Home /News /lifestyle /

इन 7 चीजों को खाने से बढ़ेगा 'फीलगुड कराने वाले हार्मोन', जानिए कैसे

इन 7 चीजों को खाने से बढ़ेगा 'फीलगुड कराने वाले हार्मोन', जानिए कैसे

चीज़, अंडे और नट्स में ट्रिप्टोफैन नामक एमिनो एसिड पाया जाता है. (प्रतीकात्मक फोटो- pexels)

चीज़, अंडे और नट्स में ट्रिप्टोफैन नामक एमिनो एसिड पाया जाता है. (प्रतीकात्मक फोटो- pexels)

How to Boost Your Serotonin level : सेरोटोनिन लेवल को बढ़ाने के लिए आप उन चीजों को खाने की कोशिश कर सकते हैं, जिनमें ट्रिप्टोफैन (Tryptophan) होता है. क्योंकि मूड से जुड़ी तकलीफों जैसे अवसाद (Depression) और चिंता (anxiety) से ग्रसित लोगों में ट्रिप्टोफैन की कमी देखी जाती है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    How to Boost Your Serotonin level : सेरोटोनिन (Serotonin) एक केमिकल मैसेंजर है जो कि मूड स्टेबलाइजर (Mood stabilizer) के रूप में काम करने के लिए जाना जाता है. साधारण भाषा में अगर कहें, तो इसका काम हमारे शरीर की कई प्रक्रियाओं में योगदान देना है. ये हमारे मूड को तो रेगुलेट करता ही है, साथ ही ये हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम को भी सही रखता है. इसलिए इसे ‘फीलगुड हार्मोन’ भी कहा जाता है. शरीर में सही मात्रा में सेरोटोनिन होने से अच्छी नींद आती है. ये केमिकल मैसेंजर आमतौर पर अच्छा महसूस कराने के साथ और लंबे समय तक जीने से जुड़ा होता है. सप्लीमेंट्स आपके सेरोटोनिन के लेवल को बढ़ा सकते हैं, अमीनो एसिड ट्रिप्टोफैन (Amino Acid Tryptophan) इसमें अहम साबित हो सकता है. क्योंकि सेरोटोनिन को ट्रिप्टोफैन से संश्लेषित (Synthesized) किया जाता है. अपने सेरोटोनिन लेवल को बढ़ाने के लिए आप उन चीजों को खाने की कोशिश कर सकते हैं, जिनमें ट्रिप्टोफैन (Tryptophan) होता है. क्योंकि मूड से जुड़ी तकलीफों जैसे अवसाद (Depression) और चिंता (anxiety) से ग्रसित लोगों में ट्रिप्टोफैन की कमी देखी जाती है.

    हेल्थलाइन में छपी रिपोर्ट के अनुसार, रिसर्च से यह भी पता चला है कि जब आप लो ट्रिप्टोफैन डाइट लेते हैं, तो ब्रेन में सेरोटोनिन का लेवल भी गिर जाता है. हालांकि, यह निर्धारित करने के लिए अभी रिसर्च जारी है कि ट्रिप्टोफैन युक्त खाद्य पदार्थ (tryptophan-containing foods) ब्रेन में सेरोटोनिन के लेवल को कितना प्रभावित कर सकते हैं. यहां हम आपको खाने की 7 ऐसी चीजों के बारे में बता रहे हैं जो सेरोटोनिन के लेवल को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं.

    यह भी पढ़ें- बच्चों के शरीर में वयस्कों से ज्यादा प्लास्टिक के कण, रिसर्च से सामने आई ये वजह

    अंडा
    2015 में हुई एक रिसर्च के मुताबिक अंडे (Egg) में मौजूद प्रोटीन आपके ब्लड प्लाज्मा में ट्रिप्टोफैन के लेवल को काफी बढ़ा सकता है, अंडे की जर्दी बेहद अहम है. इसमें ट्रिप्टोफैन में अच्छी खासी मात्रा में होता है. इसके साथ ही इसमें टायरोसिन, कोलीन, बायोटिन, ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है. इसके अलावा अंडे में स्वास्थ्य लाभ देने वाले अन्य पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं.

    चीज़ (Cheese)
    यह बेहद ही डिलिशियस फूड आइटम है, जिसके बारे में सोचकर ही मुंह में पानी आ जाता है. बर्गर, पिज्जा से लेकर पराठा बनाने के दौरान हम उसमें चीज़ का इस्तेमाल करते हैं. चीज़ में ट्रिप्टोफैन नामक एक एमिनो एसिड पाया जाता है, जो तनाव को कम करने और अच्छी नींद लेने में मदद करता है. आप मैक एंड चीज भी बना सकते हैं जो ट्रिप्टोफैन का अच्छा सोर्स है.

    अनानस
    अनानास (Pineapples) सेरोटोनिन का डायरेक्ट सोर्स है. यह कई स्टडीज में पाया गया है कि अनानास खाने से सेरोटोनिन का लेवल बढ़ता है, लेकिन आपको यह फ्रेश ही खाना चाहिए. जितना ज्यादा पका फल होता है, उतना सेरोटोनिन कम हो जाता है. जबकि कुछ अन्य पौधे, जैसे टमाटर, पकने के साथ ऐसा नहीं है, वो पकने पर सेरोटोनिन में वृद्धि करते हैं.

    यह भी पढ़ें- कहीं Workaholic तो नहीं हैं आप? जान लें इसके नुकसान

    टोफू
    टोफू (Tofu) अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में ट्रिप्टोफैन का एक महत्वपूर्ण सोर्स है. एक प्राच्य भोजन (oriental food) है जो सोयाबीन, पानी, और ठोस या बीज जमा करने के साथ तैयार किया जाता है. साधारण भाषा में इसे सोया पनीर भी कहते हैं. इसमें उच्च मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम होता है. शाकाहारी लोगों के लिए ये प्रोटीन का बेस्ट सोर्स है.

    सैल्मन
    सैल्मन (Salmon) फिश को ट्रिप्टोफैन एक बेस्ट सोर्स माना जाता है. ट्रिप्टोफैन आपके शरीर में मेलाटोनिन और सेराटोनिन जैसे हार्मोन को बनाने का कार्य करती है. इससे इंसान का मूड स्विंग और सोने-जागने का चक्र सही होता है. इसके अलावा इसके अन्य पोषण संबंधी लाभ भी हैं, जैसे कोलेस्ट्रॉल को बैलेंस करने में मदद करना, हाई बीपी को कम करना और इसका ओमेगा -3 फैटी एसिड का अच्छा सोर्स होना.

    मेवे और बीज
    मेवे (Nuts) और बीज (Seeds) आप अपनी पसंद से चुनें क्योंकि सभी मेवों और बीजों में ट्रिप्टोफैन होता है. स्टडी से पता चलता है कि दिन में एक मुट्ठी नट्स खाने से कैंसर, हार्ट की तकलीफ और सांस की समस्याओं से होने वाली मृत्यु दर भी कम हो सकती है, नट और बीज फाइबर, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट के भी अच्छे सोर्स हैं.

    टर्की मीट
    टर्की (Turkey Bird) उत्तरी अमेरिका में पाए जाने वाला एक पक्षी है जिसका मीट ट्रिप्टोफैन का बेस्ट सोर्स है. इसलिए ये ब्रेन के विकास और कार्य के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं.

    Tags: Health, Health News

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर