• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • क्या औरत के बुनियादी हक को मारता है 'हलाला'?

क्या औरत के बुनियादी हक को मारता है 'हलाला'?

अगर कोई आदमी किसी औरत को तलाक दे देता है, लेकिन परिस्थितियों की वजह से औरत को फिर उसी आदमी से शादी करनी पड़ती है. तो उसे हलाला के नियम मानने पड़ते हैं.

  • Share this:
    हाल ही में हलाला का एक अजीब सा मामला सामने आया है. बरेली की एक लड़की ने अपनी कहानी सुनाते हुए बताया कि उसके पति ने न सिर्फ उसे कई बार तलाक दिया, बल्कि हर बार 'निकाह हलाला' के नाम पर उसे ससुर, देवर और कई आदमियों के साथ रात गुजारने को मजबूर भी किया. क्या होता है ये 'निकाह हलाला' जिसमें शादी, तलाक और फिर एक अनजान व्यक्ति के साथ शादी करने को औरत मजबूर कर दी जाती है.

    क्या है ये 'निकाह हलाला'
    निकाह हलाला एक इस्लामिक रस्म है. अगर कोई आदमी किसी औरत को तलाक दे देता है, लेकिन परिस्थितियों की वजह से औरत को फिर उसी आदमी से शादी करनी पड़ती है. तो उसे हलाला के नियम मानने पड़ते हैं. शरिया के मुताबिक, उसी व्यक्ति से फिर शादी करने से पहले औरत को पहले किसी दूसरे आदमी से शादी करनी होगी. जब यह दूसरा पति उस औरत को तलाक दे देगा, उसके बाद वो अपने पहले पति से शादी कर सकती है. यह दूसरी शादी भले ही सिर्फ एक दिन की हो लेकिन आदमी और औरत को तलाक से पहले शारीरिक सम्बन्ध बनाना जरूरी है. BBC की एक रिपोर्ट के मुताबिक हलाला की ये प्रथा पूरी दुनिया में सिर्फ भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में ही प्रचलित है.

    तलाक के बाद 3 महीने की 'इद्दत'
    तलाक और हलाला के बीच एक प्रथा और होती है जिसे इद्दत कहा जाता है. इद्दत वो समय होता है जो औरत तलाक के बाद अपने मायके में गुजारती है. यह समय 3 महीने 10 दिनों का होता है. इद्दत के दौरान औरत को ख़ास निर्देश होते हैं कि वो किसी भी गैर मर्द के सामने न जाए, न ही किसी गैर मर्द को अपना चेहरा दिखाए.

    क्या ऐसी दिखेंगी मंगल और चांद पर बसने वाली कॉलोनियां?

    इसके पीछे मकसद यह होता है कि अगर तलाक से ठीक पहले औरत प्रेग्नेंट हुई हो तो 3 महीने के बाद लोगों को उसकी प्रेग्नेंसी नजर आने लगे. इन 3 महीनों में वो किसी गैर मर्द से मिली भी नहीं होती तो इससे लोग उसके चरित्र का मूल्यांकन भी हो जाए.

    इद्दत का समय पूरा होने के बाद औरत जिस आदमी के साथ चाहे शादी कर सकती है. ऐसे में अगर औरत का पहला पति उससे एक बार फिर शादी करना चाहता है तो उससे पहले औरत को किसी और के साथ ऑफिशियल तौर पर शादी और उसके बाद शारीरिक सम्बन्ध बनाना जरूरी है. इसके पीछे का तर्क यह है कि किसी और के साथ शादी होते देखकर आदमी को अपनी 'संपत्ति' को खोने का दुख होगा और उसे वापस पाकर वो उसे बेहतर सहेज कर रखेगा.

    हलाला के बारे में क्या कहता है 'कुरान'
    इस्लामिक धार्मिक ग्रंथ कुरान में भी हलाला का जिक्र है लेकिन उसका स्वरुप थोड़ा अलग है. इसके मुताबिक अगर कोई औरत तलाक के बाद दुबारा शादी करती है और दूसरे पति के साथ भी उसका निबाह नहीं होता या दूसरा पति मर जाता है, ऐसी स्थिति में वो अपने पहले पति से शादी कर सकती है. यहां कहीं में जबरदस्ती एक दिन के लिए ही सही दूसरी शादी करवाने का जिक्र नहीं है. समय और लोगों की सोच के साथ हलाला का रूप बदला और मौलवियों की अपनी राय से जन्म लिया हलाला के नए स्वरुप 'हुल्ला' ने.

    हुल्ला क्या है
    इंस्टेंट तीन तलाक के चलते बहुत सी औरतों की जिंदगी नर्क से भी बदतर हो गई है. गुस्से में आकर या परेशान होकर पति ने कह दिया. 'तलाक, तलाक, तलाक' और औरत को मजबूर होना पड़ गया घर से निकल जाने के लिए. ऐसे में पतियों का तर्क होता है कि उन्होंने गुस्से में तलाक दे दिया था और अब होश में आकर वो अपनी पत्नी को वापस अपनाना चाहते हैं. इसके लिए वो मौलवियों का दरवाजा खड़खड़ाते हैं.

    हलाला के आगे मजबूर क्यों हैं औरतें


    वैसे तो जबरदस्ती किसी औरत को किसी दूसरे आदमी से शादी करने के लिए मजबूर करना इस्लाम में गलत माना गया है. लेकिन अगर पहला पति मौलवी को पैसे देकर या किसी और लालच से मना ले तो मौलवी औरत को एक दिन के लिए किएई अनजान आदमी से शादी करने को मजबूर कर देता है. इस्लाम में मौलवी के फैसले को सही मानने की सलाह दी गई है और इसीलिए औरत की हालत हलाला के मामले में बहुत चिंतनीय है.

    सावधान! मछली खाने से आपको हो सकता है कैंसर

    क्या औरत भी दे सकती है पति को 'तलाक'
    ऐसा नहीं है कि इस्लाम में सिर्फ आदमी ही अपनी पत्नी को तलाक दे सकता है. अगर औरत अपने पति से तलाक चाहती है तो वो काजी के पास जाकर इस तलाक की मांग कर सकती है. पति अपनी पत्नी को समझाने और सुलह की बात कर सकता है. यह समझाने-बुझाने की संभावना इंस्टेंट ट्रिपल तलाक में कहीं नजर नहीं आती. लेकिन अगर फिर भी पत्नी तलाक चाहती है तो काजी उनके रिश्ते को खत्म कर सकता है. इसी को खुला कहा जाता है.

    ये भी पढ़ें:

    अब ब्लैक एंड व्हाइट नहीं रंगीन होगा एक्स-रे

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज