अपना शहर चुनें

States

जब ट्विटर पर ट्रोलर्स को सुषमा स्वराज ने दिया संयमित जवाब

सुषमा स्वराज को कई बार ट्विटर पर ट्रोल किया गया
सुषमा स्वराज को कई बार ट्विटर पर ट्रोल किया गया

सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) सोशल मीडिया पर काफी पॉपुलर रहीं. खासकर विदेश मंत्री ( External Affairs Minister) के बतौर अपने मानवीय पहलू को जाहिर करने पर. हालांकि जैसा कि सोशल मीडिया पर होता है. कई बार वो ट्रोलर्स के निशाने पर भी आईं...

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 7, 2019, 12:37 PM IST
  • Share this:
सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेशमंत्री (External Affairs Minister) थीं. वो ट्विटर पर काफी सक्रिय रहा करती थीं. ट्विटर के जरिए वो देश की जनता, विदेश में रह रहे भारतीय, यहां तक की दूसरे देश के नागरिकों, जिसमें पाकिस्तान (Pakistan) की कुछ मशहूर शख्सियतों के साथ जुड़ी रहीं. वो विभिन्न देशों के प्रमुखों के साथ भी ट्विटर के जरिए जुड़ी रहीं.

उनकी इस काबिलयत को सोशल मीडिया में डिजिटल डिप्लोमेसी का नाम दिया गया. ये नई तकनीक के अनूठे प्रयोग के जरिए विभिन्न देशों और उनके अहम शख्सियतों के साथ संपर्क बनाए रखने की कूटनीतिक सफलता प्रदर्शित करती थी. वो सोशल मीडिया पर काफी पॉपुलर रहीं. खासकर बतौर विदेश मंत्री अपने मानवीय पहलू को जाहिर करने के लिए. हालांकि जैसा कि सोशल मीडिया पर होता है. कई बार वो ट्रोलर्स के निशाने पर भी आईं.

जून 2016 में एक ट्विटर यूजर ने विदेशमंत्री सुषमा स्वराज को टैग करते हुए अपने खराब रेफ्रीजरेटर को लेकर शिकायत की और मदद मांगी. सुषमा स्वराज ने बड़े स्वाभाविक लहजे में इसका भी जवाब देते हुए लिखा- 'भाई मैं रेफ्रिजरेटर के मामले में आपकी मदद नहीं कर सकती. मैं लोगों की परेशानी कम करने में लगी हूं.'



जब सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स के निशाने पर आईं सुषमा स्वराज
सोशल मीडिया पर पॉपुलर होने पर दूसरी तरह की कीमत भी चुकानी पड़ती है. यहां कोई भी कुछ ऊटपटांग बोलकर निकल जाता है. खासकर ये महिलाओं के साथ ज्यादा होता है. विदेशमंत्री रहने के दौरान 2018 में सुषमा स्वराज के साथ एक ऐसा ही वाकया हुआ था.

जून 2018 में लखनऊ की एक महिला तन्वी ने विदेशमंत्री सुषमा स्वराज से मदद मांगी. तन्वी ने एक मुस्लिम शख्स से शादी की थी. उसने आरोप लगाया कि जब वो अपना पासपोर्ट बनवाने लखनऊ के पासपोर्ट कार्यालय पहुंची तो एक अधिकारी ने उसे अपना नाम बदलने को कहा और अभद्रता से बात की.

when right wing twitter troll sushma swaraj
ट्विटर पर सुषमा स्वराज की डिजिटल डिप्लोमेसी लोकप्रिय रही


लखनऊ की तन्वी सेठ ने अनस सिद्दीकी से शादी की थी. तन्वी की शिकायत थी कि लखनऊ पासपोर्ट सेवा केंद्र के अधिकारी ने उसका पासपोर्ट बनाने से मना कर दिया था. अधिकारी का कहना था कि मुस्लिम से शादी होने के बाद नाम बदलना जरूरी है. इसके बिना पासपोर्ट नहीं बन सकता.

तन्वी सेठ ने इस पूरे वाकये को सुषमा स्वराज के साथ ट्विटर पर शेयर किया. उन्होंने लिखा, ‘मैं इंसाफ और आप पर भरोसा करते हुए बड़े दुख के साथ ये ट्वीट कर रही हूं. लखनऊ के पासपोर्ट ऑफिस में एक अधिकारी विकास मिश्रा ने मेरे साथ जिस तरह का व्यवहार किया, उससे मैं काफ़ी आहत हूं.’

तन्वी ने आगे लिखा, मैंने एक मुस्लिम से शादी की है और अपना नाम नहीं बदला है. इस पर पासपोर्ट अधिकारी ने मेरे साथ काफी अभद्रता से बात की. उन्होंने ऊंची आवाज में बात की जिससे आसपास के सभी लोगों ने इस बातचीत को सुना. मैंने इतना अपमानित पहले कभी महसूस नहीं किया.’

हिंदू कट्टरपंथियों ने सुषमा स्वराज पर किए भद्दे कमेंट
तन्वी सेठ के इस ट्वीट के बाद विदेश मंत्रालय हरकत में आ गया. पासपोर्ट कार्यालय विदेश मंत्रालय के तहत ही आता है. तन्वी की शिकायत पर लखनऊ के क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय से रिपोर्ट मांगी गई. मीडिया में ये खबर काफी उछली. जिसके बाद विदेश मंत्रालय ने तन्वी के साथ कथित तौर से बदसलूकी करने वाले अधिकारी का ट्रांसफर कर दिया.

विदेश मंत्रालय की इस तुरत फुरत कार्रवाई पर कुछ हिंदू कट्टरपंथी नाराज हो गए. सुषमा स्वराज को ट्विटर पर भला-बुरा कहा जाने लगा. हिंदू कट्टरपंथियों ने सुषमा स्वराज के लिए भद्दी भाषा का इस्तेमाल किया. उन्हें विदेश मंत्री के पद से हटाने की मांग तक कर दी गई.

ट्विटर पर विदेशमंत्री का मानवीय पहलू भी दिखा


ट्रोलर्स ने ट्विटर पर सुषमा स्वराज को लेकर कई तरह के मीम बनाए. यहां तक की उनकी बीमारी को लेकर भद्दे कमेंट किए गए. उन पर निजी हमले हुए. हालांकि सुषमा स्वराज ने बिना आपा खोए हुए इनका जवाब दिया. सुषमा ने लिखा, ‘मैं 17 से 23 जून 2018 के बीच भारत से बाहर थी. मैं नहीं जानती कि मेरी गैरहाजिरी में क्या हुआ. हालांकि, मुझे कुछ ट्वीट से सम्मानित किया गया है. मैं इसे आपके साथ साझा कर रही हूं.' सुषमा स्वराज ने अपने ऊपर की गई कुछ अभद्र टिप्पणियों को शेयर किया था.

अपनी सेहत की वजह से सुषमा स्वराज ने 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया था. इस पर उनके पति स्वराज कौशल ने ट्विटर पर लिखा था- ‘मैडम आपके इस फैसले के लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद. मुझे याद है एक वक्त ऐसा भी आया था, जब मिल्खा सिंह ने दौड़ना छोड़ दिया था.’ सुषमा स्वराज के एक फैन ने उनकी तारीफ करते हुए ट्विटर पर लिखा- ‘वो कमाल की इंसान हैं.’ इस पर स्वराज कौशल ने जवाब दिया था- ‘मैं जानता हूं, इसी वजह से मैंने उनसे शादी की.’

ये भी पढ़ें: 3 हफ्ते में दिल्ली की दो महिला मुख्यमंत्रियों का निधन, जानें कितना कुछ कॉमन था दोनों के बीच

10 वाकये, जब ट्विटर बना सुषमा का दफ्तर और फाइलों जैसे चले ट्वीट

जब सुषमा के लिए उज़्बेकी महिला ने गाया था 'इचक दाना बीचक दाना...' देखें Video
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज