जानिए, IPS मोहिता शर्मा को, जो KBC 12 की दूसरी करोड़पति बनीं

कौन बनेगा करोड़पति के 12वें सीजन में मोहिता शर्मा दूसरी करोड़पति रहीं
कौन बनेगा करोड़पति के 12वें सीजन में मोहिता शर्मा दूसरी करोड़पति रहीं

साल 2017 बैच की IPS मोहिता शर्मा (Mohita Sharma) जम्मू-कश्मीर में असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस के पद पर तैनात हैं. दो थानों की इंचार्ज ये अफसर वहां शांति-अमन बनाए रखने के लिए काम करती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 12:35 PM IST
  • Share this:
कौन बनेगा करोड़पति (Kaun Banega Crorepati) के 12वें सीजन में मोहिता शर्मा (Mohita Sharma) दूसरी करोड़पति रहीं. कुछ रोज पहले ही कम्युनिकेशन्स अफसर नाजिया नसीम पहली करोड़पति बनी थीं. अब मोहिता शर्मा सीजन का दूसरा बड़ा नाम हैं. वे आईपीएस अधिकारी हैं और फिलहाल जम्मू-कश्मीर में तैनात हैं. जानिए, मोहिता के बारे में और भी बड़ी-छोटी बातें.

लगभग 30 साल की मोहिता हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा से हैं, लेकिन फिलहाल काम के सिलसिले में जम्मू-कश्मीर में पोस्टेड हैं. वे वहां सांबा के असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस के बतौर तैनात हैं. बेहद चुनौतीपूर्ण हालातों वाली इस जगह पर मोहिता का काम शांति-व्यवस्था बनाए रखना है. इसके लिए उन्हें दो थाने दिए गए हैं.

कौन बनेगा करोड़पति के 12वें सीजन में होस्ट अमिताभ बच्चन




साल 2017 बैच की ये आईपीएस अधिकारी काफी उत्साह से अपनी जिम्मेदारियां निभा रही हैं. उनका ये जोश कौन बनेगा करोड़पति के इस एपिसोड के प्रोमो में भी दिखता है, जब उनसे एक करोड़ का सवाल पूछा जाता है. मोहिता ने इंडियन फॉरेस्ट सर्विस के अफसर रुशल गर्ग से शादी की है, जो जम्मू-कश्मीर कैडर से ही आते हैं. वैसे वे मूल तौर पर चंडीगढ़ से हैं.



फिलहाल मोहिता शर्मा के हॉट सीट पर बैठ सवालों के जवाब देने का एपिसोड प्रसारित होना बाकी है. इसका प्रोमो सोनी टीवी ने सोशल मीडिया पर शेयर किया, जिसमें अमिताभ बच्चन और मोहिता शर्मा आमने-सामने बैठे दिखते हैं. अमिताभ अपने चिर-परिचित अंदाज में कहते हैं- ये सवाल है 1 करोड़ रुपए का. बहुत होशियारी के साथ खेलिएगा.

ये भी पढ़ें: आप जो मास्क पहनते हैं, उससे हो सकती है एलर्जी, कैसे पाएं इससे निजात?

इसपर मोहिता बेहिचक कहती हैं- चाहे जो मर्जी धनराशि जीत के जाऊं, पर रात को जब सोऊं तो ये लगे कि बढ़िया खेल के गई. मोहिता इस सवाल का सही जवाब देती हैं और 1 करोड़ रुपए जीत जाती हैं. ये एपिसोड आज मंगलवार 17 नवंबर को टीवी पर आएगा.

वैसे आईपीएस अधिकारी मोहिता के केबीसी में आने के साथ ये चर्चा भी हो रही है कि क्या सरकारी कमर्चारी इस खेल में भाग ले सकते हैं. और अगर हां तो इसकी प्रक्रिया क्या होगी. तो आपको बताते हैं कि ऐसा मुमकिन है.

ये भी पढ़ें: किम जोंग के सैन्य खजाने में ऐसा क्या है, जिससे अमेरिका भी घबराता है? 

केबीसी में पहले भी कई सरकारी कर्मचारी हिस्सा ले चुके हैं. इसके लिए वे दूसरे लोगों की तरह ही प्रक्रिया से गुजरते हैं. यानी इसके लिए पहले उन्हें रजिस्ट्रेशन के दौरान पूछे गए सभी सवालों के SMS के जरिए जवाब देने होते हैं और उस राउंड में चुने जाने के बाद उन्हें ऑडिशन के लिए बुलाया जाता है. इसके बाद एक और राउंड होता है, जिसमें पास होने के बाद अमिताभ के सामने हॉट सीट पर बैठने का मौका मिलता है.

सरकारी कर्मचारी किस विभाग में काम करते हैं, इसपर भी तय होता है कि वे केबीसी में जा सकते हैं या नहीं- सांकेतिक फोटो


हालांकि सरकारी कर्मचारी किस विभाग में काम करते हैं, इसपर भी तय होता है कि वे केबीसी में जा सकते हैं या नहीं. मिसाल के तौर पर रक्षा या खुफिया सूचना से जुड़े विभागों के लोग जाहिर तौर पर इसका हिस्सा नहीं बन सकते.

ये भी पढ़ें: क्या परमाणु-हमला करने वाली पनडुब्बियों के मामले में भारत आत्मनिर्भर नहीं है? 

इसके अलावा किसी भी सरकारी कर्मचारी को केबीसी में जाने से पहले अपने विभाग से अनुमति लेनी होती है और क्लीयरेंस मिलने के बाद ही वे प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं. ऐसा न करने पर विभागीय कार्रवाई हो सकती है. एक मामले में ऐसा हो भी चुका है. अनुराधा अग्रवाल नाम की छत्तीसगढ़ की ट्रेनी डिप्टी कलेक्टर केबीसी के 9वें सीजन के लिए चुनी गई थीं. भोपाल में उनका ऑडिशन भी हो गया और शूटिंग के लिए उन्हें मुंबई बुलाया गया. इस दौरान अनुराधा के साथ कई निजी हादसे हुए. उनकी मां का देहांत हो गया. जैसे-तैसे हिम्मत बटोरकर वे हॉट सीट तक पहुंची लेकिन पता चला कि उनका कलेक्टर का ऐप्लिकेशन रद्द कर दिया गया है क्योंकि उन्होंने बिना इजाजत के एक टीवी कार्यक्रम में भाग लिया. तब अनुराधा ने केबीसी में लगभग 15 लाख रुपए जीते थे और वापस लौट गई थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज