क्यों ISIS पर बने सनसनीखेज पॉडकास्ट Caliphate पर अमेरिका में मचा बवाल?

कैलीफैट ऑडियो के लिए जिससे बात की गई, वो खुद को ISIS का पूर्व लड़ाका बताता था (Photo-news18 english creative)
कैलीफैट ऑडियो के लिए जिससे बात की गई, वो खुद को ISIS का पूर्व लड़ाका बताता था (Photo-news18 english creative)

न्यूयॉर्क टाइम्स की पत्रकार रुक्मिणी कैलीमाची (Rukmini Callimachi) ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (ISIS) पर पॉडकास्ट तैयार किया था. बेहद सनसनीखेज इस पॉडकास्ट की सच्चाई अब संदेह के घेरे में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 3:23 PM IST
  • Share this:
अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स (The New York Times) की सच्चाई इस समय सवालों के घेरे में है. असल में इसकी वजह उसकी रिपोर्टर रुक्मिणी कैलीमाची (Rukmini Callimachi) हैं, जिन्होंने आतंकी समूह ISIS के अंदर की बातों को ऑडियो डॉक्युमेंट्री की शक्ल में पेश किया और उसे कैलीफैट नाम दिया. रिपोर्टिंग इतनी जबर्दस्त थी कि रिपोर्टर और अखबार दोनों को ही कई सम्मान मिले. अब इसी डॉक्युमेंट्री की विश्वसनीयता पर सवाल उठा है.

किन लोगों से बना था ये पॉडकास्ट
असल में कैलीफैट ऑडियो के लिए जिस व्यक्ति से बात की गई, वो खुद को ISIS का पुराना लड़ाका बताता था. कनाडा के एक मिडिल क्लास परिवार से ताल्लुक रखने वाले इस कथित लड़ाके अबु हजीफा से बातचीत इस डॉक्युमेंट्री का सबसे अहम हिस्सा था. इसके अलावा भी मिडिल ईस्ट में आतंक देख चुके लोगों, रिपोर्टर, आम लोगों और ऐसे तमाम लोगों से बातचीत की गई थी, जो सीरिया या ईराक में आतंक के दौरान रहे थे.

ऐसे तमाम लोगों से बातचीत की गई थी, जो सीरिया या ईराक में आतंक के दौरान रहे- सांकेतिक फोटो

पूर्व आतंकी ने सुनाई अपनी कहानी 


ऑडियो को बिल्कुल किसी कहानी की तर्ज पर बनाया गया, जिसमें एक के बाद एक सिलसिलेवार बातें आती हैं. आईएस का पूर्व लड़ाका अबु खुद बताया है कि कैसे उसे आतंकियों ने अपना हिस्सा बनाया. किस तरह से उसकी सारी ट्रेनिंग हुई और कैसे उसने भी खून-खराबा किया.

ये भी पढ़ें: कहां से आया सेकुलर वर्ड, इसका क्या मतलब होता है?

कवर करने वाली पत्रकार को भाषा का ज्ञान था
पत्रकार रुक्मिणी कैलीमाची को ISIS के बारे में सबसे प्रामाणिक खबरें इकट्ठा करने वाला माना गया क्योंकि वे सीरिया की भाषा जानती थीं और कई बार वहां के आतंक प्रभावित इलाकों का दौरा कर वहां की जिंदगी को करीब से देखा था. साल 2018 में रिलीज हुई उनकी डॉक्युमेंट्री कैलीफैट सबसे ज्यादा सनसनीखेज और विश्वसनीय मानी गई.

रोमानिया की इस पत्रकार का नाम किसी हिंदुस्तानी नाम जैसा होने के पीछे बड़ी दिलचस्प कहानी है. असल में पत्रकार का परिवार भारतीय नर्तकी रुक्मिणी देवी अंरुदाले से जुड़ा हुआ था और उन्हीं के प्रभाव में बेटी का ये नाम रखा.

रुक्मिणी कैलीमाची को ISIS के बारे में सबसे प्रामाणिक खबरें इकट्ठा करने वाला माना गया (Photo-cnn)


खुद को कनाडा का आतंकी बताने वाला निकला पाकिस्तानी
अब इस मामले में नया ये है कि कैलीफैट के लिए जानकारी देने वाला मुख्य सोर्स ही संदेह के घेरे में है. असल में वो शख्स, जिसने रिपोर्टर से बात की थी, वो अपना नाम अबु हजीफा बताता था. लेकिन हाल ही में कनाडा पुलिस को इसी पहचान का एक शख्स मिला है लेकिन उसका असल नाम शहरोज चौधरी है. जांच में पाया गया कि शख्स कनाडा भी नहीं, बल्कि पाकिस्तानी मूल का है, जिसके पिता कनाडा में एक छोटी दुकान चलाते हैं.

मुस्लिमों के प्रति नफरत फैलाने का शक
शख्स को अब कनाडा के हॉक्स लॉ के तहत गिरफ्तार किया गया है कि उसने अपनी गलत पहचान बताते हुए लोगों का खून-खराबा करने की झूठी कहानी गढ़ी. इससे कनाडा में दहशत फैली हुई थी कि आम लोगों के बीच ही हत्यारे भी रह रहे हैं. इससे इस्लामोफोबिया को भी बढ़ावा मिला था.

ये भी पढ़ें: जानिए, लद्दाख में तैनात फायर एंड फ्यूरी कोर के जांबाज कौन हैं 

अब ये पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि ये शख्स आखिर कैसे न्यूयॉर्क टाइम्स की ख्यात रिपोर्टर के संपर्क में आया और किस तरह से ये ISIS में भर्ती और वहां से लौटने जैसी कहानी गढ़ी गई. या फिर क्या रिपोर्टर रुक्मणी का ऑडियो सही है और अब कोई घालमेल हो रहा है.

झूठ बोलने वाले शख्स को अब कनाडा के हॉक्स लॉ के तहत गिरफ्तार किया गया है- सांकेतिक फोटो


दूसरे अखबार भी हो गए हैं खिलाफ
जो भी हो, इस बवाल के बाद से पत्रकार के साथ-साथ अखबार की भी विश्वसनीयता संदेह के दायरे में आ गई है. अमेरिका के सारे बड़े मीडिया संस्थान न्यूयॉर्क टाइम्स के बारे में लिख रहे हैं कि कैसे आतंकियों से डर को उन्होंने ऐसी कहानी बनाकर पेश किया, जो मुस्लिमों से डराने लगे.

ये भी पढ़ें: टेक्सास से सांसद का चुनाव लड़ रहा वो भारतवंशी, जिसका RSS से है लिंक  

पॉडकास्ट का नामकरण कैसे हुआ 
वैसे इस बीच ये जानना भी जरूरी है कि जिस ऑडियो डॉक्युमेंट्री कैलीफैट पर इतना बवाल मचा, आखिर उसका मतलब क्या है. कैलीफैट, जिसे कलीफैट भी कहते हैं, उसका अर्थ है इस्लामिक स्टेट. यानी वो जगह, जहां इस्लामिक कायदे हों. इस जगह का खलीफा कलिफ कहलाता है, जो खुद को पूरे इस्लाम का लीडर मानता है. कुल मिलाकर ये शब्द दरअसल प्रॉफेट मुहम्मद के बाद उनके वंशजों की लीडरशिप के बारे में है. लेकिनअब इसके मायने थोड़े बदल गए हैं. इस शब्द को आतंकी संगठन ने भी अपने लीडर के लिए उपयोग करना शुरू कर दिया और इसी शब्द को अमेरिकी अखबार ने ISIS से जुड़ी अपनी डॉक्युमेंट्री का शीर्षक बना दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज