राष्ट्रपति के बैंक्वेट हॉल में सोनिया गांधी को आखिर क्यों नहीं मिला न्योता? ये है वजह

राष्ट्रपति के बैंक्वेट हॉल में सोनिया गांधी को आखिर क्यों नहीं मिला न्योता? ये है वजह
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी

राष्ट्रपति भवन (President Ramnath Kovind) के बैंक्वेट हॉल में 100 से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था है. इस बैंक्वेट हॉल में राष्ट्रपति दूसरे देश से आये हुए प्रतिनिधि के साथ डिनर करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2020, 11:57 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के पहले भारत दौरे का मंगलवार को आखिरी दिन है. आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने डोनाल्ड ट्रंप के सम्मान में खास डिनर पार्टी रखी है. राष्ट्रपति भवन के बैंक्वेट हॉल में इस डिनर का आयोजन किया गया है. इस डिनर में समाज के अलग-अलग तबके से 90 से 100 मेहमानों को न्योता दिया गया है. हालांकि, मेहमानों की लिस्ट में कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) का नाम नहीं है, जिस वजह से बाकी कांग्रेस नेता भी डिनर में शामिल नहीं हो रहे हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर सोनिया गांधी को बैंक्वेट हॉल के डिनर में क्यों नहीं बुलाया गया?

जानकारों के मुताबिक, विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी के अध्यक्ष को राष्ट्रपति के बैंक्वेट हॉल में डिनर या लंच के लिए बुलाने की ऐसी कोई परंपरा नहीं है. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी न्योता देने की कोई अनिवार्यता नहीं है. वैसे सरकार चाहती है या राष्ट्रपति की इच्छा है, तो ऐसा किया जा सकता है. जानकार ये भी बताते हैं कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) के 10 साल के शासनकाल के दौरान दो अमेरिकी राष्ट्रपति का दौरा हुआ, इस दौरान राष्ट्रपति के बैंक्वेट हॉल में आयोजित डिनर में बीजेपी के किसी बड़े नेता को नहीं बुलाया गया था.

कांग्रेस से किन्हें मिला था न्योता
राष्ट्रपति के बैंक्वेट हॉल में लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को न्योता भेजा गया था. हालांकि, अधीर और गुलाम नबी आजाद ने डिनर में आने से इनकार कर दिया है. इन दोनों नेताओं का कहना है कि जब पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को ही नहीं बुलाया गया है, तो वो भी नहीं जाएंगे.



मनमोहन भी नहीं जाएंगे


सूत्रों का ये भी कहना है कि अधीर रंजन चौधरी और गुलाम नबी आजाद के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी बैंक्वेट हॉल के डिनर में शामिल नहीं होंगे.

कैसा होता है राष्ट्रपति का बैंक्वेट हॉल?
राष्ट्रपति भवन के बैंक्वेट हॉल में 100 से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था है. इस बैंक्वेट हॉल में राष्ट्रपति दूसरे देश से आये हुए प्रतिनिधि के साथ डिनर करते हैं. इस हॉल के दोनों तरफ की दीवारों पर आपको पहले रह चुके राष्ट्रपतियों का कैनवास पर बनाया हुआ पोट्रेट देखने को मिलेगा.

हाइजीन का रखा जाता है खास ख्याल
राष्ट्रपति भवन के किचन में एग्जीक्यूटिव शेफ के अलावा दर्जनों शेफ, हलवाई और कुक काम करते हैं. एक खास टीम साफ-सफाई और हाइजीन का ध्यान रखती है. राष्ट्रपति और मेहमानों को परोसने से पहले खाने की जांच सुरक्षा एजेंसियों द्वारा की जाती हैं. राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्वारा आयोजित सभी ऑफिशियल बैन्क्वेट और भोज के लिए इसी किचन में खाना बनता है.

ट्रंप को परोसी जाएंगी ये चीजें
>>अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को सबसे पहले अमेरिकी मेहमानों को मुंह का स्वाद बनाने वाला अमूज बूशे परोसा जायेगा. अमूज बूशे को खाने योग्य गोल्डन लीव्स से डेकोरेट किया जायेगा.

>>अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और और बाकी मेहमानों को स्टार्टर में फिश टिक्का परोसा जायेगा, जो की सैल्मन फिश से बनाया जायेगा.

>>अमेरिका के लोग सैल्मन फिश पसंद करते हैं. इसके अलावा आलू टिक्की भी पालक पापड़ी के साथ परोसा जायेगा. नींबू और धनिया सूप भी खाने के मेन्यू में है.

>>मेन्यू के मेन कोर्स की बात करें तो रान अलीशान, दम गुच्ची मटर, दम गोश्त बिरयानी, देक्की बिरयानी और मिन्ट रायता के अलावा राष्ट्रपति भवन का खास डिश दाल रायसीना भी शामिल है.

>> मीठे में मालपुआ रबड़ी के साथ परोसा जायेगा, इसके अलावा हेजलनट सेब वनिला आइसस्क्रीम के साथ भी खाने के मन्यू में है.

ये भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप को डिनर में परोसे जायेंगे यह खास व्यंजन, खास मेहमान करेंगे स्वागत

जानें कितने महंगे होते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सूट

 
First published: February 25, 2020, 8:55 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading