लाइव टीवी

क्या अब एसी शुरू करने के बाद तापमान 24 डिग्री से कम नहीं कर सकते

News18Hindi
Updated: January 8, 2020, 3:36 PM IST
क्या अब एसी शुरू करने के बाद तापमान 24 डिग्री से कम नहीं कर सकते
एसी का डिफॉल्ट तापमान क्या होगा

सरकार ने तय किया है कि अब से एयर कंडीशनर की डिफॉल्ट सेटिंग 24 डिग्री पर हो जाएगी. जब आप एसी खोलेंगे तो वो इसी तापमान पर चालू होगा. आखिर सरकार क्यों ये कदम उठाने जा रही है

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2020, 3:36 PM IST
  • Share this:
सरकार ने एक फैसला किया है. ऊर्जा मंत्रालय ने एयर कंडीशनर में डिफॉल्ट तापमान 24 डिग्री पर तय कर दिया है. इससे तमाम सवाल ये उठ रहे हैं कि क्या इसका मतलब ये है कि हम अपने एसी को 24 डिग्री से नीचे नहीं ले जा सकते हैं.
अब आप जब भी बाजार में नया एसी खरीदने जाएंगे तो आप जो भी नया एयर कंडीशनर खरीदेंगे, उसमें आपको उसका डिफाल्ट टैम्परेचर 24 डिग्री पर ही सेट मिलेगा. भारत ने बदला एयर कंडीशनर के लिए तापमान सेटिंग का नियम
गर्मियों में जब आप नया एसी खरीदने जाएंगे तो आपको 24 डिग्री पर चलने वाले एसी ही मिलेंगे. ऊर्जा मंत्रालय ने एयर कंडीशनर में डिफॉल्ट तापमान 24 डिग्री तय कर दिया है. एसी शुरू होने के बाद तापमान को कम ज्यादा किया जा सकेगा.
सरकार का दावा है कि तापमान की डिफॉल्ट सेंटिंग 24 डिग्री पर एसी चलने से सालाना 4000 रुपये की बिजली की बचत संभव है. तो क्या इसका मतलब ये है कि अभी तक आप अपने एसी का तापमान जबरदस्त गर्मी में 16 तक ले जाते थे, वो क्या नहीं कर सकेंगे. ऐसे सवाल बहुत सारे लोगों के जेहन में उठ रहे होंगे लेकिन ऐसा नहीं है बल्कि ये मुमकिन है कि आप एसी शुरू करने के बाद मनमाफिक तरीके से इसके तापमान को ऊपर या नीचे ले जा सकेंगे.

डिफॉल्ट सेटिंग 24 डिग्री हो जाएगी अब 
ऊर्जा मंत्रालय के नोटिफिकेशन के मुताबिक नए साल में नई सेटिंग के साथ ही रूम एयर कंडीशनर बनेंगे. सभी ब्रांडों के स्टार रेटिंग वाले एसी के लिए सरकार ने नोटिफिकेशन जारी किए हैं. नए नियम 1 जनवरी 2020 से लागू हो चुके हैं. इस नियम के तहत सभी रूम एयर कंडीशनरों में 24 डिग्री सेल्सियस की डिफॉल्ट तापमान सेंटिंग होगी.

1 जनवरी 2020 से लागू नए नियम के अनुसार सभी रूम एयर कंडीशनरों में 24 डिग्री सेल्सियस की डिफॉल्ट तापमान सेंटिंग होगी.
कैसे तय होगी एसी की स्टार रेटिंग 
बिजली बचत के नियम तय करने वाली एजेंसी ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) के साथ विचार करने के बाद सरकार ने रूम एसी के लिए नए उर्जा कार्य मानक तय किये हैं. नए मानकों के मुताबिक, "स्‍टार लेबल वाले सभी ब्रांड और सभी प्रकार के रूम एयर कंडीशनरों यानी मल्टी स्टेज कैपेसिटी एयर कंडीशनर और स्प्लिट एयर कंडीशनरों को 10,465 वॉट (9,000 किलो कैलोरी/घंटा) की कूलिंग क्षमता तक की आपेक्षिक ऊर्जा, दक्षताओं के आधार पर एक से पांच स्टार तक रेटिंग दी गई है. जिन मशीनों का भारत में निर्माण किया गया है या व्यावसायिक रूप से खरीदा या बेचा गया है.

डिफॉल्ट सेटिंग का मतलब ये है कि जब आप ऐसी आन करेंगे तो वो 24 डिग्री पर ही खुलेगा लेकिन आप इसके बाद उसके तापमान में बदलाव कर सकते हैं


क्या इससे कोई फायदा होगा
बीईई के मुताबिक एसी के 24 डिग्री सेल्सियस तापमान डिफॉल्ट सेटिंग होने से 24 फीसदी तक की ऊर्जा की बचत हो सकती है. जापान और अमेरिका जैसे देश पहले ही एसी के तापमान को लेकर नियम तय कर चुके हैं. जापान ने एसी में डिफॉल्ट तापमान को 28 डिग्री सेल्सियस पर तय किया है. अमेरिका के कुछ इलाकों में एसी के तापमान को 26 डिग्री से कम नहीं करने का नियम है.

ये भी पढ़ें
दुनिया के 20 करोड़ शिया मानते हैं ईरान को अपना नेता, अमेरिका को महंगी पड़ सकती है जंग
 ईरान से लड़ाई में अमेरिका का दोस्त इजरायल तक क्यों नहीं दे रहा ट्रंप का साथ
चीन में फैल रही है एक रहस्यमय बीमारी, भारत को भी खतरा
अमेरिका-ईरान में तनाव का हमारे ऊपर भी पड़ रहा है असर, जानें कैसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 8, 2020, 3:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर