World Book Day 2021: जानिए कुछ खास बातें और इसकी तारीख की कहानी

 विश्व पुस्तक दिवस (World Book Day) यूनिस्को हर साल 23 अप्रैल को मनाता है. (तस्वीर: shutterstock)

विश्व पुस्तक दिवस (World Book Day) यूनिस्को हर साल 23 अप्रैल को मनाता है. (तस्वीर: shutterstock)

विश्व पुस्तक दिवस (World Book Day) के मौके पर यूनिस्को (UNESCO) ने कोरोना काल में किताबों (Books) की अहमित को रेखांकित किया है. इस दिवस की तारीखों की एक रोचक कहानी भी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 6:37 AM IST
  • Share this:
इस साल विश्व पुस्तक दिवस (World Book Day) पर कोरोना वायरस का साया है. भारत में जहां विश्व पुस्तक दिवस को सामूहिक तौर पर मनाने की स्थितियां नहीं हैं, वहीं इस दिन को सही तरीके मनाने का मौका भी है. इस दिन को मनाना का उद्देश्य लोगों में पुस्तकों के प्रति रुचि और जागरुकता विकसित करना है. इस लिहाज से देश में जहां लोग अपने घरों में बंद हैं, वे अपनी कोई प्रिय पुस्तक पढ़कर इस दिन को मना सकते हैं. इस साल यूनिस्को (UNESCO) ने भी कोरोना काल में किताबों (Books) की बढ़ती अहमित को रेखांकित किया है.

तारीख की कहानी

विश्व पुस्तक दिवस दरअसल विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस का चर्चित नाम है.  यूनिस्को ने सबसे पहले इसे 22 अप्रैल 1995 को मनाया था. लेकिन इसे हर साल 23 अप्रैल को मनाया जाता है. मजेदार बात यह है कि यूके और आयरलैंड में इसी तरह का दिवस मार्च के महीने में मनाया जाता है जिसकी वजह से कई लोगों को इसकी सही तारीख को लेकर भ्रम हो जाता है.

दो लेखकों के निधन की तारीख
इस दिवस का मूल विचार स्पेनिश लेखक विसेंट क्लावेल एंड्रेस ने मिगुल डि सेरवेंटेस के सम्मान में उनके जन्मदिन 7 अक्टूबर और फिर उनकी पुण्यतिथि 23 अप्रैल को मनाने के लिए दिया था. 1995 में यूनिस्को ने इसकी तारीख 23 अप्रैल कर दी जो सेरवेंटेस के साथ विलियम शेक्सपियर की भी पुण्यतिथि है. दोनों ही लेखकों का निधन एक ही तारीख हुआ था, लेकिन ये दिन अलग अलग थे. इसकी वजह यह थी कि स्पेन में जहां ग्रिगोरियन कैलेंडर का उपयोग होता था तो वहीं इंग्लैंड में जूलियन कैलेंडर का.

 World Book Day, World Book day 2021, World Book and Copyright day, UNESCO, Books, Copyright, theme, Bookface challenge,
विश्व पुस्तक दिवस (World Book Day) किताबों की अहमित को रेंखाकित करने के लिए मनाया जाता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)


अलग अलग तारीखें भी



इस दिन की तारीख अलग-अलग देशों में भी बदली है. स्पेन में जहां इसे 1930 तक 7 अक्टूबर को मनाया जाता था और उसके बाद से 23 अप्रैल को मनाया जाने लगा. स्वीडन में भी इसी दिन को यह दिवस मनाया जाता है लेकिन साल 2000 और साल 2011 में इसे बदल दिया गया था. वहीं यूके और आयरलैंड में इसे मार्च के पहले गुरुवार को मनाया जाता है जिसमें चैरिटी प्रमुख होती है.

स्पेन में शोध- अधिक तनाव में रहने वाली गर्भवती महिलाएं लड़की को देती हैं जन्म

कई देशों में दोगुनी पढ़ी गईं किताबें

यूनिस्को ने अपनी वेबसाइट पर कोरोना काल में लगे लॉकडाउन के दौरान किताबों की अहमियत  को बताया है. यूनिस्को के मुताबिक इस दौरान कई देशों में किताबें पढ़ने की संख्या दोगुनी हो गई थी. यूनिस्को का कहना है कि अप्रैल के महीने में लोगों और उनके बच्चों के लिए पढ़ाई बहुत अहम हो जाती है.

World Book Day, World Book day 2021, World Book and Copyright day, UNESCO, Books, Copyright, theme, Bookface challenge
किताबें (Books) हमारे जीवन में एक दोस्त शिक्षक और मार्गनिर्देशक की भूमिकाएं निभा सकती हैं. (तस्वीर: shutterstock)


बुकफेस चैलेंज

यूनिस्को ने इस साल एक बुकफेस चैलेंज बनाया है. इस चैलेंज के विजेता की तस्वीर यूनिस्को के वेबपेज पर शामिल की जाएगी. यूनिस्को के आधिकारिक बयान के मुताबिक किताबों का कवर उन्हें खरीदने में बहुत अहम भूमिका निभाता है. हम उनके मुख पृष्ठ को लेकर बहुत ही ज्यादा निर्णायक होते हैं. इस साल महामारी ने हमें किताबों और पढ़ने की अहमियत बताई है.

पादरी की पढ़ाई बीच में छोड़ गणित और कम्प्यूटर विशेषज्ञ बने थे चार्ल्स गोश्की

यूनिस्को ने इस साल विश्व पुस्तक दिवस पर छात्रों, शिक्षकों, पाठकों के साथ साथ पुस्तक उद्योग और लाइब्रेरी सेवाओं को पढ़ने के प्रति लगाव दर्शाने के लिए इस चैलेंज में भाग लेने के लिए  आमंत्रित किया था. इसके अलावा यूनिस्को ने लोगों के लिए एक मुफ्त कम्यूनिकेशन टूलकिट भी उपलब्ध कराई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज