Home /News /knowledge /

Why Rain In October: अक्टूबर में देश भर में क्यों हो रही भारी बारिश? जानिए क्या है वैज्ञानिक कारण

Why Rain In October: अक्टूबर में देश भर में क्यों हो रही भारी बारिश? जानिए क्या है वैज्ञानिक कारण

अक्टूबर में हुई भारी बारिश की वजह से देश के कई इलाकों में तबाही आ गई है.

अक्टूबर में हुई भारी बारिश की वजह से देश के कई इलाकों में तबाही आ गई है.

Why Rain In October: बीते कुछ दिनों से देश भर में हुई भारी बारिश के कारण जानमाल का काफी नुकसान हुआ है. उत्तराखंड में इस बारिश में 46 लोगों की मौत हो गई है. यहां जानिए आखिर क्यों तबाही मचा रही है बारिश?

Why Rain In October: देश में सितंबर महीने तक मानसून का सीजन खत्म हो जाता है. लेकिन देश के कई इलाकों में अब भी भारी बारिश हो रही है. बीते दिनों दिल्ली के साथ-साथ केरल, मध्य प्रदेश, बिहार और उत्तराखंड में भारी बारिश हुई. इस कारण कई जगहों से जानमाल के नुकसान भी खबर आई. उत्तराखंड में बीते दिनों से हो रही भारी बारिश की वजह से अब तक 46 लोगों की मौत हो गई है जबकि 11 लोग लापता हैं.

आखिरी क्यों आई है ये तबाही?
उत्तर से लेकर दक्षिण तक देश में आई इस तबाही के लिए वैज्ञानिक कई कारणों को जिम्मेवार मानते हैं. उनका कहना है कि देर से मानसून के लौटने और कई जगहों पर कम दबाव क्षेत्र बनने के कारण यह बारिश हो रही है.

अक्टूबर में नहीं होती है बारिश
आमतौर पर सितंबर तक मानसून लौट जाता है. अक्टूबर मौसम परिवर्तन का माह होता है. इस दौरान दक्षिण-पश्चिम मानसून लौटता है. दूसरी तरफ, पश्चिमी विक्षोभ (Western disturbances) इस समय देश के सुदूर उत्तरी हिस्से के स्थानीय मौसम पर असर डालना शुरू करता है. इस कारण इन इलाकों में बारिश या फिर बर्फबारी होती है. इसी कारण बीते एक सप्ताह के दौरान लद्दाख और कश्मीर में सीजन की पहली बर्फबारी हुई है.

वैज्ञानिकों के मुताबिक बीते सप्ताह एक साथ दो निम्न दबाव क्षेत्र, एक अरब सागर में और दूसरा बंगाल की खाड़ी में, विकसित हुए. इस कारण ही केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, दिल्ली, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भारी बारिश हुई.

17 सितंबर से लौटने लगता है मानसून
इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक चार महीने तक सक्रिय रहने वाला दक्षिण-पश्चिम मानसून अक्टूबर की शुरुआत में लौट जाता है. लौटने के दौरान इस कारण गरज के साथ छींटे और छिटपुट बारिश होती है.

इस रिपोर्ट के मुताबिक इस साल मानसून के लौटने का समय छह अक्टूबर से शुरू हुआ जबकि सामान्य वर्षों में ऐसा 17 सितंबर से शुरू हो जाता है. इस कारण अन्य सालों में सितंबर के अंतिम दिनों में कहीं-कहीं छिटपुट बारिश होती है. अभी तक पश्चिमी, उत्तरी, मध्य और पूर्वी भारत से मानसून पूरी तरह लौट गया है. हालांकि यह अब भी दक्षिणी प्रायद्वीप में सक्रिय है. इस कारण ही केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में बीते 10 दिनों में भारी बारिश हुई है.

मानसून लौटने में देरी
भारत मौसम विभाग (आईएमडी) के महानिदेशक मृत्युंजय मोहपात्रा का कहना है कि दक्षिणी पश्चिमी मानसून के लौटने में हो रही देरी के कारण ओडिशा, उत्तर पूर्व और दक्षिण भारत में बारिश हो रही है. सामान्य तौर पर मध्य अक्टूबर तक मानसूनी हवा अपनी दिशा बदल देते हैं. मौसम के जानकारों का कहना है कि इस साल उत्तर पूर्वी मानसून के लौटने की शुरुआत 25 अक्टूबर से शुरू होने वाली है.

आने वाले दिनों में भी होगी भारी बारिश
वैसे तो जिस कम दबाव क्षेत्र के कारण केरल में भारी बारिश हुई थी वह अब कमजोर पड़ गया है. लेकिन मध्य भारत में अभी ऐसा क्षेत्र बना हुआ है. इस कारण उत्तरी भारत में इस सप्ताह अच्छी बारिश हो सकती है. भारत मौसम विभाग के मुताबिक इस कारण पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में अच्छी बारिश हो सकती है. इन इलाकों के लिए आईएमडी ने रेड अलर्ट जारी किया है.

इसके पूर्वोत्तर के इलाके में बुधवार को भारी बारिश की संभावना है. ऐसा बंगाल की खाड़ी से उठे मजबूत दक्षिणी पश्चिमी हवाओं के कारण हो सकता है.

Tags: Delhi Rain, Monsoon Session, Snowfall in Uttarakhand

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर