पाकिस्तान में गूगल पर क्यों सबसे ज्यादा सर्च होती हैं PM इमरान खान की बीवी बुशरा?

Sanjay Srivastava | News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 12:22 PM IST

पाकिस्तान (Pakistan) में दो ही लोग इन दिनों चर्चाओं में रहते हैं. एक प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) और दूसरी उनकी तीसरी बीवी बुशरा मनेका (Bushra Maneka). उन्हें पाकिस्तान में 2018 में सबसे ज्यादा सर्च किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2019, 12:22 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान में इन दिनों दो ही शख्स चर्चाओं में हैं. संयोग से इनमें एक पति है और दूसरी उसकी पत्नी. पति प्रधानमंत्री इमरान खान पाकिस्तान की हालत और भारत के खिलाफ अभियान के कारण चर्चाओं में हैं तो बुशरा लगातार गूगल सर्च में इस देश में सबसे ऊपर हैं. उनके बारे में तरह-तरह की जानकारियां गूगल पर सर्च की जाती हैं. वैसे हाल में वो तब ज्यादा चर्चाओं में आ गई थीं जब वो इमरान के साथ अमेरिका दौरे पर नहीं गईं.

जब इमरान जुलाई के आखिर में अमेरिका के दौरे पर गए तो वहां ट्विटर पर ये सवाल ट्रेंड करने लगा कि बुशरा आखिर उनके क्यों साथ नहीं गईं. जबरदस्त बहस छिड़ गई. कुछ का कहना था कि अगर वो अमेरिका जातीं तो अच्छा असर पड़ता, आखिर इमरान को अकेले ही ट्रंप की बीवी मेलेनिया से मुलाकात करनी पड़ी. अगर बुशरा साथ होतीं तो ज्यादा अच्छा असर पड़ता. दूसरी ओर इमरान के समर्थकों का कहना था कि ऐसा करके इमरान ने देश का पैसा बचाया है.

इमरान जिन दिनों अमेरिका में दौरे पर थे. उनके पहनावे की तारीफ की जा रही थी तभी ये खबरें भी आईं कि उनके लिए ये कपड़े तो बुशरा ने खरीदे हैं. फिर कहा गया कि बुशरा ने कपड़े खरीदकर इसे किसी सस्ते दर्जी से सिलाया और तब भी देखो कितने कमाल की पोशाक सिली है. बुशरा भी पैसा बचाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहीं.

वैसे इमरान खान खुद भी लगातार अपनी तीसरी बीवी की तारीफ में जमकर कसीदे काढ़ते हैं. वो हाल में कई बार कह चुके हैं कि उनकी सरकार का एक साल काफी चुनौतीपूर्ण रहा है. इन चुनौतियों को सरकार ने इसलिए सफलता से पार किया, क्योंकि उनकी बीवी पग-पग पर उनका साथ देती हैं.

क्या अलग होने वाले थे इमरान और बुशरा
हालांकि पिछले दिनों पाकिस्तान के सबसे जाने माने पत्रकार नजम सेठी ने टेलीविजन 24 पर ये कहकर सबको चौंका दिया था कि इमरान खान और उनकी तीसरी बीवी के संबंध इतने ज्यादा बिगड़ चुके हैं कि दोनों अलग हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि बुशरा उन्हें छोड़कर इस्लामाबाद से लाहौर चली गई हैं. दोनों में जमकर खटपट होती है. वो लोग जिस घर में रहते हैं, वहां का स्टाफ बताता है कि दोनों में संबंध खराब हैं.

कुछ महीने पहले जब नजम सेठी ने कहा था कि गंभीर मतभेदों के चलते इमरान और बुशरा अलग होने वाले हैं तो तहलका मच गया था.

Loading...

नजम के इस रहस्योदघाटन पर पूरा पाकिस्तान सन्न रह गया. इमरान ने इसका खंडन किया. बल्कि उन्होंने नजम पर मोटे हर्जाने का मुकदमा ठोक दिया. उन्होंने कहा कि मैं अब अंतिम सांस तक बुशरा के साथ रहूंगा. तो आप देख ही रहे होंगे कि कैसे बुशरा हमेशा पाकिस्तान में चर्चाओं में बनी रहती हैं. लोग वैसे ये सवाल भी पूछते हैं कि बुशरा आखिर सार्वजनिक समारोहों में इमरान खान के साथ क्यों कम नजर आती हैं. हालांकि ये भी कहा जाता है कि नजम सेठी के इस खुलासे के बाद इमरान और बुशरा के करीबियों ने उनके मतभेद खत्म करने में मदद की.

ये भी पढ़ें - जब CBI इंदिरा को गिरफ्तार करने पहुंची और कहा-आपके पास एक घंटे का समय 

हमेशा बुर्के में रहती हैं बुशरा  
पाकिस्तान में अब तक कई प्रधानमंत्री और राष्ट्रप्रमुख हो चुके हैं. सभी की बीवियां सार्वजनिक समारोहों से लेकर विदेश दौरों में उनके साथ रहती रही हैं. इस मामले में बुशरा अलग हैं. वो अगर लोगों के बीच आती भी हैं तो बुर्के में. पिछले दो सालों में किसी ने उनको सार्वजनिक तौर पर नहीं देखा. मई में जब इमरान दुबई के दौरे पर गए. तब बुशरा पहली बार उनके साथ विदेश गईं लेकिन बुर्के में ही.

अब बुशरा हमेशा बुर्के में नजर आती हैं लेकिन कुछ साल पहले जब उनकी तस्वीर खींची गई थी तो वो इस तरह लगती थीं.


पहली शादी रसूखदार सियासी परिवार में 
उनका पूरा नाम बुशरा मनेका है. दरअसल उनकी पहली शादी जाने-माने मनेका राजनीतिक परिवार में हुई थी. उनके ससुर बेनजीर भुट्टो सरकार में मंत्री थे. पहले पति खावर मनेका के बड़े भाई पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) में बड़े नेता है. वो अब भी नेशनल असेंबली में सांसद हैं. ऐसे में जाहिर है कि उनकी ससुराल काफी असरदार रही है. उनके लिए पहले पति से रिश्ता तोड़कर इमरान से शादी करना कतई आसान नहीं था.

बुशरा और खावर की पहली शादी तब हुई जब वो 16-17 साल की थीं. 30 साल की मैरिज लाइफ में उन्हें पांच बच्चे हुए-दो बेटे और तीन बेटियां. सभी तकरीबन बड़े हो चुके हैं. सभी अपने पिता के साथ रहते हैं. पहले पति सीनियर कस्टम अफसर हैं. वो कई बार ये बात कह चुके हैं कि उनकी शादी इमरान की वजह से नहीं टूटी है. इसके व्यक्तिगत कारण रहे हैं.

बुशरा की इमेज धार्मिक गुरु की है. उन्हें बड़ी तादाद में मानने वाले लोग हैं. ये भी कहा जाता है कि वो बला की खूबसूरत भी हैं.


वैसे बुशरा की बड़ी बेटी महरू मनेका ने पिछले साल इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की सदस्यता ली, फिर जोर-शोर से चुनावी रैलियों में शिरकत भी की.

ये भी पढ़ें - वो हिंदू राजा क्या सच में बना था मुस्लिम और मंदिर को बनवाया था मस्जिद?

धार्मिक गुरु के रूप में ज्यादा बड़ी है इमेज 
वैसे बुशरा की छवि जितनी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान की बीवी के रूप में है, उससे कहीं ज्यादा एक धार्मिक गुरु के रूप में भी है. शादी से पहले इमरान ने उन्हें धार्मिक गुरु के रूप में ही स्वीकार किया था. वो लगातार उनसे मिलने जाते थे. धार्मिक गुरु होने के चलते ही उनका अपना असर है. उन्हें ठीकठाक तादाद में मानने वाले लोग हैं. कुछ ऐसे भी हैं, जो उन पर अंधी श्रद्धा रखते हैं. वो उन्हें बुशरा बीबी, पिरनी या बीबी पाक दामन के नाम से बुलाते हैं.

लोग मानते हैं कि उनके पास 'पॉवर्स' हैं 
बुशरा के कुछ भक्त ये भी मानते हैं कि वो आध्यात्मिक ताकतों से लैस हैं. जहां तक सियासत की बात है तो वो उससे दूर रहती हैं. ना इमरान की सियासी रैलियों में नजर आती हैं और ना कभी ये खबर आई कि उन्होंने देश के किसी सियासी मामले में दखल दिया हो.

वो स्प्रिचुअल काउंसलर भी हैं. इस्लामिक कायदे कानूनों का सख्ती से पालन करती हैं. उम्र 48 साल के आसपास है. पाकपट्टन में लोग उन्हें ऐसी महिला के रूप में जानते हैं जो किसी का भी भाग्य बदल सकती हैं.

दुबई में एक धार्मिक समारोह में इमरान खान के साथ बुर्के में बुशरा.


दिलचस्प है मुलाकात की कहानी 
इमरान और बुशरा की मुलाकात और करीब आने की कहानी भी दिलचस्प है. इमरान कुछ साल पहले संघर्ष कर रहे थे और पाकिस्तान की सियासत में जमीन मजबूत करने में लगे थे. उन दिनों वो सूफिज्म की ओर झुकने लगे. पाकिस्तान का पाकपट्टन कस्बा सूफी ख्वाजाओं के लिए प्रसिद्ध है. इस कस्बे ने कई सूफी संत दिए हैं. इमरान वहां ख्वाजा फरीद गंज शाकर के दरबार में जाते थे. जहां बुशरा एक खास भूमिका निभाती थीं.

ये भी पढ़ें - क्या है वो कोहिनूर मिल मामला, जिसमें राज ठाकरे से हो रही है पूछताछ?

वर्ष 2015 में इमरान की अपनी दूसरी शादी रेहम खान से की. माना जाता है कि बुशरा ने उनसे कह दिया था कि ये शादी करके उन्होंने गलती की है, ये ज्यादा दिन चलने वाली नहीं. जब रेहम से इमरान की शादी टूटी, उन दिनों इमरान को बुशरा से काफी सहारा मिला. वो उनके प्रभाव में तो थे ही, उनके करीब भी आए. कहा जाता है कि शादी की पहल खुद बुशरा ने की. फिलहाल ऐसा लगता है कि बुशरा से ये शादी इमरान के बड़े काम आई है.

बुशरा पाकिस्तान के पाकपट्टन से ताल्लुक रखती हैं, ये कस्बा सूफी ख्वाजाओं के लिए प्रसिद्ध है


कहां की हैं बुशरा 
बुशरा लाहौर से 250 किलोमीटर दूर जिस पाकपट्टन कस्बे की रहने वाली है, वो कई सूफी संतों और पीरों के कारण चर्चा में रहता आया है. यहीं के एक प्रसिद्ध पीर हुए हैं बाबा फरीद गंज शाकर, जिनके बुशरा बड़ी फॉलोअर रही हैं. यहीं पर उनकी मुलाकात इमरान से तब हुई जब उनका झुकाव सूफिज्म की ओर हुआ और वो पाकपट्टन आने लगे. बुशरा उनकी धार्मिक मेंटर बन गईं. दोनों का मिलना जुलना लगातार होने लगा.
2015 से हो रहीं मुलाकातों के बाद इमरान को लगने लगा कि बुशरा से मुलाकात और सलाहों का असर उन पर उनकी पार्टी पर बेहतर हो रहा है. ये भी कहा जाता है कि बुशरा ने उनसे ये भी कहा कि अगर वो उनसे निकाह कर लेते हैं तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने में कामयाब हो जाएंगे.
इमरान के प्रधानमंत्री बनने से मुश्किल से छह महीने पहले 2018 में ही उनकी शादी हुई और इमरान वाकई प्रधानमंत्री बन गए. अब बुशरा का कहना है कि इमरान इस देश के सबसे कामयाब पीएम साबित होंगे.

ये भी पढ़ें - ना चाहते हुए भी पाकिस्तान को क्यों देने होंगे भारत के ये 350 करोड़ रुपये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 12:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...