Home /News /knowledge /

Jet Fuel Vs Petrol: पेट्रोल से क्यों काफी सस्ता है विमान ईंधन; जानिए क्या है ये जेट फ्यूल?

Jet Fuel Vs Petrol: पेट्रोल से क्यों काफी सस्ता है विमान ईंधन; जानिए क्या है ये जेट फ्यूल?

पेट्रोल से कितना अलग है जेट फ्यूल. आखिर क्यों है सस्ता.

पेट्रोल से कितना अलग है जेट फ्यूल. आखिर क्यों है सस्ता.

what is jet fuel, why aviation fuel is cheaper than petrol: देश में पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतों के कारण तमाम लोग परेशान हैं. आज 18 अक्टूबर को दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल (Petrol Price Today 18th October 2021) 105.84 रुपये लीटर और डीजल 94.57 रुपये लीटर बिक रहा है.

अधिक पढ़ें ...

What Is Jet Fuel: देश में पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतों के कारण तमाम लोग परेशान हैं. आज 18 अक्टूबर को दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल (Petrol Price Today 18th October 2021) 105.84 रुपये लीटर और डीजल 94.57 रुपये लीटर बिक रहा है. मुंबई में पेट्रोल 111 रुपये प्रति लीटर के भाव को पार कर गया है.

लेकिन, आपको जानकर आश्चर्य होगा कि अपने ही देश में विमानों में भरा जाने वाला ईंधन यानी जेट फ्यूल (Jet Fuel) की कीमत काफी कम है. दिल्ली में प्रति किलो लीटर जेट फ्यूल की कीमत 79,020.16 रुपये किलो लीटर है. इस तरह प्रति लीटर की कीमत 79 रुपये हुई. जबकि देश में पेट्रोल इससे करीब 33 फीसदी महंगा बिक रहा है.

अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि ये जेट फ्यूल (what is jet fuel) होता क्या है? क्या यह पेट्रोल-डीजल से इतर कोई चीज होती है? आखिर क्यों इसकी कीमत (why aviation fuel is cheaper than petrol) इतनी कम है?

क्या होता है जेट फ्यूल (What Is Jet Fuel)
दरअसल, जेट फ्यूल और गैसोलीन (Gasoline) दोनों एक ही चीज है. तकनीकी भाषा में पेट्रोल को गैसोलीन कहा जाता है. अमेरिका और यूरोप के देशों में पेट्रोल को गैसोलीन के नाम से जाना जाता है. लेकिन आप अपनी कार जेट फ्यूल से नहीं दौड़ा सकते हैं.

जेट फ्यूल कच्चे तेल का एक सबसे बेसिक बाइप्रोडक्ट होता है. राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसका कड़ाई से नियमन किया जाता है.

जेट फ्यूल मुख्य रूप से दो तरह के होते हैं. जेट ए और जेट बी. इनकी गुणवत्ता और फ्रीजिंग प्वाइंट के हिसाब से इनको दो रूपों में बांटा गया है. जेट बी फ्यूल मुख्य रूप से सैन्य ऑपरेशन और बेहद खराब मौसम में इस्तेमाल किया जाता है. जेट बी फ्यूल, जेट ए फ्यूल की तुलना में कम परिष्कृत होता है.

कैसे बनता है जेट फ्यूल
कच्चे तेल को रिफाइन करते समय ही जेट फ्यूल और पेट्रोल को अलग-अलग किया जाता है. इन दोनों में बेसिक अंतर इनमें हाइड्रोकार्बन की मात्रा के आधार पर होता है.

पेट्रोल ऐसा हाइड्रोकार्बन होता है जिसमें 7 से 11 कार्बन एटम होते हैं जबिक जेट फ्यूल में ऐसा हाइड्रोकार्बन होता है जिसमें 12 से 15 कार्बन एटम्स होते हैं. इसको और स्पष्ट रूप से कहें तो जेट फ्यूल काफी हद तक किरोसीन से बनता है.

पेट्रोल से क्यों सस्ता होता है जेट फ्यूल (why aviation fuel is cheaper than petrol)

दरअसल, देश में पेट्रोलियम पदार्थों पर लगने वाले टैक्स के अलावा इनको रिफाइन करने में जो खर्च आता है उसकी लागत भी उपभोक्ताओं से वसूला जाता है. कच्चे तेल को रिफाइन कर उसके सभी बाइ प्रोडक्ट जैसे पेट्रोल, डीजल, जेट फ्यूल, किरोसीन और एलपीजी को बनाया जाता है. रिफाइनिंग की इस प्रक्रिया में जेट फ्यूल बनाने में लागत कम आती है. जेट फ्यूल एक परिष्कृत ईंधन नहीं है. वहीं पेट्रोल एक बेहद परिष्कृत ईंधन है.

Tags: Petrol and diesel, Petrol price

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर