इंडिया से पाकिस्तान तक, दुनियाभर के अखबारों में मोदी के इन दो मंत्रियों की सबसे ज्यादा चर्चा

बाहरी टैलेंट का भी मंत्रिमंडल में हुआ स्वागत, एस जयशंकर बने मंत्री शीर्षक के साथ इंडियन एक्सप्रेस ने पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने पर लिखा है कि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर विदेश सचिव रहने के दौरान दूसरे मंत्रालयों पर भी अपना सुझाव देते हुए अपनी छाप छोड़ी थी. जानिए दुनियाभर के अखबारों ने क्या कहा-

News18Hindi
Updated: May 31, 2019, 1:25 PM IST
इंडिया से पाकिस्तान तक, दुनियाभर के अखबारों में मोदी के इन दो मंत्रियों की सबसे ज्यादा चर्चा
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बातचीत करते मोदी कैबिनेट के नये मंत्री एस जयशंकर
News18Hindi
Updated: May 31, 2019, 1:25 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 रिजल्ट के बाद भारत के प्रधानमंत्री पद पर दोबारा नरेंद्र मोदी आसीन हुए. उन्होंने बृहस्पतिवार को अपने नये मंत्रिमंडल के साथ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में आठ हजार लोगों के समक्ष शपथ ग्रहण की. राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पीएम मोदी व उनके 57 सदस्यीय मंत्रिमंडल को उनके पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई. इस पर भारतीय समाचार पत्रों समेत दुनिया के करीब सभी प्रमुख देशों के अखबारों ने खबरें प्रकाशित की हैं. आइए जानते हैं दुनिया भर के प्रमुख अखबारों ने मोदी के नये मंत्रिमंडल के बारे में क्या कहा-

इंडियन एक्सप्रेस ने बाहर हुए मंत्रियों की दिलाई याद, एस जयशंकर पर रखा फोकस


बाहरी टैलेंट का भी मंत्रिमंडल में हुआ स्वागत, एस जयशंकर बने मंत्री शीर्षक के साथ इंडियन एक्सप्रेस ने पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने पर लिखा है कि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर विदेश सचिव रहने के दौरान दूसरे मंत्रालयों पर भी अपना सुझाव देते हुए अपनी छाप छोड़ी थी. एस जयशंकर जेएनयू से पीएचडी होल्डर हैं और धाराप्रवाह रूसी भाषा बोलते हैं. उन्होंने टाटा ग्रुप के साथ अंतरराष्ट्रीय कॉरपोरेट मामलों के प्रेसिडेंट के तौर भी पर काम किया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया ने जेडीयू के मंत्रिमंडल में साबित ना होने की ओर खींचा ध्यान

नाराज जेडीयू ने मोदी के मंत्रिमंडल में शामिल होने से किया इंकार शीर्षक के साथ टाइम्स ऑफ इंडिया की एक ख़बर के अनुसार बीजेपी की बिहार में सहयोगी जेडीयू ने गुरुवार को पीएम मोदी के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में शामिल होने से इंकार कर दिया. जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार ने कहा कि वे सरकार में कोई 'टोकन सहभागिता' नहीं चाहते हैं. 16 सांसदों के साथ जेडीयू, लोकसभा में एनडीए गठबंधन की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है. ऐसे में जेडीयू की नज़रें दो कैबिनेट पदों के साथ एक राज्यमंत्री के पद पर थीं लेकिन फाइनल लिस्ट में उसे बस एक कैबिनेट पोस्ट दी जा रही थी.



पाकिस्तानी अखबार डॉन एस जयशंकर पर रखा फोकस
Loading...

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने भारत में मंत्रिमंडल चुने जाने और पीएम मोदी के शपथ ग्रहण की खबर को देश-विदेश पन्ने पर जगह दी है. इसमें एस जयशंकर को मोदी के कैबिनेट में जगह मिलने की बात को प्रमुखता से जगह दी है. पीएम मोदी के 57 मंत्रियों में से पाकिस्तानी अखबार ने एस जयशंकर के बारे में ही विस्तार से लिखा. साथ में शपथ ग्रहण की एक वाइड फोटो के साथ शपथ ग्रहण समारोह की भव्यता को दिखाया है.

यह भी पढ़ेंः पांच वरिष्ठतम सांसदों के लोकसभा में न लौटने से बदल जाएगा पूरे सदन का सीटिंग प्लान

वाशिंगटन पोस्ट ने पीएम मोदी के अगले कदमों को लेकर खींचा ध्यान
अमेरिका के मशहूर अखबार वाशिंगटन पोस्ट ने देश-विदेश पन्ने पर पीएम मोदी के दोबारा पीएम बनने की खबर को जगह दी. पीएम मोदी दोबारा बने पीएम, क्या होंगे अगले कदम के शीर्षक से प्रकाशित खबर में इस अमेरिकी अखबार ने लिखा, "पीएम मोदी की अगली सरकार विदेश नीतियों पर बारीकी से काम करने वाली है." एस जयशंकर को मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने को लेकर अखबार ने विदेश मंत्रालय की ओर इशारा करते हुए कहा, अब भारत पहले से ज्यादा मजबूत तरीके से विदेशों में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएगा. अमेरिका ने भारत की बढ़ती ताकत की तुलना चीन से की. इसके अलावा अखबार ने एक लंबे लेख में हिन्दुत्व, कश्मीर, पर्यावरण, अर्थव्यवस्‍था और विदेश नीति को लेकर पीएम मोदी के अगामी कदमों की ओर ध्यान खींचा है.

एस जयशंकर की फाइल फोटो


द न्यूयॉर्क टाइम्स ने ममता बनर्जी के धरने के साथ छापी शपथ ग्रहण की खबर
अमेरिका के मशहूर न्यूजपेपर द न्यूयॉर्क टाइम्स ने पीएम मोदी की प्रचंड जीत का उल्लेख करते हुए उनके शपथ लेने की खबर को प्रकाशित किया है. लेकिन खबर के दूसरे हिस्से में उतनी ही प्रमुखता से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के धरने के बारे में लिखा है. अखबार ने ममता के बयानों को भी जगह दी है. ममता ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में एक भी राजनीति से प्रेरित हत्या नहीं हुई है. लेकिन ऐसा प्रचार किया गया और इसका फायदा उठाया गया.

यह भी पढ़ेंः चीन और पाक पर रहा सख्त रुख, इसलिए मोदी कैबिनेट 2.0 में शामिल हुए एस जयशंकर

बीबीसी ने अमित शाह के मंत्री बनने को बताया बड़ा कदम
यूरोप के सबसे बड़ी समाचार वेबसाइट बीबीसी वर्ल्ड ने पीएम मोदी के दोबारा शपथ लेने की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया. खबर में एस जयशंकर और अमित शाह के मंत्रिमंडल में शामिल करने को भारत के भविष्य के लिए एक बड़ृा कदम माना. साथ ही बीबीसी ने पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में ममता बनर्जी के आने के खबर को भी साथ ही प्रकाशित किया. इसके अलावा शपथ ग्रहण समारोह में आठ हजार मेहमानों के शरीक होने की खबर को भी बीबीसी ने प्रमुखता दी.

अलजरीरा ने कहा, अमित शाह हो सकते हैं वित्त मंत्री
अरब देशों के सबसे मशहूर समाचार पोर्टल अलजरीरा ने पीएम मोदी की कैबिनेट को लेकर कहा कि अमित शाह को वित्त मंत्री बनाया जा सकता है. साथ ही पोर्टल ने पीएम मोदी की प्रचंड जीत को हिन्दुत्व से जोड़कर खबर बनाई.



एबीसी न्यूज ने दिलाई नवाज शरीफ की याद
ऑस्ट्रेलिया के सबसे महशूर समाचार पोर्टल एबीसी न्यूज ने पीएम मोदी के दोबारा पीएम बनने और उनके शपथ ग्रहण में पाकिस्तान के प्रतिनिधि ना शामिल होने पर फोकस किया है. एबीसी ने साल 2014 के पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में नवाज शरीफ के शामिल होने की याद भी दिलाई है.

आरटी ने दी व्यापक कवरेज, पीएम मोदी पर किए कई विश्लेषण
रूस की प्रमुख समाचार पोर्टल रसिया टुडे ने भारत के चुनावों के बाद नरेंद्र मोदी के दोबारा पीएम बनने की खबर का व्यापक कवरेज किया है. पीएम मादी के कैबिनेट में एस जयशंकर के शामिल होने की खबर को भी इसने प्रमुखता से प्रकाशित किया. एस जयशंकर के विदेश मंत्री बनने की संभावना व्यक्त करते हुए कहा कि एक नौकरशाह को मंत्रिमंडल में लाकर पीएम मोदी के कई संकेत दिए हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...