लाइव टीवी

चीन ने क्यों कहा-भारत पहले ही जीत लेगा कोरोना के खिलाफ लड़ाई

News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 4:01 PM IST
चीन ने क्यों कहा-भारत पहले ही जीत लेगा कोरोना के खिलाफ लड़ाई
चीन क्या सोचता है भारत में कोरोना के बारे में. (File Photo)

घातक कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी. चीन ने इस पर काबू पा लिया है. अब जबकि भारत में कोरोना का प्रकोप फैल रहा है तो चीन इस बारे में भारत के बारे में क्या कह रहा है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 4:01 PM IST
  • Share this:
जब चीन (China) कोरोना वायरस (Covid-19) से जूझ रहा था तब भारत ने उसे बड़े पैमाने पर मेडिकल उपकरण और सहायता भेजी थी. चूंकि चीन पहला देश था, जिसने इस खतरे का मजबूती से सामना किया और अपने फैसलों से इसे काबू में भी कर लिया. अब कोरोना वायरस पूरी दुनिया में प्रकोप मचा रहा है. भारत में भी उसके 600 से ज्यादा मरीज हैं. भारत इस गंभीर महामारी से निपटने के लिए जो कड़े कदम उठा रहा है, उसकी चीन ने तारीफ की. उसे ये भी लगता है कि भारत ने कोरोना से निपटने के लिए जो कदम उठाए हैं. उसका कहना है कि भारत इस लड़ाई को समय से पहले ही जीत लेगा.

कोरोना वायरस से निपटने में भारत की कोशिशों को एक बड़ा समर्थक मिल गया है. चीन ने भारत में कोरोना की वजह से घोषित 21 दिनों के लाकडाउन और अन्य कोशिशों पर तारीफ की है. आइए जानते हैं कि चीन ने क्या कहा और भारत ने चीन को कितनी मदद की थी.

चीन की ओर से ये तारीफ किसने की है?
-चीन लगातार भारत की कोरोना वायरस की स्थिति पर नजर रखे है. दिल्ली में उसके दूतावास की प्रवक्ता जी रोंग ने अपने देश की ओर से भारत की कोशिशों की तारीफ की है. उसका कहना है कि भारत और चीन लगातार संपर्क में हैं और एक दूसरे को सहयोग कर रहे हैं.



चीन से भारत को किस तरह मदद मिल रही है?
चीन का कहना है कि चीन के उद्योग समूहों ने भारत को कोरोना से निपटने के लिए डोनेशन देना शुरू कर दिया है. हम भारत को यथासंभव हर तरीके का सहयोग देंगे. चीन ने 19 यूरोपीय और एशियाई देशों को इस मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग की है, जिसमें भारत भी शामिल है.
चीनी स्टेट काउंसिलर और विदेश मंत्री वांग यी ने हाल में भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर के साथ फोन पर बातचीत में कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी जनता के कोविड-19 के साथ मुकाबले के नाजुक वक्त में राष्ट्रपति शी चिनफिंग को पत्र लिखकर संवेदना व्यक्त की थी. हम इसके आभारी हैं.

चीन में कोरोना ने क्या असर डाला था
चीन में जनवरी 2020 से कोरोना वायरस की बीमारी शुरू हुई. इसके बाद वहां 81000 के आसपास लोग इससे संक्रमित हुए जबकि 3200 की मौत हो गई. कोरोना के इस घातक वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी. चीन फरवरी खत्म होते होते इस बीमारी पर काबू पाने लगा था.

भारत ने करीब 15 टन मेडिकल मदद चीन को भेजी थी, जिसमें मास्क, दस्ताने और अन्य आपात मेडिकल उपकरण शामिल थे


भारत ने चीन की क्या मदद की थी?
-भारत ने करीब 15 टन मेडिकल मदद चीन को भेजी थी, जिसमें मास्क, दस्ताने और अन्य आपात मेडिकल उपकरण शामिल थे ताकि चीन वुहान में कोरोना से निपट सके. चीन ने इसका आभार माना है.

चीन पर आऱोप लग रहे हैं कि कोरोना उसने पैदा किया, क्या भारत ने इस पर कुछ कहा है?
चाइना इंटरनेशनल रेडियो की वेबसाइट में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर ने साफ कहा है कि भारत वायरस को लेबलिंग करने का विरोध करता है.

भारत के कोरोना के बारे में क्या सोचता है चीन ?
चीन का कहना है कि भारत समय से पहले ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीत जाएगा. चीन ने कहा है कि वो भारत के साथ है. चीन को लगता है कि भारत ने जो कदम अब तक उठाए हैं, वो सही हैं. दरअसल भारत कोरोना वायरस से निपटने के लिए आमतौर पर वही कर रहा है, जो चीन ने किया था. इसके चलते चीन ने कोरोना की बड़ी समस्या को फरवरी के आखिर तक करीब करीब काबू में कर लिया था.  वैसे वर्ल्ड हेल्थ आर्गनाइजेशन (WHO) ने भी भारत की कोशिशों की तारीफ की है.

ये भी पढ़ें
कोरोना : जानें क्या है संक्रमण का एकदम शुरूआती लक्षण, जिसका दावा कर रहे हैं डॉक्टर
न्यूयार्क में क्यों बुलेट ट्रेन सरीखी स्पीड से बढ़ रहा है कोरोना?
कोरोना वायरस पर सियासत : क्या चीन अपनी गलतियों से पल्ला झाड़ रहा है?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 4:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर