• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • ANUSHKA SHARMA PREGNANT GOOD NEWS COMING TO ANUSHKA VIRAT HOUSE KEEP THESE THINGS IN MIND DURING PREGNANCY PUR

Anushka Sharma Pregnant: अनुष्का-विराट के घर आ रही है खुशखबरी, प्रेग्नेंसी के दौरान रखें इन बातों का ख्याल

विराट कोहली और अनुष्‍का शर्मा ने सोशल मीडिया पर आने वाले नए मेहमान की जानकारी दी

अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) और विराट कोहली (Virat Kohli) ने बताया है कि उन लोगों ने अपने बच्चे की तैयारी कर ली है और अनुष्का प्रेग्नेंट (Pregnant) हैं. इसके साथ ये भी बताया है कि दोनों किस तारीख को मम्मी-पापा (Parents) बनने वाले हैं.

  • Share this:
    बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) पिछले कुछ समय से दिल्ली में अपने पति विराट कोहली (Virat Kohli) के साथ वक्त बिता रही थीं. लॉकडाउन (Lockdown) पीरियड में उन्होंने ज्यादातर वक्त अपने पति विराट के साथ ही बिताया. अब दोनों ने एक तस्वीर (Photo) शेयर करते हुए अपने फैन्स को खुशखबरी दी है. दोनों ने बताया है कि उन लोगों ने अपने बच्चे की तैयारी कर ली है और अनुष्का प्रेग्नेंट (Pregnant) हैं. इसके साथ ये भी बताया है कि दोनों किस तारीख को मम्मी-पापा (Parents) बनने वाले हैं. इस तस्वीर के साथ अनुष्का ने कैप्शन में लिखा- और फिर, हम तीन हो गए! 2021 जनवरी को आ रहा है. आपको बता दें कि प्रेग्नेंसी कंफर्म होते ही लोगों से सलाह मिलने का सिलसिला शुरू हो जाता है. दोस्तों, रिश्तेदारों और इंटरनेट से मिल रही सैंकड़ों सलाह कई बार प्रेग्नेंट महिला की कन्फ्यूजन को बढ़ा देती है. ऐसे में सबसे जरूरी है कि मां बनने वाली महिला को यह पता हो कि उसे कब क्या करना है? आइए आपको बताते हैं कि प्रेग्नेंसी के समय आप कैसे अपना ख्याल रख सकती हैं.

    प्रेग्नेंसी के समय ऐसे रखें अपना ख्याल

    -प्रेग्नेंसी के दौरान मां का शरीर कई तरह के शारीरिक और हॉर्मोनल बदलावों से गुजरता है. इस दौर में होने वाले बदलाव महिलाओं के लिए बिल्कुल नए होते हैं. खाने के टेस्ट और स्किन में भी बदलाव आने लगते हैं. मानसिक रूप से चिड़चिड़ापन भी स्वाभाविक है. इस वक्त पति को खासतौर पर धैर्य रखना चाहिए और पत्नी को हर काम में मदद करनी चाहिए.

    -प्रेग्नेंसी में ज्यादा भीड़भाड़, प्रदूषण और रेडिएशन वाली जगह पर जाने से बचना चाहिए. ऊबड़-खाबड़ रास्तों पर ट्रैवलिंग करने से भी बचें. मॉर्निंग सिकनेस से बचने के लिए नींबू-पानी या अदरक की चाय पी जा सकती है. दिनभर में चार या पांच बार तरल चीजें जैसे छाछ, नींबू-पानी, नारियल पानी, फलों का जूस या शेक पिएं. इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी. इस समय खाने की मात्रा से ज्यादा उसकी क्वॉलिटी पर ध्यान देना जरूरी है.

    - इस समय प्रोटीन, कैल्शियम और आयरन से भरपूर चीजें ज्यादा खानी चाहिए. अपने खाने में दाल, पनीर, अंडा, नॉनवेज, सोयाबीन, दूध, दही, पालक, गुड़, अनार, चना, पोहा, मुरमुरे को जरूर शामिल करें. फल और हरी पत्तेदार सब्जियां भी खूब खाएं. शरीर में पानी की कमी बिल्कुल नहीं होनी चाहिए क्योंकि डिलीवरी के वक्त काफी खून की जरूरत पड़ती है. बच्चा भी फ्लूइड में ही रहता है. हर 2 से 3 घंटों में नियमित मात्रा में कुछ न कुछ जरूर खाते रहें. बच्चे के सही विकास के लिए वजन पर भी कंट्रोल रखें. हालांकि इस समय थोड़ा वजन बढ़ना लाजमी है.

    -बच्चे के मस्तिष्क, तंत्रिका प्रणाली और आंखों के विकास के लिए होने वाली मां को अपनी डाइट में ओमेगा-3 फैटी एसिड के सेवन को भी बढ़ाने की जरूरत होती है. बच्चे के दिमाग के विकास के लिए ओमेगा-3 और ओमेगा-6 बहुत जरूरी होता है. फिश लिवर ऑयल, ड्राइफ्रूट्स, हरी पत्तेदार सब्जियों और सरसों के तेल में यह अच्छी मात्रा में मिलते हैं. इस समय शरीर में खून की कमी बिल्कुल न होने दें.

    -इस दौरान कच्चे मांस, कच्चे अंडे और पनीर के सेवन से पहरेज करें, क्योंकि इनमें मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं. डॉक्टर की सलाह के बिना कोई भी दवा न खाएं. साथ ही शराब और सिगरेट का सेवन बिल्कुल न करें. सिगरेट पीने वालों से भी दूर रहें. शराब गर्भनाल के माध्यम से बच्चे के खून में प्रवेश करके उसके शारीरिक और मानसिक विकास में कई तरह की बाधाएं पैदा कर सकती है.

    इसे भी पढ़ेंः पुदीने की चटनी के इन फायदों के बारे में नहीं जानते होंगे आप, दिमाग से जुड़ा है कनेक्शन

    -तनाव भी आपके गर्भ में पल रहे शिशु के लिए किसी बड़े खतरे से कम नहीं है. गर्भावस्था में कई कारणों के चलते कई महिलाएं तनाव में रहने लगती हैं, जिसका बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ता है. इसलिए गर्भावस्था के दौरान जितना हो सके खुश रहें. अच्छा म्यूजिक सुनें, अच्छी किताबें पढ़ें, अपने आप को व्यस्त रखें और डॉक्टर की सलाह के अनुसार एक्सरसाइज और योग भी करें.



    -प्रेग्नेंसी के दौरान किसी खास चीज को खाने का दिल ज्यादा करने लगता है. ऐसे में किसी एक ही चीज को बार-बार खाने के बजाय बाकी चीजों को भी खाने में शामिल जरूर करें. ज्यादा तला-भुना और मसालेदार खाना न खाएं. इससे गैस और पेट में जलन हो सकती है. जो भी खाएं फ्रेश खाएं. बाहर के खाने से इंफेक्शन होने का खतरा होता है, इसलिए बाहर खाने से बचें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    Published by:Purnima Acharya
    First published: