लाइव टीवी

सुर्खियों में आए JNU के VC जगदीश कुमार नियमित रूप से करते हैं कराटे की प्रैक्टिस

News18Hindi
Updated: November 22, 2019, 5:33 PM IST
सुर्खियों में आए JNU के VC जगदीश कुमार नियमित रूप से करते हैं कराटे की प्रैक्टिस
जेएनयू के वाइस चांसलर के तौर पर जगदीश कुमार का कार्यकाल विवादित रहा है.

अपने ब्लॉग में दी गई पर्सनल इनफॉरमेशन में जगदीश कुमार (Jagadesh Kumar) ने बताया है कि वो रोज कराटे की प्रैक्टिस करते हैं और नियमित रूप से जिम जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2019, 5:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawahar Lal Nehru University) के वाइस चांसलर जगदीश कुमार (M Jagadesh Kumar) को लेकर हंगामा मचा हुआ है. जेएनयू छात्र संघ से लेकर टीचर एसोसिएशन तक उन्हें विश्वविद्यालय के भविष्य के लिए खतरनाक बता रहे हैं. जेएनयू टीचर एसोसिएशन ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय की हाई पावर कमेटी से कहा है कि जगदीश कुमार ने यूनिवर्सिटी के भविष्य को ताक पर रख दिया है.

नियुक्ति के साथ ही शुरू हुए बवाल
दिलचस्प है कि साल 2016 के जनवरी महीने में जगदीश कुमार को जेएनयू का वीसी नियुक्त किया गया और एक महीने के भीतर 9 फरवरी को अफजल गुरु की फांसी की बरसी मनाए जाने को लेकर बड़ा विवाद हुआ. इस विवाद में तत्कालीन छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के साथ अन्य छात्रनेताओं की गिरफ्तारी भी हुई. इसी के बाद जेएनयू के वीसी हमेशा छात्र नेताओं के निशाने पर रहे. विशेष तौर पर जेएनयू के वामपंथी छात्र संगठनों के निशाने पर.

जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार.
जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार.


उसके बाद एक बार फिर वो तब विवादों में आए जब जेएनयू में टैंक रखवाने की चर्चा चली. हाल ही में जेएनयू में दीक्षांत समारोह आयोजित किया गया था. इसमें शामिल होने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी पहुंचे थे. उग्र छात्रों ने रमेश पोखरियाल को छह घंटे तक घेरे रखा. छात्रों ने वीसी के खिलाफ लगातार नारेबाजी की. और एक बार फिर जगदीश कुमार विवादों से घिर गए हैं.

'JNU में हिंसा का स्वागत नहीं'
खुद पर लगे आरोपों को जगदीश कुमार नकारते रहे हैं. जेएनयू में चल रहे फीसवृद्धि विवाद को लेकर भी उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा है कि छात्रों के हितों का खयाल रखा जाएगा लेकिन विश्वविद्यालय में किसी भी तरह की हिंसा का स्वागत नहीं है. उन्होंने कहा था कि वो जेएनयू को हमेशा डिफेंड करते हैं और इसे देश का सबसे अच्छा विश्वविद्यालय मानते हैं.कौन हैं जगदीश कुमार
मूल रूप से तेलंगाना से ताल्लुक रखने वाले जगदीश कुमार ने आईआईटी मद्रास से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी की है. इसके बाद उन्होंने कनाडा की वाटरलू यूनिवर्सिटी से पोस्ट डॉक्टरेट कंप्लीट किया था. जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय का वाइस चांसलर नियुक्त किए जाने से पहले तक आईआईटी दिल्ली में प्रोफेसर के तौर पर सेवाएं दे रहे थे. वर्तमान में वो यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन के सदस्य भी हैं.



कैसी है पारिवारिक जिंदगी
अपने ब्लॉग में जगदीश कुमार लिखते हैं कि अगर आपको सुखी जिंदगी जीना है तो सुखी परिवार बेहद जरूरी है. जगदीश कुमार की पत्नी का नाम लक्ष्मी है. दोनों की शादी 1990 में हुई थी. दंपति के दो बेटे हैं साकेत और कार्तिक. साकेत गिटार बजाने के शौकीन हैं और दिल्ली के म्यूजिकल बैंड का हिस्सा भी हैं. साकेत नैनोइलेक्ट्रॉनिक्स में पीएचडी कर रहे हैं. दूसरा बेटा कार्तिक भी इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्यूनिकेशन की पढ़ाई कर रहा है.

रोज कराटे की प्रैक्टिस करते हैं जगदीश कुमार
अपने ब्लॉग में दी गई पर्सनल इनफॉरमेशन में जगदीश कुमार ने बताया है कि वो नियमित तौर पर कराटे की प्रैक्टिस करते हैं और रोज जिम जाते हैं. इसी ब्लॉग में जानकारी दी गई है कि जगदीश कुमार के दोनों बेटे भी दिल्ली स्टेट कराटे चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल कर चुके हैं.

ये भी पढ़ें - 

आज ही के दिन जारी हुआ था आजाद भारत का पहला स्टैंप, लहरा रहा था तिरंगा
कौन हैं अनीता आनंद जो बनीं कनाडा की पहली हिंदू मंत्री
तब औरंगजेब ने संस्कृत में रखे थे दो आमों के नाम
क्यों जल रहा है ईरान? आखिर कुछ ही घंटों में कैसे मारे गए 200 से ज्यादा युवा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 2:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर