अपना शहर चुनें

States

यूरीन इंफेक्‍शन से बचने के लिए अपनाएं ये 7 घरेलू नुस्‍खे

यूरिनरी कॉर्ड में होने वाले संक्रमण के कारण किसी को भी यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन हो सकता है.
यूरिनरी कॉर्ड में होने वाले संक्रमण के कारण किसी को भी यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन हो सकता है.

महिलाओं में यूरीन इंफेक्शन की शिकायत काफी ज्‍यादा देखने को मिलती है. यूरीन इंफेक्शन यूरिनरी कॉर्ड में होने वाले संक्रमण के कारण होता है, जिसे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) भी कहा जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2021, 6:55 AM IST
  • Share this:
यूरीन इंफेक्शन (Urine Infection) किसी को भी हो सकता है, चाहे वो बच्चा हो, बूढ़ा हो या कोई महिला हो. लेकिन महिलाओं में यूरीन इंफेक्शन की शिकायत काफी ज्‍यादा देखने को मिलती है. यूरीन इंफेक्शन यूरिनरी कॉर्ड में होने वाले संक्रमण के कारण होता है, जिसे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) भी कहा जाता है. रिसर्च में यह बात सामने आई है कि यूरीन इंफेक्शन उन लोगों को ज्‍यादा होता है जो स्वच्छता का ख्याल नहीं रखते. आम तौर पर यह गंदे टॉयलेट के प्रयोग से बढ़ता है. आइए जानते हैं कि यूरीन इंफेक्शन से बेचने का घरेलू उपाय क्‍या हैं.

स्वच्छता का रखें ख्याल

यूरीन इंफेक्‍शन की सबसे बड़ी वजह सफाई का अभाव कहा जाता है. कई बार यूरीनरी के आस पास बैक्टीरिया जमा हो जाते हैं और संक्रमण कर देते हैं. ऐसे में खुद को साफ सुथरा रखना बहुत जरूरी है. कभी भी गंदे टॉयलेट में पेशाब के लिए ना जाएं. ज्‍यादातर संक्रमण पब्लिक टॉयलेट में जाने से होता है. ऐसे में पूरी सावधानी बरतें.



पानी ज्यादा पिएं
पानी आपके शरीर में जमा संक्रमण और बैक्टीरिया को फ्लश करता है. आपके शरीर की गंदगी को बाहर करने में पानी का बहुत योगदान होता है. आप जितना पानी पिएंगे उतना ही आपके शरीर से गंदगी बाहर निकलेगी. अगर आपके पेशाब से बदबू, जलन या दर्द जैसे प्रॉब्‍लम लग रहे हैं तो आपको तुरंत पानी की मात्रा बढ़ाने की जरूरत है.

सूती अंडरगार्मेंट का करें प्रयोग

यूरीन इंफेक्शन जैसे संक्रमण से बचाव के लिए सूती कपड़े बहुत काम के होते हैं. यह बैक्टीरिया या वायरस को काफी हद तक रोक सकते हैं.

गरम पानी का लें सेक

जिन लोगों को यूरीन इंफेक्शन या यूटीआई की शिकायत है उन लोगों को गर्म पानी का सेंक लेना चाहिए. इससे सफाई के साथ आराम भी मिलता है.

क्रैनबेरी का जूस फायदेमंद

बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन के एक अध्ययन में कहा गया है कि क्रैनबेरी जूस यूटीआई के खतरे को काफी हद तक कम कर देता है. इसे रोजाना अपनी डाइट में भी शामिल कर सकते हैं.

लहसुन का सेवन

लहसुन का सेवन आपको नियमित रूप से करना चाहिए. इससे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाती है और एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों से भरपूर होने के कारण कई तरह के संक्रमण से बचाती है.

ऐसेंशियल ऑयल का करें इस्तेमाल

ऐसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल आपके यूरीन इंफेक्शन को आसानी से दूर कर सकता है और इसके लक्षण जैसे जलन, दर्द और सूजन को भी कम करता है. अजवायन के तेल का इस्तेमाल यूरीन इंफेक्शन को दूर रखने में मददगार है. लौंग का तेल भी इन संक्रमण से बचाता है. (Disclaimer:इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज