घर की सफाई में इन चार केमिकल्स को यूज कर कोरोना वायरस को कर सकते हैं खत्म

घर की सफाई में इन चार केमिकल्स को यूज कर कोरोना वायरस को कर सकते हैं खत्म
कोरोना वायरस कार्डबोर्ड पर लगभग 24 घंटे तक बना रह सकता है.

कोरोना वायरस (coronavirus) को खत्म करने के लिए विशेषज्ञ कुछ केमिकल्स (Chemicals) से घर की सफाई करने की सलाह देते हैं. आइए जानते हैं इन केमिकल्स और इनके यूज करने के तरीके के बारे में...

  • Share this:
कोरोना वायरस (coronavirus)से बचने के लिए मजबूत इम्यूनिटी, स्वच्छता और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) तीन ही हथियार हैं. यह वायरस कार्डबोर्ड पर लगभग 24 घंटे तक बना रह सकता है. प्लास्टिक की सतह पर तीन दिनों तक रह सकता है. कई शोध (Research) में पता चला है कि कोरोना वायरस कांच, धातु, प्लास्टिक पर नौ दिनों तक रह सकता है. ऐसे में घर और सामान की स्वच्छता पर काफी ध्यान दिया जाना चाहिए. ऐसे में केमिकल्स से घर और सामान की सफाई करके कोरोना वायरस को खत्म किया जा सकता है.

अमेरिका में खाद्य विज्ञान के प्रोफेसर डोनाल्ड शफ़नर का कहना है कि केमिकल्स भी वायरस को खत्म करने के लिए थोड़ा समय लेते हैं. ऐसे में अगर आप कैमिकल्स से सफाई कर रहे हैं तो तुरंत केमिकल्स को न धोएं. करीब एक मिनट तक केमिकल का वायरस वाली वस्तु पर बना रहना जरूरी है. कोरोना वायरस से बचने के लिए किन कैमिकल्स का यूज किया जा सकता है, इसके बारे में हम आपको बता रहे हैं....

1. ब्लीच का घोल
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार विशेषज्ञ बताते हैं कि चार लीटर ठंडे पानी में एक कप ब्लीच मिलाकर घर में सफाई करना कारगर साबित हो सकता है. आपने जिस घोल को बनाया है इसे 24 घंटे के अंदर यूज कर लें क्योंकि इसके बाद ब्लीच का प्रभाव खत्म हो जाता है. विशेषज्ञों का कहना है कि प्लास्टिक की वस्तुओं पर वायरस का असर 16 घंटे तक रहता है. इसलिए उन्हें कम से कम 30 सेकंड तक ब्लीच के घोल डुबोकर रखना चाहिए. यहां ध्यान दें कि इसके घोल को सैनिटाइजर की तरह या हाथ धोने के लिए इस्तेमाल न करें इससे आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचता है.




2. एल्कोहल
एल्कोहल को किसी वायरस या बैक्टीरिया को खत्म करने के अच्छे विकल्पों में गिना जाता है. विशेषज्ञ हैंड सैनिटाइजर भी 75 फीसद एल्कोहल वाला यूज करने की सलाह देते हैं. जानकारों का कहना है कि एल्कोहल की एक निश्चित मात्रा को पानी में मिलाकर सफाई करने से कोरोना वायरस को खत्म किया जा सकता है. इसके लिए पानी में एल्कोहल की मात्रा 70 फीसदी तक होनी चाहिए. इसी मात्रा के साथ इसे ऐलोवेरा में मिलाकर हैंड सैनिटाइज़र की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है. स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं कि बाजार में मिलने वाले जिन हैंड सैनिटाइज़र्स में एल्कोहल की मात्रा 60 फीसदी तक हो, वे कोरोना वायरस के खिलाफ प्रभावी हैं.

अगर आप 70 फीसदी एल्कोहल की मात्रा वाले घोल से सफाई कर रहे हैं तो आपको सतह को 30 सेकंड तक साफ़ करें. इससे कोरोना वायरस का प्रभाव खत्म हो जाता है. एल्कोहल के घोल को सील बंद करके 24 घंटे से कहीं ज्यादा समय तक इस्तेमाल किया जा सकता है. सील में बंद करना इसलिए जरूरी है क्योंकि एल्कोहल के उड़ने का खतरा बना रहता है.

दिमाग में गंभीर सूजन की वजह बन सकता है नया कोरोना वायरस, जान लें इसके लक्षण

3. हाइड्रोजन पैराक्साइड
कई विशेषज्ञ हाइड्रोजन पैराक्साइड के घोल को सफाई के दौरान इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं. उनका कहना था कि यह कोरोना वायरस के खिलाफ कारगर हथियार है. क्योंकि हाइड्रोजन पैराक्साइड पानी में तीन फीसदी की मात्रा के साथ बाजार में मिलता है. लेकिन पानी में कम से कम 0.5 फीसदी की मात्रा के साथ भी यह कोरोना वायरस के खिलाफ प्रभावी साबित हो सकता है. सफाई करते समय इसके घोल को किसी भी सतह पर एक मिनट तक रखें.

4. किसी भी साबुन से साफ करें हाथ
कोरोना वायरस के संकर्मण को रोकने के लिए साबुन और पानी से हाथ धोने की सलाह दी जाती है. यह बात हम शुरू से ही सुन रहे हैं कि साबुन से करीब 22 सेकेंड तक रगड़कर हाथों को धोएं. इससे वायरस हाथ से निकल जाता है. विशेषज्ञ कहते हैं कि किसी भी साबुन और पानी से हाथ धोना कारगर साबित हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज