डिलीवरी के बाद नई मां को जरूर खिलाएं गोंद के लड्डू और मखाना, शरीर पर होगा ये असर

गोंद के लड्डुओं और मखाने में ढेर सारा जरूरी प्रोटीन पाया जाता है.

गोंद के लड्डुओं और मखाने में ढेर सारा जरूरी प्रोटीन पाया जाता है.

Gond ke Laddu and Makhana: मां के जरिए शिशु को पोषण मिलता है इसलिए जरूरी है कि मां की डाइट में ऐसी चीजें शामिल की जाएं जो उसके लिए फायदेमंद हो. ऐसे में घर के बड़े बुजुर्ग नई मां को गोंद के लड्डू और मखाना खिलाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 1:46 PM IST
  • Share this:
Gond Ke laddu and Makhana: डिलीवरी के बाद नई मां का शरीर पूरी तरह से कमजोर हो जाता है. ऐसे में अगर उस समय शरीर पर ध्‍यान नहीं दिया गया तो आगे चलकर मां को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है. आपको बता दें कि मां के जरिए शिशु को पोषण मिलता है इसलिए जरूरी है कि मां की डाइट में ऐसी चीजें शामिल की जाएं जो उसके लिए फायदेमंद हो. ऐसे में घर के बड़े बुजुर्ग नई मां को गोंद के लड्डू और मखाना खिलाते हैं. इनके सेवन से शरीर में खोई हुई ताकत दोबारा से आती है और उसे जल्‍दी ठीक होने में मदद मिलती है. प्रसव के बाद और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए इसे खाना क्‍यों जरूरी है आइए आपको बताते हैं.

गोंद और मखाने की खासियत

भारत में गोंद मुख्य रूप से बबूल से प्राप्त होता है. यह पानी में घुलनशील होता है. गोंद का लंबे अरसे से दवा उद्योग में उपयोग किया जाता रहा है. इसके अलावा बेकरी और सौंदर्य उत्पादों, एनर्जी ड्रिंक्स, आइसक्रीम में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है.मखाना भारतीय खाने में अक्सर पाया जाता है और इसकी खासियत ये है कि इसे व्रत में भी खाया जा सकता है और अगर आपको नॉर्मल फिटनेस रूटीन के लिए कोई खास स्नैक बनाना है तो उसमें भी मखाना खाया जा सकता है. मखाना स्वादिष्ट होता है और ये कई अलग-अलग तरह से खाया जा सकता है. न सिर्फ इसमें फाइबर भरपूर होता है बल्कि ये एंटीऑक्सिडेंट प्रॉपर्टीज के साथ आता है.

इसे भी पढ़ेंः कच्चा पनीर खाने के ये हैं 4 बड़े फायदे, कंट्रोल में रहता है वजन
शरीर को मिलती एनर्जी

गोंद के लड्डू और मखाने में ढेर सारी कैलोरी होती है जो कि शरीर को गर्म रखने में मदद करता है. इन लड्डुओं के सेवन से शरीर को एनर्जी मिलती है जो मां को बच्‍चे की देखभाल के लिए जरूरी होता है.

प्रोटीन भी है जरूरी



गोंद के लड्डुओं और मखाने में ढेर सारा जरूरी प्रोटीन पाया जाता है, जो कि मां के शरीर की मासपेशियों को मजबूत और रिपेयर करने में मदद करता है. इसके अलावा अगर आपको काम से थकान होने लगे तो रात में सोने से पहले एक लड्डू जरूर खाएं. इससे शरीर में ताकत आती है.

पीरियड्स के दर्द को करे कम

शिशु के जन्‍म के बाद जब पीरियड्स दोबारा शुरू होता है तो उसके दर्द और एठन को कम करने के लिए गोंद के लड्डू और मखाने दिए जाते हैं. यही नहीं गोंद और मखाने ब्‍लड के फ्लो को भी ठीक करने में मदद करते हैं.

कब्‍ज की समस्या होगी दूर

कब्‍ज एक ऐसी समस्‍या है जो न सिर्फ गर्भवती महिलाओं को बल्‍कि प्रसूता को भी परेशान करता है. ऐसे में अगर आपको कब्‍ज की दिक्‍कत है तो गोंद के लड्डू और मखाना डाइट में जरूर शामिल करें. इससे पेट अच्‍छी तरह से साफ हो जाता है.

तनाव करता है कम

मखाने के सेवन से तनाव दूर होता है और अनिद्रा की समस्या भी दूर रहती है. रात को सोने से पहले दूध के साथ मखानों का सेवन करें और खुद फर्क महसूस करें.

इसे भी पढ़ेंः इन 5 चीजों की मदद से पेट को रखें स्वस्थ, पाचन होगा दुरुस्त

सीमित मात्रा में ही खाएं लड्डू

गोंद के लड्डू वैसे तो शरीर के लिए अच्‍छे होते हैं लेकिन इनका सेवन सीमित मात्रा में ही किया जाना चाहिये. अधिक मात्रा में सेवन करने से आपकी सेहत पर उल्‍टा प्रभाव भी पड़ सकता है. अच्‍छा होगा कि लड्डू का सेवन करने के बाद ढेर सारा पानी पिएं जिससे दुष्प्रभाव न हो.(Disclaimer:इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज