प्यार में जलन से कमजोर हो सकता है रिश्ता, ऐसे करें हैंडल

कई बार ईष्‍या हमारी खुद की सोच का परिणाम होती है. Image Credit : Pixabay

Relationship Tips : रिलेशनशिप में ईष्‍या यानी कि जलन का भाव आना स्‍वाभाविक है लेकिन यह तब हानिकारक हो जाता है जब इसकी वजह से रिलेशनशिप में तनाव और समस्‍याएं पैदा होने लगे.

  • Share this:
    6 Ways to Stop Jealousy From Affecting Your Relationship : प्‍यार भरे रिश्‍ते में जलन उतनी बुरी बात नहीं होती जितना कि उसे माना जाता है. इंसान के लिए जलन भाव एक स्‍वाभाविक प्रक्रिया है हालांकि यह तब समस्‍या बन जाती है जब यह आपके रिलेशनशिप पर हावी होने लगे. कभी कभी एक दूसरे को लेकर हल्‍की जलन आपस के प्रेम को गर्माहट देती है और आप एक दूसरे की अधिक परवाह करने लगते हैं लेकिन अगर आप थोड़े से बात पर परेशान हो जाते हैं और अपने पार्टनर के साथ दुर्व्‍यवहार करने लगते हैं तो यह आपके रिलेशनशिप के लिए बहुत ही हानिकारक साबित हो सकता है. अगर आप खुद को इस तरह के हालात से दूर रखना चाहते हैं तो यहां  6 तरीके बताए जा रहे हैं जिसकी मदद से आप अपने प्‍यार भरे रिश्‍ते को बचाए रख सकते हैं और आपसी जलन से बच सकते हैं.

    1.जलन की वजह जानने की कोशिश करें

    अगर आपके अंदर जलन या जलन जैसी भावनाएं जन्‍म ले रही हैं तो इसे स्‍वीकार करें. अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो आप इसका कारण भी आसानी से निकाल पाएंगे. अब एक दूसरे को दोषारोपण करने की बजाए आप इन सभी वजहों की लिस्‍ट बनाएं जिनसे आपको परेशानी होती है अथवा जलन होता है. खुद के अंदर की असुरक्षा और डर को निकालें और अपने पार्टर में गलती निकालने की बजाए सकारात्‍मक रूप से इस बात को स्‍वीकार करें.



    इसे भी पढ़ें : पार्टनर की जॉब में आ रही है दिक्कत? ऐसे करें सपोर्ट, रिश्ता होगा मजबूत
     






    2.एक दूसरे से प्रतियोगिता ना करें

    इस बात को हमेशा ध्‍यान में रखें कि आप दोनों गाड़ी के दो पहिए हैं. ऐसे में दोनों में समान गुण भले ना हों लेकिन दोनों में एक दूसरे को बढ़ाने और प्रोत्‍साहित करने की संभावना  भरपूर है. उदाहरण के तौर पर अगर आपका पार्टनर अधिक पैसे कमाता हो तो हो सकता है कि आप घर बहुत ही अच्‍छी तरह चला रहे हों, या आपमें बजट बनाने के कमाल के गुण हों. ऐसे में एक दूसरे को मदद करें ना कि खुद में प्रतियोगिता करें.



    3.ब्लेम गेम से बचने की करें कोशिश

    अगर आपको किसी तरह का शक है तो उसे बातचीत से हल करें. अगर आप आरोप प्रत्‍यारोपों से बातचीत शुरू करेंगे तो बात बिगड़ सकती है. आरोपों के बीच हो सकता है कि आपका साथी डिफेंसिव मोड में आ जाए और बात बनने की बजाए और घातक हो जाए.

    4.अपनी भावनाओं को ईमानदारी से व्‍यक्‍त करें

    यह सबसे बेहतर तरीकों में से एक है. आप अगर किसी तरह की भावनाओं का अपने अंदर जमा किए हुए हैं तो एक ईमानदार साथी की तरह अपने पार्टनर को अपनेपन से सारी बात बताएं. हर वो बात जो आपको परेशान कर रही है और आप जो नहीं चाहते. इस दौरान अपने साथी की भावनाओं को समझते हुए हर बात बोलें.

    5.खुद के अंदर झांकें

    कई बार ऐसा होता है कि जलन का जन्‍म हमारी खुद की सोच से होता है. आपके पार्टनर को शायद इसकी भनक भी नहीं रहती. आप इस बात को मानकर चलिए कि अगर आप खुद में एक सिक्‍योर इंसान हैं तो आपके अंदर कभी भी किसी को लेकर इनसिक्योरिटी नहीं रहेगी और अगर आ ही रही है तो हो सकता है कि इसकी वजह खुद आपकी अपनी सोच हो.





    इसे भी पढ़ें : आपके पति आपसे ज्‍यादा अपने परिवार को देते हैं अहमियत? जानें ऐसी स्थिति में क्या करें



    6.दोस्‍तों से लें मदद

    अगर आप सिचुएशन हैंडल करने में असहाय फील कर रहे हैं तो आपके करीबी दोस्‍त आपकी मदद कर सकते हैं. हो सकता है कि वे एक नए प्रोस्‍पेक्टिव के साथ आपको सारी बात समझाएं जिससे आसानी से प्रॉब्‍लम सॉल्‍व हो जाए. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)