अपना शहर चुनें

States

क्या इस बार भी बाइबल की शपथ लेंगे जो बाइडन, जानिए उनके भाषण की अहमियत

जो बाइडन (Joe Biden) के शपथ ग्रहण (Oath) के मौके पर लोगों को उनके पहले भाषण का इंतजार है.. फोटो:AP
जो बाइडन (Joe Biden) के शपथ ग्रहण (Oath) के मौके पर लोगों को उनके पहले भाषण का इंतजार है.. फोटो:AP

अमेरिका (USA) में राष्ट्रपति (President) के शपथ समारोह (Oath ceremony) में कई औपचारिक परंपरागत ही हैं. फिर भी जो बाइडेन (Joe Biden) का शपथ ग्रहण काफी अलग तरह से होने जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 1:24 PM IST
  • Share this:
आज जो बाइडन (Joe Biden) अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति (President) के रूप पद ग्रहण करने जा रहे हैं. कैपिटल हिल की घटना के बाद इस समारोह के लिए वॉशिंग्टन( में अभूतपूर्व सुरक्षा व्यवस्था की गई है. इस समारोह में डोनाल्ट ट्रम्प (Donald Trump) शामिल नहीं होंगे. यह समारोह अभी तक हुए राष्ट्रपति शपथ ग्रहण समारोह (Oath Ceremony) से कई लिहाज से अलग होगा.

कैसी होगी बाइडन की शपथ
इस समारोह के कार्यक्रम की रूपरेखा चाहे उद्घाटन बॉल्स, परेड या दोपहर को भोज ही क्यों न हो किसी का भी संविधान में उल्लेख नहीं है,  लेकिन राष्ट्रपति शपथ क्या लेंगे यह जरूर संविधान में लिखा है. बाइडन को इन शब्दों को बोलना होगा. ‘मैं निष्ठापूर्वक शपथ लेता हूं कि मैं संयुक्त राज्य अमेरिका की राष्ट्रपति के ऑफिस में पूरी ईमानदारी से कार्य करूंगा और अपनी श्रेष्ठ क्षमता से अमेरिका के संविधान की सुरक्षा, संरक्षण और बचाव करूंगा.

कौन दिलाएगा शपथ
अमेरिका में राष्ट्रपति को पद की शपथ अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दिलाते हैं, लेकिन यह परंपरा है कोई अनिवार्यता नहीं हैं. यदि मुख्य न्यायाधीश उपलब्ध नहीं हों तो यह कार्य सुप्रीम कोर्ट का अन्य जज कर सकता है. अमेरिका में ज्यादातर राष्ट्रपति बाइबल की शपथ लेते हैं ओबामा ने भी ऐसा ही किया था. लेकिन यह भी एक परंपरा ही है कोई नियम नहीं है. थिडोर रूजवेल्ट ने बाइबल के नाम पर शपथ नहीं ली थी.



US, Joe Biden, Donald Trump, US president oath, oath ceremony,
जो बाइडन (Joe Biden) के शपथ ग्रहण (Oath) के मौके पर अभूतपूर्व सुरक्षा व्यवस्था की गई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay


शपथ के बाद भाषण
अमेरिका में शपथ लेने के बाद राष्ट्रपति के भाषण की भी औपचारिक परंपरा नहीं हैं. कम से कम तकनीकी तौर पर ऐसी जरूरत नहीं होती है. फिर भी लगभग सभी राष्ट्रपति ऐसा करते हैं. हां यह भाषण कितना लंबा होता है या कितना छोटा यह निश्चित नहीं होता है. जॉर्ज वॉशिंगटन ने कवल 135 शब्दों का भाषण दिया था जबकि विलियम हैरिसन ने 8 हजार शब्दों से ज्यादा का भाषण दिया था.

अमेरिका में क्यों ज्यादातर लोगों को कोविड वैक्सीन पर भरोसा नहीं

कुछ भाषण हैं ऐतिहासिक
औपचारिक तौर पर राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण के समय भाषण देना भले ही जरूरी नहीं हो, लेकिन इसकी अहमियत बहुत अधिक होती है. इस मौके पर राष्ट्रपति अपने एजेंडा की झलक दिखाते हैं. अमेरिकी इतिहास के मुताबिक कई भाषण ऐतिहासिक बन गए हैं जो शपथ ग्रहण केबाद दिए थे. इसमें अमेरिका पहले राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन का भाषण सबसे ज्यादा याद किया जाता है जिसमें उन्होंने देश को एक रखने का प्रयास किया था.

US, Joe Biden, Donald Trump, US president oath, oath ceremony,
डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) शपथ ग्रहण समारोह (Oath Ceremony) में भाग नहीं लेंगे.


ट्रम्प का भाषण इसलिए चर्चा में
लिंकन के दोनों कार्यकाल के भाषण ऐतिहासिक माने जाते हैं. इसके अलावा रूजवेल्ट, कैनेडी,  रीगन और कई अन्य राष्ट्रपतियों के भाषणों की लंबी सूची है जिन्हें लंबे समय तक याद किया जाता है. डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने भाषण अमेरिका में हिंसा रोकने की बात की थी. लेकिन बाइडन की जीत की घोषणा के समय ही कैपिटल हिल हिंसा ने उनके कार्यकाल में एक बड़ा धब्बा लगा दिया.

जानिए क्या है बाइडन द्वारा नामित वनिता गुप्ता का यूपी के मुजफ्फरनगर से कनेक्शन

क्या कहेंगे बाइडन
मौजूदा हालातों को देखते हुए लोगों को बाइडन के भाषण का बेसब्री से इंतजार है. ट्रम्प की नीतियों के खिलाफ अमेरिका में ही नहीं  बल्कि दुनिया के कई इलाकों में रोष है. बाइडन पहले ही ट्रम्प की बहुत नीतियों को खारिज करने के साथ ही उन्हें पूरी तरह उलटने की जिक्र कर चुके हैं. कैपिटल हिल में समर्थकों के हंगामे के बाद ट्रम्प  पर महाभियोग चल रहा है. ऐसे में बाइडन के भाषण की अहमियत और ज्यादा हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज