लाइव टीवी

हैदराबाद गैंगरेप हत्‍या: एनकाउंटर पर मेनका और चिदंबरम समेत अन्‍य लोगों ने क्‍या-क्‍या कहा

News18Hindi
Updated: December 6, 2019, 7:15 PM IST
हैदराबाद गैंगरेप हत्‍या: एनकाउंटर पर मेनका और चिदंबरम समेत अन्‍य लोगों ने क्‍या-क्‍या कहा
हैदराबाद एनकाउंटर के बाद आमतौर पर लोग इस पर खुशी की एजहार कर रहे हैं लेकिन कुछ लोगों को लगता है कि ये कानून के राज में खतरा पैदा कर सकता है

देश के कई नेताओं और बुद्धिजीवियों ने इस एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए कहा है कि ऐसे तो कानून का राज ही खत्म हो जाएगा. ये एनकाउंटर ये साबित करता है कि हमारा सिस्टम बहुत कमजोर हो चुका है

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2019, 7:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर (Hyderabad Gan) के चारों आरोपियों को पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने के बाद ट्विटर पर कई ऐसे नेता और लोग हैं, जो इस पर सवाल उठा रहे हैं और इसे गलत ठहरा रह हैं. उनका कहना है कानूनी तौर पर ये एक गलत उदाहरण है. अगर ऐसा होने लगा तो इसके नतीजे घातक हो सकते हैं.

जाने माने पत्र शेखर गुप्ता ने ट्वीट करके इसका विरोध किया. उन्होंने लिखा,  'वो लोग जो माफिया स्टाइल में हैदराबाद पुलिस के न्याय पर खुशी जता रहे हैं, उन्हें इस्लामिक स्टेट के सिर कलम करने की शिकायत नहीं करनी चाहिए. ना ही तालिबान, माओवादियों द्वारा मृत्युदंड जैसी बातों को गलत बताना चाहिए. आधुनिक और सभ्य समाज जो नए युग के हिसाब से बदल रहा है, लेकिन हमें तय प्रक्रिया का धैर्य से इंतजार नहीं है. इसके शिकार हम भी हो सकते हैं



केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी इसका विरोध किया है, उन्‍होंने कहा, 'जो भी हुआ है, बहुत भयानक हुआ है इस देश के लिए. आप किसी भी शख्स को इसलिए मार देना चाहते हैं क्योंकि आप ऐसा चाहते हैं. आप अपने हाथों में कानून को नहीं ले सकतें. इन आरोपियों को सजा मिलनी चाहिए थी.
मेनका गांधी ने इस एनकाउंटर को कानून के खिलाफ बताया है


सीनियर एडवोकेट विकास सिंह ने द्वीट किया, 'देश में कानून का शासन चलना चाहिए, इस बारे में तुरंत जांच होनी चाहिए.'



इसी तरह शुभम वर्मा ने ट्वीट किया, 'दुर्दांत अपराधियों को इस तरह खत्म करना एक कमजोर सिस्टम की ओर इशारा करता है.'



नेशनल वूंमन कमीशन की चेयरपर्सन रेखा शर्मा कहती हैं, 'केवल पुलिस सच बोल सकती है या फिर इसकी जांच से सच्चाई सामने आएगी.'

पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम ने कहा, 'इसकी जांच होनी चाहिए, अगर अपराधी भाग रहे थे तो क्या उनके पास हथियार थे.'

थरूर ने ये सवाल उठाया है कि क्या हैदराबाद पुलिस ने निहत्थे अपराधियों का एनकाउंटर किया है या उनके पास हथियार थे .


कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट किया, 'सिद्वांत तौर पर सहमत हूं. लेकिन हमें ये जानने की जरूरत है कि अपराधियों के पास हथियार थे या नहीं. पुलिस अपनी फायरिंग को सही ठहरा सकती है. जब तक विवरण नहीं आते, तब तक इस मामले में किसी की निंदा से बचना चाहिए.'

ये भी पढ़ें -
क्या पुलिस के पास किसी आरोपी की जान लेने का अधिकार है?
OPINION: एनकाउंटर पर खुशी की लहर, मतलब पब्लिक का धैर्य जवाब दे रहा है
तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में मशहूर हैं पुलिस कमिश्नर सज्जनार
अमेरिका में उबर में हुए महिलाओं से यौन हिंसा के 3,045 मामले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 5:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर