जर्मनी में आलस पर विज्ञापन के बीच जानिए, कौन-सा देश दुनिया में सबसे निकम्मा है

विज्ञापन में शख्स कोरोना से लड़ने के लिए खुद को घर पर आइसोलेट कर लेता है- सांकेतिक फोटो (Pixabay)
विज्ञापन में शख्स कोरोना से लड़ने के लिए खुद को घर पर आइसोलेट कर लेता है- सांकेतिक फोटो (Pixabay)

जर्मनी में कोरोना संक्रमण (Coronavirus infection in Germany) के बीच लोगों से घर पर रहने की अपील के लिए विज्ञापन देना पड़ा. दूसरी ओर कई ऐसे भी देश हैं, जहां की बड़ी आबादी चलने-फिरने से परहेज करती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2020, 6:35 AM IST
  • Share this:
दुनियाभर में एक बार फिर से कोरोना का कोहराम मचा हुआ है. पश्चिमी देशों में ठंड के साथ-साथ वायरस संक्रमण डरा रहा है. इस बीच जर्मनी ने एक विज्ञापन निकाला, जिसमें एक शख्स खुद को सैनिक की तरह बता रहा है और अपने सोफे को मोर्चा कह रहा है. इस बीच ये जानना दिलचस्प होगा कि दुनिया में सबसे आलसी देश कौन से हैं.

सबसे पहले तो जानते हैं कि जर्मनी में कौन सा विज्ञापन आजकल सुर्खियों में है. ये एक तरह का कोरोना वारियर का विज्ञापन है लेकिन फर्क ये है कि शख्स कोरोना से लड़ने के लिए खुद को घर पर आइसोलेट कर लेता है.


विज्ञापन में शख्स कहता है कि अचानक से इस देश की किस्मत हमारे हाथों में आ गई. तब हमने साहस जुटाया और वही किया जिसकी हमसे उम्मीद थी और जो सही था, यानी हमने कुछ नहीं किया. वो आगे कहता है, दिन रात, हम घर पर पैर पसारे पड़े रहे और कोरोना वायरस से लड़ते रहे. हमारा मोर्चा हमारा काउच था और धैर्य हमारा हथियार था. विज्ञापन के अंत में सरकार की ओर से संदेश दिया गया है, घर पर रहकर आप भी नायक बन सकते हैं.



ये भी पढ़ें: कौन हैं ग्लैमरस एशले बाइडन, जो White House में इवांका की जगह लेंगी? 

एकदम अनूठी तरह का ये विज्ञापन कोरोना की नई लहर के बीच दिया गया. बता दें कि जर्मनी से लेकर सारे पश्चिमी देशों में कोरोना दोबारा उभरा है और मृत्युदर भी बढ़ी है. ऐसे में लोगों को घर पर रहने की अपील के बीच ये एड आया.

ऐसे भी देश हैं, जो काफी आलसी देशों की श्रेणी में आते हैं- सांकेतिक फोटो (Pixabay)


एक तरह जर्मनी में लोगों से घर पर रहने की अपील हो रही है, तो दूसरी ओर ऐसे भी देश हैं, जो काफी आलसी देशों की श्रेणी में आते हैं. अमेरिका की स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक रिसर्च ने दुनिया का सबसे आलसी देश ढूंढ लिया. इसके मुताबिक इंडोनेशिया सबसे आलसी देश है, जहां लोग रोजाना महज 3513 कदम ही चलते हैं.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान क्यों इजरायल को मान्यता देने से इनकार करता आया है?   

सर्वे साल 2018 के अंत में हुआ था. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत भी आलसी देशों की सूची में 39वें स्थान पर है. यहां लोग औसतन एक दिन में 4297 कदम चलते हैं. सर्वे कुल 46 देशों के लगभग 7 लाख लोगों पर किया गया, जिसमें हांगकांग सबसे सक्रिय देशों की श्रेणी में रहा. वहां लोग रोजाना लगभग 6880 कदम चलते ही हैं. वैसे बता दें कि कदम से सक्रियता मापने का ये पैमाना कोई नया नहीं. सेहत से जुड़े विशेषज्ञों का मानना है कि हर स्वस्थ वयस्क को रोज लगभग 10 हजार किलोमीटर चलना चाहिए.

हर स्वस्थ वयस्क को रोज लगभग 10 हजार किलोमीटर चलना चाहिए- सांकेतिक फोटो (Pixabay)


इसी तरह से वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी एक सर्वे किया, जिसमें 168 देश शामिल थे. लगभग 1.9 मिलियन लोगों के रुटीन को इसमें देखा गया. इसमें कुवैत सबसे आलसी देश की तरह निकलकर आया, जहां 67 प्रतिशत लोग व्यायाम नहीं करते. वहीं सबसे सक्रिय देशों में अफ्रीकन देश सबसे ऊपर रहे, जैसे युगांडा, मोजांबिक और तंजानिया. भारत इस लिस्ट में 117वें नंबर पर रहा. रिपोर्ट के अनुसार देश के लगभग 34 प्रतिशत लोग व्यायाम नहीं करते हैं. वहीं वैश्विक औसत निकालने पर पता चला कि हर 4 में से 1 शख्स व्यायाम नहीं करता.

ये भी पढ़ें: क्या कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के लिए NASA में संस्कृत भाषा अपनाई जा रही है?     

सर्वे के मुताबिक कई देशों में एक्सरसाइज के मामले में महिलाओं और पुरुषों की संख्या में भी काफी अंतर है. रिसर्च टीम को यह जानकर हैरानी हुई कि जापान जैसे देशों में मोटापा और असमानता काफी कम है. यहां महिला और पुरुष दोनों ही एक्सरसाइज करते हैं, लेकिन अमरीका और सऊदी अरब जैसे देशों में एक्सरसाइज की दर में भारी अंतर देखने को मिला है. यहां महिलाएं फिटनेस के मामले में कम समय देती हैं, और वो समय होम केयर जैसे कामों में लगाती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज