क्यों सरकार ने किया साफ हवा के लिए 4400 करोड़ का ऐलान

क्यों सरकार ने किया साफ हवा के लिए 4400 करोड़ का ऐलान
बढता कार्बन उत्सर्जन इंसान के शरीर पर सीधा असर करने लगेगा.

सरकार ने पहली बार बेहतर एयर क्वालिटी के लिए बजट में 4400 करोड़ का प्रावधान किया है. हालांकि सरकार ने पिछले साल के बजट में ये संकेत दे दिया था कि बढ़ता वायु प्रदूषण अब उसकी प्राथमिकता है

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 1, 2020, 12:56 PM IST
  • Share this:
केंद्र सरकार ने अपने बजट में बड़े शहरों में साफ हवा के लिए 4400 करोड़ का ऐलान किया है. हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है. बल्कि 2019-20 के बजट में भी सरकार ऐसा ऐलान कर चुकी है लेकिन पिछले बजट में इसके लिए 406 करोड़ की घोषणा की गई थी, जिसे इस बजट में दस गुना बढ़ा दिया गया है.

सरकार ने पिछले साल 10 जनवरी को नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम लांच किया था, जिसके तहत 102 शहरों को लाया गया था. अब इस प्रोग्राम को बड़े स्तर तक बढ़ाकर दूसरे बड़े शहरों तक ले जाने का भी प्रावधान है. दूसरे ये लगातार देखने में आ रहा है कि वायु प्रदूषण अब भारत की बड़ी समस्या बन चुका है. जिससे बड़े स्तर पर निपटने की जरूरत है.

क्या थीं रिपोर्ट्स 
पिछले दिनों कई रिपोर्ट्स आईं थीं, जिसमें बताया गया था कि वायु प्रदूषण हृदय से जुड़ी कई बीमारियों, स्ट्रोक, इंफेक्शन, लंग कैंसर, डाइबिटीज और क्रोनिक बीमारियों की वजह बन रहा है. लिहाजा शहरों की हवा पर ध्यान देना बहुत जरूरी है.
भारत में वायु प्रदूषण से कितनी मौतें


वर्ष 2019 में जारी हुई स्टेट ऑफ ग्लोब एयर रिपोर्ट 2019 में कहा भी गया था कि वायु प्रदूषण दुनिया के आगे तीसरे बड़े खतरे के रूप उभरा है. इससे अकेले भारत में वर्ष 2017 में 12 लाख मौत हुई हैं.

लगातार खराब हो रही है हवा की क्वालिटी 
पिछले कुछ सालों से देश में हवा की क्वलिटी बहुत खराब हुई है. विशेषज्ञों ने लगातार इसके रोकथाम और लगातार निगरानी की बात की है. हर साल जाड़ों में देश के तमाम शहरों में लोगों का सांस लेना मुश्किल हो जाता है. लिहाजा जब सरकार इस बार 2020-21 के लिए बजट की तैयारी कर रही थी, तभी ये माना जा रहा था कि सरकार इस बार वायु प्रदूषण को अपनी प्राथमिकता में रखेगी और बजट में उसे ज्यादा धन आवंटित होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading