Home /News /knowledge /

पढ़िए क्या है और कैसे होती है सर्जिकल स्ट्राइक?

पढ़िए क्या है और कैसे होती है सर्जिकल स्ट्राइक?

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

रिटायर्ड कर्नल यूसी दुबे से हुई बातचीत के आधार पर आपको बताते है कि आखिर क्या होती है सर्जिकल स्ट्राइक.

    एक तय वक्त. हमला करने का सीमित दायरा. कमांडो की एक छोटी टुकड़ी. बड़े हथियारों के बजाए छोटे-छोटे हथियारों का इस्तेमाल. और सबसे अहम ये कि छोटे हमले में दुश्मन को ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाना. सर्जिकल स्ट्राइक यानी दुश्मन को उसी के घर में घुसकर मार गिराना. रिटायर्ड कर्नल यूसी दुबे से हुई बातचीत के बाद हम आपको बताते हैं कि आखिर क्या होती है सर्जिकल स्ट्राइक.

    इसे कहते हैं सर्जिकल स्ट्राइक

    - जिस जगह हमला होना है, उसकी पूरी जानकारी जुटाई जाती है.

    - उसी के हिसाब से हमले की प्लानिंग की जाती है.

    - सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने के लिए कमांडो दस्ता तैयार किया जाता है.

    - बहुत ही गोपनीय तरीके से हेलीकॉप्टर से कमांडो दस्ते को टार्गेट तक पहुंचाया जाता है.

    - फिर होता है दुश्मन पर चौतरफा हमला.

    - दुश्मन को संभलने के मौका दिए बगैर उसे घेरकर वहीं तबाह कर दिया जाता है.

    - हमले को अंजाम देने के बाद कमांडो जिस तेज़ी से गए थे उसी तेज़ी से वापस लौट आते हैं.

    - सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान इस बात का ख़ास ख्‍‍‍‍‍‍याल रखा जाता है कि आसपास रहने वाले लोगों, इमारतों और गाड़ियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचे.

    इससे पहले कब हुई सर्जिकल स्ट्राइक?

    - NSCN के आतंकियों ने 4 जून 2015 को मणिपुर के चंदेल में फौज की टुकड़ी पर हमला किया था.

    - इस आतंकी हमले में 18 जवान शहीद हुए थे.

    - 10 जून 2015 को इस हमले का बदला लेने के लिए भारतीय जवानों ने म्यांमार की सीमा में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था.

    - तब फौज ने म्यांमार में दाखिल होकर आतंकी संगठन NSCN के टेरर कैंप को तबाह किया था.

    - पिछले साल ही पाकिस्‍तान के खिलाफ भी भारतीय सेना ने सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी.

    अमेरिका ने भी की थी सर्जिकल स्ट्राइक

    जब भी सर्जिकल स्ट्राइक का नाम आएगा. अमेरिका के सबसे बड़े बदले का नाम सामने आएगा. वो बदला जो उसने अपने सबसे बड़े दुश्मन ओसामा बिन लादेन को मारकर लिया था. ये वो बदला था जिसके लिए दुनिया का सबसे ताकतवर मुल्क अमेरिका 10 साल तक तड़पता रहा.

    11 सितंबर 2001 को लादेन के आतंकी संगठन अल क़ायदा के आतंकियों ने न्यूयॉर्क के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की दो इमारतों को अगवा किए गए विमान से उड़ा दिया.  15 साल पुरानी इन तस्वीरों ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था.  दुनिया के सबसे बर्बर आतंकी हमले में करीब 3 हजार लोग मारे गए थे... 9/11 हमले के बाद से अमेरिकी खुफिया एजेंसियां पागलों की तरह ओसामा बिन लादेन की तलाश में जुट गईं.

    ये भी पढ़ें- Army Day स्पेशल: इस सीमा पर 51 साल से चीन ने नहीं चलाई एक भी गोली!

    10 साल बाद पता चला कि ओसामा बिन लादेन पाकिस्तान के एबटाबाद में छिपा बैठा है.  इसके बाद अमेरिका ने अपने सबसे बड़े दुश्मन को खत्म करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की खुफिया रणनीति बनाई.

    ये भी पढ़ें- 25 आतंकवादियों से अकेले ही भिड़ गए थे मेजर मोहित शर्मा

    अमेरिका के सबसे खतरनाक कमांडो कहे जाने वाले सील की टुकड़ी दो हेलीकॉप्टर में सवार होकर रात के अंधेरे में एबटाबाद पहुंची.  इसके बाद थोड़ी देर तक लादेन का मकान गोलियों और बमों की तड़तड़ाहट से थर्राता रहा.  गोलियों की आवाज़ तभी थमी जब अमेरिकी फौज ने लादेन को मार गिराया.  इसके बाद अमेरिकी कमांडो जैसे आए थे, वैसे ही लौट गए.

    ये भी पढ़ें- विदेशी सिपाही ‘वाकोस’ ने नक्सलियों की नाक में किया दम, अब तक 200 हमले किए नाकाम

    ये भी पढ़ें- सरकारी रिकॉर्ड में 'शहीद' नहीं होते सीआरपीएफ और बीएसएफ के जवान

    Tags: America, CRPF, Indian army, Jammu and kashmir, Kashmir news, Surgical strike by indian army in LOC, Terrorist

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर