गूगल की नौकरी छोड़ आज जानी-मानी फूड ब्लॉगर बन गई ये लड़की

News18Hindi
Updated: August 19, 2019, 5:40 PM IST
गूगल की नौकरी छोड़ आज जानी-मानी फूड ब्लॉगर बन गई ये लड़की
सीमा गुरनानी उन्हीं लोगों में से एक हैं जिनके सपनों के आड़े उनकी मोटी सैलरी, एक वेल सेटल लाइफ और लग्जरी नहीं आई

सीमा गुरनानी (Seema Gurnani) उन्हीं लोगों में से एक हैं जिनके सपनों के आड़े उनकी मोटी सैलरी, एक वेल सेटल लाइफ और लग्जरी नहीं आई

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2019, 5:40 PM IST
  • Share this:
बालाकृष्ण एम

सपनों का गला घोंटकर रोज दफ़्तर में 9 घंटे बिताना आसान नहीं है. कभी-कभी हम खुद से ही संवाद करते हुए पूछते हैं, क्या तुम्हें यही करना था? तुम ये करने तो अपने घर से इतनी दूर इस नए शहर में नहीं आए थे? उठो! हिम्मत करो और रिज़ाइन कर दो. लेकिन हाथ तभी फ्रिज़ हो जाते हैं जब रेसिजनेशन मेल (Resignation Mail) की सेंड बटन दबानी होती है. हम अपने सपने, अपने मन का काम तो करना चाहते हैं पर रिस्क नहीं लेना चाहते. ये हिम्मत कम लोग ही जुटा पाते हैं, सीमा गुरनानी (Seema Gurnani) उन्हीं कम लोगों में से एक हैं. जिनके सपनों के आड़े उनकी मोटी सैलरी, एक वेल सेटल लाइफ और लग्जरी नहीं आई.

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में जन्मीं चौबीस साल की सीमा गुरनानी गूगल (Google) में काम करती थीं. मोटे पैसे कमाती थीं. पर फैज़ अहमद फैज़ के शब्दों में वो उन खुशकिस्मत लोगों में से नहीं थीं जो अपने काम से आशिकी करते हैं. उन्हें आशिकी खाने से थी. इसलिए एक दिन उठीं, नौकरी छोड़ी और फूड ब्लॉगिंग (Food blogging) में अपना करियर बनाने को तैयार हो गईं.

क्या करती हैं सीमा?

सीमा अलग-अलग जगहों पर जाती हैं और वहां के सबसे बेहतरीन खानपान के स्वाद को आंकती हैं. उनके ब्लॉग से पूरा विश्व खानपान से जुड़े हमारे रिश्तों के बारे में ज्यादा से ज्यादा जान सकता है. धीरे-धीरे उन्होंने अपनी यात्राओं को विस्तार दिया और आज होलिडिफी एक्सप्लोरर अवार्ड्स की दो श्रेणियों में अवार्ड्स जीत चुकी हैं. इनमें एक टॉप वीमेन ट्रेवल इन्फ्लुएंसर और दूसरा टॉप फ़ूड एंड ट्रेवल इन्फ्लुएंसर श्रेणी में दिया गया पुरस्कार है.

यह भी पढ़ें- वजन घटाने में तो सहायक होगा ही स्वादिष्ट भी लगेगा प्रोटीन सलाद

अपने सफल करियर को लेकर सीमा ने न्यूज़ 18 को बताया, 'मैंने लगभग एक साल तक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम किया. फिर मैंने यात्राएं करनी प्रारंभ कर दीं. जिससे मुझे लगा कि यही मेरा जूनून है. बचपन से ही मैं अलग-अलग स्थानों पर जाती रही हूं. इसी वजह से मेरी रुचि जागृत हुई और यह मेरा पूर्णकालिक करियर बन गया. इसके बाद मैंने 'पांडा रीव्यूज' के नाम से अपना ब्लॉग प्रारम्भ किया जिसमें उन स्थानों के बारे में लिखती थी जहां मैं जाती थी.'
Loading...

ब्लॉग पर क्या सूचनाएं उपलब्ध हैं?
विभिन्न जगहों और वहां की परंपराओं के अलावा, वहां पर उपलब्ध बेहतरीन खानपान, उनके रहन सहन, शॉपिंग मॉल, रेस्टॉरेंट, यात्रा में आवश्यक सावधानियां, यात्रा के बारे में सलाहें, वहां कैसे पहुंचे?, कौन सी फ्लाइट ठीक रहेगी? किराए पर कौन सी कार या बाइक लें ? आदि के बारे में भी विस्तार से लिखती हैं.



सीमा ने अब तक राजस्थान, अमृतसर, वाराणसी, ऊटी, ऑरोविले, दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, कोवल्लम, पुडुचेरी, गोवा, मसूरी, मनाली, वाघा बॉर्डर आदि जगहें घूम ली हैं.

कौन पढ़ता है ये ब्लॉग?
वह लोग जिन्हें मेरी तरह यात्राओं में दिलचस्पी है, जानकारी के लिए मेरे ब्लॉग देखते हैं. मेरे ब्लॉग को प्रति माह तकरीबन एक लाख लोग देखते हैं.

आमदनी?
इस पर सीमा जवाब देती हैं, अभी हाल में हम खाने पीने के शौक़ीन लोगों के लिए जोमैटो से एक कांटेस्ट करवा रहे थे. वहीं मैं होटल और रेस्टेरेंट के साथ पार्टनरशिप में ब्लॉग भी लिखती हूं. विश्व के सर्वाधिक प्रतिष्ठित होटलों में से एक के साथ काम भी कर रही हूं. इसके अलावा जैसे-जैसे मेरे ब्लॉग पर पढ़ने वालों की संख्या बढ़ रही है, मेरे ब्लॉग पर चल रहे विज्ञापन भी मेरी आय का स्रोत हैं. कुल मिलाकर अच्छी खासी कमाई हो जाती है.

यह भी पढ़ें- खाना दोबारा गर्म करके खाते हैं हैं तो अब हो जाएं सावधान!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 4:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...