जानिए कहां जमा होता है ट्रैफिक चालान का पैसा, अब तक कितने की हुई 'वसूली'

News18Hindi
Updated: September 11, 2019, 3:27 PM IST
जानिए कहां जमा होता है ट्रैफिक चालान का पैसा, अब तक कितने की हुई 'वसूली'
नया एक्ट लागू होने के बाद ट्रैफिक पुलिस भारीभरकम जुर्माना वसूल रही है

नया मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद खूब जुर्माना (traffic fine) वसूला जा रहा है. लेकिन सवाल है कि इस जुर्माने से किसको फायदा हो रहा है और अब तक कितना जुर्माना वसूला जा चुका है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2019, 3:27 PM IST
  • Share this:
नया मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद ट्रैफिक नियमों (traffic rules) के उल्लंघन पर भारीभरकम जुर्माना (fine) लगाया जा रहा है. जुर्माने के रोज नए रिकॉर्ड बन रहे हैं. खासकर दिल्ली, हरियाणा के शहरों और बेंगलुरु में ट्रैफिक पुलिस लाखों रुपए के जुर्माना वसूल रही है.

ट्रैफिक के नए नियम कायदों के बीच कुछ सवालों के जवाब जानना दिलचस्प होगा. मसलन ट्रैफिक पुलिस (traffic police) के भारीभरकम जुर्माना वसूलने से किसको फायदा हो रहा है? चालान की रकम कहां जमा की जाती है? नए ट्रैफिक कानून के लागू होने के बाद चलान के जरिए कहां और कितनी वसूली हुई?

सबसे पहले बात की नए कानून में ट्रैफिक पुलिस के भारीभरकम जुर्माने का भले ही कई राज्य राजनीतिक विरोध कर रहे हैं और अपने यहां से लागू करने से मना कर रहे हैं. लेकिन हकीकत ये है कि इससे राज्य सरकारों को ही फायदा होता है. जुर्माने की रकम राज्य सरकार के खजाने में जमा होती है.

राज्य सरकार के खजाने में जमा होती है चालान की रकम

ट्रैफिक पुलिस चालान से वसूली गई रकम राज्य सरकार की ट्रेजरी में जमा करती है. मसलन अगर बेंगलुरु में किसी का ट्रैफिक चालान कटता है तो चालान की रकम कर्नाटक सरकार के खजाने में जमा होगी.

1 सितंबर से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हुआ है. हालांकि कई राज्यों ने इसे अब तक लागू नहीं किया है और कई राज्यों ने 1 तारीख से बाद लागू किया. कर्नाटक में ये 2 दिन बाद लागू हुआ. सिर्फ बेंगलुरु में ही नया कानून लागू होने के एक हफ्ते के भीतर ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन के 6,813 मामले दर्ज हुए.

where traffic fines collected total collection of challan after imposing new motor vehicle act
हरियाणा और ओडिशा ने जुर्माने से की बंपर कमाई

Loading...

बेंगलुरु की ट्रैफिक पुलिस ने एक हफ्ते के भीतर कुल 72 लाख 49 हजार 900 रुपए की रकम जुर्माने के तौर पर वसूले. बेंगलुरु में सबसे ज्यादा हेलेमेट नहीं होने पर, सीट बेल्ट नहीं बांधने पर, वन-वे लेन में ड्राइव करने पर और बाइक में पीछे बैठी सवारी पर चालान काटे गए.

हरियाणा और ओडिशा ने चालान से की बंपर कमाई

हरियाणा और ओडिशा ने नए एक्ट को अपने यहां लागू किया. इनदोनों राज्यों की ट्रैफिक पुलिस ने पहले चार दिनों मे ही बंपर जुर्माना वसूल किया. पहले 4 दिनों में दोनों राज्यों ने मिलकर 1.41 करोड़ रुपए के चालान काटे. ओडिशा के मोटर व्हीकल डिपार्टमेंट के आंकड़ों के मुताबिक पहले चार दिन में ओडिशा की ट्रैफिक पुलिस ने 4,080 चालान काटे. पुलिस ने कुल 88.90 लाख जुर्माने की रकम वसूल की. इसके साथ ही करीब 46 वाहनों को जब्त किया.

हरियाणा में नया एक्ट लागू होने के पहले चार दिनों में ट्रैफिक पुलिस ने 343 चालान काटे. इनके जरिए पुलिस ने कुल 52.32 लाख रुपए वसूले. सिर्फ गुरूग्राम से 10 लाख रुपए जुर्माने के बतौर वसूले गए. गुरूग्राम में एक ऑटो वाले का 94 हजार का चालान कटा. ऑटो ड्राइवर के पास गाड़ी के कागजात नहीं थे.

where traffic fines collected total collection of challan after imposing new motor vehicle act
गुरुग्राम की पुलिस ने वसूला है भारीभरकम जुर्माना


गुरूग्राम में ट्रैफिक पुलिस ने वसूला खूब जुर्माना

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्विटर पर इसकी जानकारी शेयर करते हुए ट्वीट किया था. गुरूग्राम में ही एक ट्रैक्टर वाले का 59 हजार का चालान कटा. गुरुग्राम में ही एक स्कूटी वाले का 23 हजार का चालान कटा. जबकि स्कूटी वाले का कहना था कि उसके स्कूटी की कीमत ही महज 15 हजार है.

दिल्ली में पहले ही दिन 3,900 चालान काटे गए. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नए एक्ट का विरोध किया था. लेकिन नए एक्ट के कुछ प्रावधानों को लागू करने से रोकने में असमर्थता जाहिर की थी.

ये भी पढ़ें: हजारों रुपए के मोटे चालान से बचना है तो ये कागजात जरूर रखें
9/11 के बाद अमेरिका में क्यों ज्यादा पैदा होने लगे थे बच्चे?
9/11 हमले के गम में बढ़ गई थी अमेरिका में शराब की खपत
क्या सच में पाकिस्तान में हिंदू नेताओं की दुर्गति हो रही है?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 3:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...