प्रिंस हैरी की पत्नी मेगन के केस में क्या खुद को दोहरा रहा है डायना का इतिहास?

प्रिंस हैरी ने मीगन के मामले में इतिहास के दोहराए जाने की आशंका जताई.

प्रिंस हैरी ने मीगन के मामले में इतिहास के दोहराए जाने की आशंका जताई.

मशहूर सेलिब्रिटी ओपरा विन्फ्रे (Oprah Winfrey) के साथ मन के खुलासे वाले इंटरव्यू (Tell-All Interview) के बाद ब्रिटेन के राज परिवार (British Royals) के प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन का रिश्ता चर्चा में है, जिसमें मीडिया की संदिग्ध भूमिका को लेकर बातें हो रही हैं.

  • Share this:
"शाही परिवार (Royal Family) में शामिल होने वाली महिलाओं के बारे में पहले पॉज़िटिव कहानियां दी जाती हैं. साल भर बाद लोगों की बोरियत के मद्देनज़र मीडिया (Media) इनके दोस्तों और पुराने रिश्तों को लेकर कुछ गंदा छापा जाता है, फिर सीधे तौर पर कीचड़ उछाला जाता है." एक ​पीआर विशेषज्ञ की यह टिप्पणी बहुत अहम है क्योंकि ब्रिटेन के राजकुमार हैरी (Prince Harry) अपनी पत्नी मेगन मर्केल (Princess Meghan Markle) को लेकर अंदेशा जता चुके हैं कि कहीं वह फिर न दोहराया जाए जो उनकी मां प्रिंसेस डायना (Princess Diana Death) के साथ घटा था.

शाही घरानों खासकर ​ब्रिटेन के मामले में इतिहास गवाह है कि टैबलॉयड प्रेस के साथ रिश्ते नाज़ुक और अहमियत वाले रहे. प्रिंसेस डायना की मौत रही हो या प्रिंस विलियम और केट मिडल्टन के बीच 2007 में अलगाव, प्रेस को ज़िम्मेदार माना जाता रहा है. दूसरी तरफ, सच यह भी है कि जितनी ज़रूरत प्रेस को राजघरानों की रही, उतनी ही घरानों को प्रेस की भी. लेकिन इससे खतरा कैसे पैदा होता है और हो रहा है?

ये भी पढ़ें : पश्चिम बंगाल चुनाव : मिथुन पर क्यों खेला BJP ने दांव, कैसे होगा फायदा?

हैरी और मेगन की कहानी में प्रेस
अमेरिका में टीवी अभिनेत्री के तौर पर पहचान बना चुकीं मेगन के साथ 2016 में जब हैरी का अफेयर शुरू हुआ तो प्रेस का रुख जिज्ञासा वाला रहा. 'व्हाइट' पिता और अफ्रीकी अमेरिकी मां की बेटी यानी मिश्रित नस्ल की मेगन को लेकर प्रेस राज परिवार की इमेज को लेकर ज़्यादातर पॉज़िटिव ही रही.

ओपरा विन्फ्रे के साथ साक्षात्कार में प्रिंस हैरी और मीगन.


2018 में दोनों की शादी की इतनी ज़बरदस्त पब्लिसिटी हुई कि 1 करोड़ से ज़्यादा लोगों ने टीवी पर यह सेरेमनी देखी तो हज़ारों सड़कों पर स्वागत के लिए आए. मेगन को प्रिंसेस डायना का अवतार कहा जाने लगा. नारीवादी, शानदार, ग्लैमर गर्ल और ब्रिटेन की उम्मीद कही जा रहीं मेगन को लेकर प्रेस का रवैया न तो लगातार ऐसा रहा और न ही प्रेस के हर खेमे में.



Youtube Video


ये भी पढ़ें : कोरोना वैक्सीन : पहले और टीका लेने के बाद ज़रूर रखें ये 7 एहतियात

प्रेस के एक खेमे में मेगन के खिलाफ काफी निगेटिव छापा गया. यहां तक कि नस्लभेदी टिप्पणियां तक हुईं, जिनके खिलाफ हैरी ने मुखर होकर प्रेस को 'निर्मम', 'नफ़रती' और 'ज़हरीला' करार दिया. जानकारों ने तब भी माना कि हैरी अपनी मां के साथ हुए हादसे को 12 साल की उम्र में देख चुके थे इसलिए घबराए हुए थे.

प्रेस की ज़्यादती के सबूत ये रहे कि जब केट ने रॉयल प्रोटोकॉल तोड़ा तो कहा गया कि वो अभी सीख रही हैं, लेकिन जब मेगन ने कार का दरवाज़ा खुद बंद किया तो इसमें कल्चर का मुद्दा खड़ा हो गया. यही नहीं, फेक न्यूज़ के साथ ही मेगन के खून, नस्ल, फेक तलाक और मानसिक स्वास्थ्य के बारे में बेहद खराब लिखा गया. नतीजा यह हुआ कि हैरी और मेगन ने प्रेस के एक खेमे का बॉयकॉट करने का ऐलान तक किया.

डायना और मीगन

तुलना शुरू से ही होती रही और कहा जाता रहा कि प्रिंसेस डायना मुखर थीं. वह बेझिझक अपनी आवाज़ बुलंद करती थीं. कोई उन्हें चुप कराए, उन्हें पसंद नहीं था. ये गुण मेगन में भी दिखे, बस वह गोरी नहीं हैं. लेकिन इसके अलावा कुछ और समानताएं प्रेस के बर्ताव को लेकर रहीं.

world news, british royal family, britain news, history of britain, ब्रिटिश राज परिवार, ब्रिटेन का इतिहास, ब्रिटेन न्यूज़, वर्ल्ड न्यूज़
प्रिंसेस मीगन की तुलना पहले भी प्रिंसेस डायना से की जाती रही. (Image: Eonline)


प्रेस ने पहले डायना को सिर आंखों पर बिठाया था और प्रिंस चार्ल्स से तलाक के बाद डायना के पीछे प्रेस इस तरह पड़ी थी कि डायना ने चिल्लाकर कहा था 'तुम लोगों ने मेरा जीना हराम कर दिया है'. मीडिया से ही बचने के चक्कर में डायना की मौत एक रोड एक्सीडेंट में हुई थी. एक्सीडेंट छोड़ दें तो मीडिया का बर्ताव मेगन के मामले में भी तकरीबन वैसा दिख चुका है.

ये भी पढ़ें : क्यों खास है चीन की वो बुलेट ट्रेन, जो भारतीय सीमा के बहुत पास तक चलेगी

दूसरी तरफ, डायना लोगों की राजकुमारी थीं. एड्स पीड़ित के साथ हाथ मिलाकर वह जनता की चहेती बनी थीं. लेकिन मेगन इस मामले में लोगों के मन के साथ जुड़ नहीं सकीं. यह अंतर दोनों के व्यक्तित्व को अलग बनाता है, लेकिन इसमें नस्लवाद तलाशना मीडिया के उसी खेमे का काम रहा. एक विशेषज्ञ के ये शब्द अहम हैं :

अलग नस्ल से आने पर किसी औरत खासकर पब्लिक लाइफ वाली शख्सियत के लिए बराबर नज़र बनी रहती है. फिर आप अश्वेत भी हैं तो और कड़ी निगाह होती है. इन महिलाओं से ऊंचे स्टैंडर्ड की उम्मीद ऐसी होती है कि ज़रा चूक बर्दाश्त नहीं. अश्वेत महिला को असाधारण होना ही पड़ता है.


क्या इतिहास दोहराया जा रहा है?

यह डर प्रिंस हैरी जता चुके हैं लेकिन इस तरह का दावा किया जाना जल्दबाज़ी होगी क्योंकि हालात और व्यक्तित्व दोनों ही अलग हैं. जानकारों का मानना है कि प्रेस को यह पसंद नहीं आया कि हैरी ने इतनी जल्दी चिढ़ जताते हुए प्रेस को दूर रहने की हिदायत और चेतावनी दी. प्रेस इसलिए भी खिलाफ रही कि लगातार हैरी और मेगन ने दूरी बनाए रखी.

ये भी पढ़ें : नंदीग्राम से चुनाव : ममता बनर्जी के बड़े फैसले के पीछे 5 बड़े प्लॉट

एक फैक्ट है कि मेगन ने हाल में विरोधी प्रेस खेमे यानी मेल ऑन संडे और मेल ऑनलाइन के ख़िलाफ़ कॉपीराइट का एक दावा जीता. दूसरा फैक्ट है कि जब हैरी और मेगन ने राजमहल छोड़कर अलग रहने का फैसला किया तो मीडिया के एक खेमे ने इस बारे में इस तरह से रिपोर्टिंग की कि मेगन की छवि और खराब हो.

world news, british royal family, britain news, history of britain, ब्रिटिश राज परिवार, ब्रिटेन का इतिहास, ब्रिटेन न्यूज़, वर्ल्ड न्यूज़
राजपरिवार की खबरें बिकती हैं इसलिए टैबलॉयड काफी कुछ छापते हैं. (Image: cdn.vox)


बहरहाल, इस सिलसिले के बीच हैरी के शब्दों में चिंता और तकलीफ ज़रूर है, जब वो कहते हैं 'मैं सोच भी नहीं पाता कि मां इस तरह के बर्ताव से कैसे गुज़री होंगी! हम दोनों के लिए यह कितना मुश्किल रहा, यह समझता हूं और शुक्र मनाता हूं कि कम से कम हम ऐसे समय में साथ तो रहे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज