• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • #StatueOfUnity: गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने पीएम मोदी को क्यों गिफ्ट किया हथौड़ा?

#StatueOfUnity: गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने पीएम मोदी को क्यों गिफ्ट किया हथौड़ा?

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के अनावरण के मौके पर गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने पीएम मोदी को हथौड़ा भेंट किया

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के अनावरण के मौके पर गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने पीएम मोदी को हथौड़ा भेंट किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुजरात में सरदार पटेल की प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का अनावरण किया. इस मौके पर गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने उन्हें हथौड़ा भेंट किया.

  • Share this:
    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुजरात में सरदार पटेल की प्रतिमा 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' का अनावरण किया. यह अभी तक निर्मित दुनियाभर की प्रतिमाओं में सबसे ऊंची है. प्रतिमा के अनावरण के मौके पर गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने पीएम को हथौड़ा भेंट किया. इस बात ने लोगों का ध्यान खींचा. वैसे तो सरदार पटेल की इस प्रतिमा का निर्माण नोएडा के शिल्पकार पद्मभूषण राम वी सुतार ने किया है लेकिन इसके असली शिल्पी पीएम ही हैं. उन्होंने ही इस मूर्ति की कल्पना की थी.

    वैसे पीएम की कल्पना को मूर्ति रूप देने वाले सुतार ने अपने 40 साल के करियर में 50 से अधिक प्रतिमाओं को आकार दिया है. बताया जाता है कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि प्रतिमा में पटेल का चेहरा वैसा ही दिखे जैसे वे असल में दिखते थे सुतार ने उनकी 2000 से अधिक तस्वीरों का अध्ययन किया. सुतार ने उन इतिहासकारों से भी संपर्क किया जिन्होंने पटेल को देखा था. प्रतिमा के अनावरण से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जयंती पर कोटि-कोटि नमन."

    क्यों हथौड़ा है खास?
    1. प्रधानमंत्री को हथौड़ा देने का सीधा मतलब उनका इस स्टैच्यू का वास्तविक शिल्पी होना है क्योंकि उन्हीं के प्रयासों से यह इतनी जल्दी हो सका.

    2. हथौड़ा सबसे पुराने हथियारों में से एक है. हथौड़े के प्रयोग के साक्ष्य 33 लाख साल पहले से मिलते हैं. ये दावा सोनिया हर्मंड और जेसन लेविस ने 2012 में किया था. केन्या की तुर्काना झील के पास खुदाई के दौरान उन्हें लकड़ी, हड्डियों और दूसरे पत्थरों का एक बहुत बड़ा जखीरा मिला था.

    3. वैसे सबसे पहले जो हथौड़े मिलते हैं, उनमें हत्था नहीं है. हथौड़े में हत्थे का प्रयोग ईसा से 30 हज़ार साल पहले ही शुरू हो सका. इसके बाद हथौड़ा उस आकार में आ चुका था, जिसमें हम उसे आज देखते हैं.

    4. सबसे पहले पत्थरों और लकड़ी के हथौड़े बनाए गए. बाद में जब इंसान को धातुओं के बारे में पता चला तो उसने धातु के हथौड़े बनाने शुरू किए.

    5. मध्यकाल में हथौड़ा युद्ध का एक महत्वपूर्ण हथियार हुआ करता था.

    6. यह इंसानों के सबसे ज्यादा प्रयोग में आने वाले हथियारों में से एक है. हथौड़ा इंसान की कई पहली खोजों का साथी रहा है. महत्वपूर्ण धातुओं की खुदाई में भी इसका प्रयोग किया जाता था. पत्थर तोड़ने के काम भी यह आता था. शुरूआत में पत्थरों का घर बनाने आदि में इंसान प्रयोग किया करता था.

    7. हथौड़े का शुरुआती सोशलिज्म और कम्युनिज्म (साम्यवाद) से गहरा जुड़ाव रहा है. हथौड़ा और हसिया दुनियाभर में वामपंथ की पहचान के प्रतीक हैं. यह पूर्व में सोवियत यूनियन का प्रतीक भी हुआ करता था.
    इसे 'सर्वहारा की एकता' का निशान माना जाता है.

    यह भी पढ़ें: खतरनाक भूकंप के झटके भी झेल सकती है 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी', 10 बड़ी बातें

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज