधित पोर्टलों पर नज़र रखें. ये भी बताया गया कि यूके में भी इस किताब के लिए अच्छी खासी मांग (Book in Demand) चल रही है. इस ट्वीट के साथ विराट कोहली की वो तस्वीर भी पोस्ट की गई, जिसमें वह ये किताब पढ़ते दिख रहे थे. तो, कोहली इफेक्ट के चलते धड़ाधड़ बिकी इस किताब के बारे में जानिए.

क्या है डिटॉक्स योर ईगो?

खिलाड़ी हो या बिज़नेसमैन, नौकरीपेशा व्यक्ति हो या कोई भी, सबको जीवन में आगे बढ़ने के लिए ईगो के साथ संघर्ष करने के 7 आसान कदम बताने का दावा ये किताब करती है. इस किताब में 7 भाग हैं जिनमें से पहले में ये बताया गया है कि आपको अपने ईगो को शुद्ध क्यों करना चाहिए. दूसरे भाग में इस ईगो को पहचानने की तरकीबों के बारे में ज़िक्र है.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

किताब के तीसरे भाग वर्ल्ड चैंपियनों के साथ ईगो को लेकर खास तथ्य हैं और चौथे भाग में ये बताया गया है कि ईगो को डिटॉक्स कैसे किया जाए. पांचवे, छठे और सातवें भाग में ईगो को शुद्ध यानी डिटॉक्स करने की प्रैक्टिसों के बारे में चरणबद्ध तरीके से चर्चा है, जिससे गुज़रकर आप खुद को जान और समझ पाते हैं और आत्मसंयम व आत्मशुद्धि की ओर बढ़ सकते हैं.
Loading...

virat kohli, india vs west indies, team india windies tour, virat kohli twitter, virat kohli book, विराट कोहली, भारत बनाम वेस्टइंडीज़ मैच, टीम इंडिया का वेस्टइंडीज़ दौरा, विराट कोहली ट्विटर, विराट कोहली किताब
स्टीवन सिल्वेस्टर और उनकी चर्चित किताब का कवर पेज.


कौन हैं स्टीवन सिल्वेस्टर?
इस किताब के लेखक स्टीवन पहले प्रोफेशनल क्रिकेटर रह चुके हैं और इन दिनों प्रदर्शन में सुधार के लिए नई सोच को बढ़ावा देने वाले चार्टर्ड मनोवैज्ञानिक के तौर पर काम कर रहे हैं. लंदन यूनिवर्सिटी से मनोविज्ञान में डिग्री लेने के बाद स्टीवन ने प्रोफेशनल फुटबॉल और क्रिकेट को चुना था और वो मिडिलसैक्स व नॉटिंघमशायर जैसी टीमों के लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेल चुके हैं.

क्रिकेट से संन्यास के बाद स्टीवन ने मनोविज्ञान में अपने करियर को तवज्जो दी और एक खिलाड़ी के तौर पर उन्हें कई खिलाड़ियों के साथ रहकर कई तरह के अनुभव लेने का मौका मिला. अपने अनुभवों, शिक्षा और प्रतिभा के मेलजोल से वो एक ऐसे प्रशिक्षक बन गए हैं जिनकी मदद से खिलाड़ी, प्रोफेशनल्स, छात्र, शिक्षक और अभिभावक यानी हर तबके के लोग अपने जीवन और प्रदर्शन को बेहतर कर सकते हैं.

तो इसलिए पढ़ रहे थे कोहली ये किताब
इस पूरे ब्योरे के बाद आप समझ सकते हैं आखिर कोहली ये किताब पढ़ने में क्यों दिलचस्पी ले रहे थे. स्टीवन के मुताबिक ये किताब कई मशहूर एथलीटों और अव्वल खिलाड़ियों के वास्तविक जीवन से जुड़े अनुभवों के निचोड़ के तौर पर लिखी गई है कि कैसे खिलाड़ियों को अपने ईगो से जुड़ी समस्याओं को हल करना चाहिए और इससे प्रदर्शन कैसे बेहतर हो सकता है. साथ ही, स्टीवन चूंकि क्रिकेट की दुनिया से ही आते हैं इसलिए एक क्रिकेटर का इस किताब से खास जुड़ाव हो जाना स्वाभाविक भी है.

ये भी पढ़ें:
क्या है बिकिनी एयरलाइंस, जो भारत में उड़ान से पहले चर्चाओं में है
क्या होती है 'मारण शक्ति', जिसके ज़िक्र से साध्वी प्रज्ञा ने मचाई सनसनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 4:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...