लाइव टीवी

कौन हैं मार्क ट्वेन और उनकी बेबाक बातें, जिसे सोनम कपूर ने किया यूं ट्वीट

News18Hindi
Updated: April 6, 2020, 6:46 PM IST
कौन हैं मार्क ट्वेन और उनकी बेबाक बातें, जिसे सोनम कपूर ने किया यूं ट्वीट
सोनम कपूर ने किया मार्क ट्वेन को कोट कर ये ट्वीट

बॉलीवुड कपूर सोनम कपूर (bollywood actress sonam kapoor)का एक कोट आज ट्विटर पर खासा ट्रेंड हो रहा है. दरअसल उन्होंने प्रसिद्ध विचारक और लेखक मार्क ट्वेन की एक बात को इसमें कोट किया है. कौन थे ये मार्क ट्वेन, जिन्हें सोनम ने कोट किया.

  • Share this:
बॉलीवुड एक्ट्रैस सोनम कपूर (bollywood actress sonam kapoor )ने एक ट्विट (Twitt) किया. ये ट्विट में उन्होंने प्रसिद्ध अमेरिकी विचार और लेखक मार्क ट्वेन (Mark Twain) को कोट किया. ट्वीट में कहा है, कभी भी बेवकूफ लोगों के साथ बहस न करें, वे आपको अपने स्तर तक खींच लेंगे और फिर आपको अपने अनुभव से हरा देंगे.

बस इसके बाद मार्क ट्वेन ट्रेंड करने लगे. दरअसल मार्क ट्वेन ने अपनी जिंदगी में तमाम ऐसी बातें लिखीं और कहीं, जो चुटीली भी हैं और हर मौके पर प्रासंगिक भी. वैसे जिस बात को सोनम कपूर ने ट्विट किया है. उसे अक्सर लोग कहते मिल जाते हैं.

हम आपको पहले तो ट्वेन के ऐसे ही कई चर्चित वचनों के बारे में बताते हैं। फिर बताते हैं कि वो कौन थे. कैसे इतने फेमस हो गए कि पूरी दुनिया तकरीबन रोज ही हजारों बार उन्हें कोट करके कुछ ना कुछ कहती रहती है.



मार्क ट्वेन के चर्चित वचन



मार्क ट्वेन एक लाइन में ऐसी बातें कह जाते थे, जो सुनने फनी बेशक लगें लेकिन उनके अर्थ बड़े गंभीर होते थे. इसके जरिए वो तीखा कटाक्ष भी करते थे.


- अगर आप सच कहोगे तो आपको कुछ भी याद रखने की जरुरत नहीं पड़ेगी.


- जीवन में सफल होने के लिए, आपको दो चीजों की आवश्यकता है: अनभिज्ञता और आत्मविश्वास.


- साहस डर का प्रतिरोध, डर पर महारथ हासिल करना है- डर की अनुपस्थिति नहीं है.


- मृत्यु का भय जीवन के भय से शुरू होता है.वही आदमी पूरी तरह से जीता है, जो हर समय मरने के लिए तैयार हो.




मार्क ट्वेन यूं तो अमेरिका के महान लेखक थे लेकिन लोग उन्हें उनके वन लाइनर चुटीली बातों के लिए ज्यादा जानते हैं. उनका खूब इस्तेमाल भी होता है

- पहले अपने तथ्यों को प्राप्त करें, फिर आप उन्हें अपनी ख़ुशी से तोड़ मरोड़ सकते हैं.


- दयालुता वह भाषा है जिसे बहरे सुन सकते हैं और अंधे देख सकते हैं.


- धन की कमी सभी बुराई की जड़ है


- किसी व्यक्ति के चरित्र को उन विशेषणों से सीखा जा सकता है जो वह आदतन बातचीत में उपयोग करता है.


- बोलकर सारा संदेह खत्म करने से अच्छा है कि चुप रह कर बेवकूफ समझा जाए.


- हर कोई एक चाँद है और उनकी एक साइड ऐसी होती है जो वह कभी किसी को नहीं दिखाता.
- आज का काम कल पर मत छोड़ो, क्या पता वो परसो भी किया जा सकता हो।


ट्वेन ने अपने जीवन में न जाने कितनी ही इस तरह की बातें की हैं. वो हर समय काल और हर परिस्थिति में फिट बैठती हैं. अगर उन पर अमल करें तो बड़े काम की भी हैं.




मार्क ट्वेन विनोदी स्वाभाव के थे लेकिन उन्होंने ऐसी बातें कहीं हैं, जो समयकाल से परे जाकर आज भी तमाम स्थितियों और माहौल के लिहाज से फिट बैठती हैं

कौन थे मार्क ट्वेन
मेरिकन लेखक मार्क ट्वेन अमेरिका के हिट लेखक थे. उनकी किताबें तो मशहूर थी हीं. वो खुद भी अपनी बेबाक बातों के लिए जाने जाते थे. उनका पूरा नाम शमुएल लैंगहोर्न क्लेमेंस था.. उनका जन्म 30 नवंबर 1835 में हुआ. उन्होंने अपने जीवन में कई काम किया. शुरू में वो प्रिटिंग प्रेस में काम करते थे. फिर इसको छोड़कर वो स्टीमबोट पर पायलट का काम करने लगे.


अमेरिका के बड़े लेखक बनकर उभरे
बाद में उन्होंने खुद अपने को मार्क ट्वेन नाम दिया.उनके उपन्यास विनोदी हुआ करते थे. उनके नॉवेल समय के साथ बहुत लोकप्रिय होते चले गए. उसी के साथ ट्वेन अमेरिका में बड़े लेखक बनकर उभरे. उनके दो नॉवेल तो विश्व प्रसिद्ध हुए, ये थे - टॉम सॉयर के एडवेंचर्स और हुकलेबरी फिन के एडवेंचर्स.यहां तक अर्नस्ट हेमिंग्वे जैसा लेखक भी उनका लोहा मानता था और तारीफ करता था.


ये भी पढ़ें
दस्ताने पहनने के बावजूद कैसे तेज़ी से फैल सकते हैं जर्म्स?
कपड़ों पर सर्वाइव करता है कोरोना वायरस? बाज़ार से लौटें तो बरतें ये सावधानियां
क्या इस देश में बैन है 'कोरोना वायरस' शब्द बोलना? बोला तो गिरफ्तारी?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 5:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading