Cyclone Yaas: खतरनाक तूफान, जब लाखों जानें चली गईं, समुद्र में उठी थीं 35 फीट ऊंची लहरें

इतिहास में कई बड़े तूफान रहे हैं, जिन्होंने वाकई में भयंकर तबाही लाई- सांकेतिक फोटो (pixabay)

इतिहास में कई बड़े तूफान रहे हैं, जिन्होंने वाकई में भयंकर तबाही लाई- सांकेतिक फोटो (pixabay)

बांग्लादेश (तब पूर्वी पाकिस्तान) में सत्तर के दशक में आए द ग्रेट भोला तूफान (Cyclone Bhola in Bangladesh) में 3 से 5 लाख मौतें हुई. कथित तौर इस तूफान की जानकारी के बाद भी पाकिस्तानी अधिकारियों ने बांग्लादेश के उस हिस्से को सतर्क नहीं किया था.

  • Share this:

महाराष्ट्र, गुजरात में साइक्लोन ताउते (Tauktae) ने तबाही मचाई और अब एक नया चक्रवाती तूफान आ रहा है. मौसम विभाग के मुताबिक यास (Cyclone Yaas) पश्चिम बंगाल और उड़ीसा के तटीय इलाकों में अपना कहर बरपा सकता है. इसका असर कई दूसरे राज्यों पर भी दिखेगा. वैसे इतिहास में कई बड़े तूफान (deadliest storms in history) रहे हैं, जिन्होंने भयंकर तबाही लाई. इस दौरान लाखों जानें गईं और अर्थव्यवस्था पर भी खराब असर हुआ.

भोला तूफान ने बांग्लादेश को किया तहस-नहस 

बंगाल की खाड़ी में हमेशा से खतरनाक साइक्लोन आते रहे हैं. वहां ज्ञात सबसे खतरनाक तूफानों में द ग्रेट भोला का नाम लिया जाता है. यह तूफान 1970 में आया था और इसके चलते बांग्लादेश में करीब 3 लाख लोगों की जानें गई थीं. 12 और 13 नवंबर को आए इस तूफान से मची तबाही का असल अंदाजा अब तक नहीं हो सका है, कई जगहों पर बताया जाता है कि इसमें 5 लाख से ज्यादा जानें गईं.

Youtube Video

समुद्र में मच गया था हाहाकार 

द ग्रेट भोला के चलते पूर्वी पाकिस्तान में जबरदस्त बाढ़ आ गई थी. इसके अलावा उस दौरान बांग्लादेश से लगे समुद्र में 35 फीट ऊंची लहरें उठी थीं, जिन्होंने बांग्लादेश के बड़े भू-भाग को अपना निशाना बनाया था. उस वक्त बांग्लादेश में स्वतंत्रता की लड़ाई चल रही थी. ऐसे में पाकिस्तान के मौसम विभाग की इस तूफान को लेकर दी गई चेतावनी पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया था.

cyclone yaas and the deadliest cyclone ever in history
बांग्लादेश में तूफान से आई तबाही का एरियल व्यू- सांकेतिक फोटो (picryl)



कथित तौर पर लापरवाही के कारण हुआ नुकसान 

बाद में एक जांच में सामने आया कि न ही तटीय इलाकों को खाली कराया गया था और न ही नागरिकों के बचने के लिए कोई खास इंतजाम किए गए थे. इन्हीं लापरवाहियों के चलते तूफान के भयानक प्रभाव को रोका नहीं जा सका और लाखों लोगों को जानें गंवानी पड़ीं. इसे उष्णकटिबंधीय तूफानों में अब तक का ज्ञात सबसे खतरनाक तूफान माना जाता है.

ये भी पढ़ें: समझिए, क्या होता है अगर आप Fungus खा लें?

क्या कहता है डाटा 

रोड्स आईलैंड यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक द ग्रेट भोला तूफान की त्रासदी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि तत्कालीन पूर्वी पाकिस्तान के ताजुमुद्दीन शहर की 45% आबादी इससे आई बाढ़ में बह गई थी. केवल इस शहर में 1,67,000 लोगों की जानें गई थीं.

निना तूफान ने ढाई लाख जानें लीं 

चीन और ताइवान में साल 1975 में आए तूफान को दूसरा सबसे भयंकर तूफान माना जाता है. इसे निना नाम दिया गया. इसने ताइवान के बड़े हिस्से पर कहर गिराते हुए चीन को भी अपनी चपेट में ले लिया. द एक्टिव टाइम्स वेबसाइट के मुताबिक इस तूफान में बांध टूट गए, जिनसे नुकसान कई गुना बढ़ा. माना जाता है कि निना के चलते लगभग 229,000 लोगों की मौत हो गई.

cyclone yaas and the deadliest cyclone ever in history
चीन मे निना के चलते लगभग 229,000 लोगों की मौत हो गई- सांकेतिक फोटो (pixabay)

साल 1881 में वियतनाम में हैफोंग टाइफून 

अनुमान के अनुसार लगभग 3 हजार जानें गईं. 8 अक्टूबर को आए इस टाइफून का असर फिलीपींस पर भी दिखा. वहां 20 हजार से भी ज्यादा लोग मारे गए. फिलीपींस में इसे सबसे ज्यादा तबाही मचाने वाला तूफान माना जाता है, जिस दौरान न केवल मौतें हुईं, बल्कि हजारों लोग बेखर हुए और हजारों भटक गए. खेती और व्यापार का भी भारी नुकसान हुआ था. लगभग 22.8 बिलियन डॉलर इसकी भेंट चढ़ गए थे.

ये भी पढ़ें: Explained: क्या है 2-DG दवा, जो कोरोना से मची तबाही के बीच उम्मीद लेकर आई?

बांग्लादेश में बार-बार कहर 

तूफानों से घिरे देश बांग्लादेश में साल 1989 में भी टॉर्नेडो आया था, जिसमें जान-माल का बड़ा नुकसान हुआ. ये तूफान 26 अप्रैल को बांग्‍लादेश के माणिकगंज जिले में आया था, जिस दौरान 1300 से ज्यादा जानें गईं और 12 हजार से ज्यादा लोग बेघर हो गए. दौलतपुर और सतुरिया क्षेत्र में 50 हजार से भी ज्यादा लोगों का घर नष्ट हो गया.

ये भी पढ़ें: क्या अगले कुछ महीनों में Covid vaccine का तीसरा डोज लेना होगा?

मैक्सिको में सत्तर के दशक में लिजा तूफान ने तबाही मचाई

साल 1976 में आए इस तूफान को मैक्सिको का सबसे खतरनाक तूफान माना जाता है. कैटेगरी 4 का ये हरिकेन मैक्सिको के बजा कैलिफोर्निया इलाके में आया था, इससे हुई भारी बारिश से पूरा इलाका पानी में डूब गया. लगभग 1200 जानें गईं, जबकि 20 हजार से ज्यादा लोगों ने अपना घर-बार खो दिया.

cyclone yaas and the deadliest cyclone ever in history
मौक्सिको में लिजा तूफान के दौरान 20 हजार से ज्यादा लोगों ने अपना घर-बार खो दिया- सांकेतिक फोटो (pixabay)

आंध्रप्रदेश में साल 1839 को आया भयंकर तूफान

इस चक्रवाती तूफान को वैसे तो कैटेगरी 3 में रखा गया लेकिन तैयारियां उतनी दुरुस्त न होने के कारण इस दौरान लगभग 14 हजार जानें गईं. वैसे कई जगहों पर बताया जाता है कि इस दौरान हुई मौतों का आंकड़ा लाख पार कर गया था. तूफान में तटीय इलाकों पर जहाजों और माल का भी काफी नुकसान हुआ और इससे उबरने में काफी समय लगा.

उड़ीसा में आया तूफान इतना खतरनाक साबित हुआ 

उड़ीसा में 29 अक्टूबर, 1999 को आए इस तूफान में करीब 250 किमी/घंटा की रफ्तार से हवाएं बही थीं. इतने तेज तूफान को चौथी कैटेगरी का तूफान कहते हैं लेकिन फिर यह तूफान कैटेगरी 5 में पहुंच गया था. इसकी रफ्तार 260 किमी प्रति घंटा के आस-पास तक पहुंच गई. इसने बंगाल की खाड़ी में 26 फीट ऊंची लहरें उठाई थीं. इसमें लगभग 9,658 लोग मारे गए और 17,305 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज