लाइव टीवी

कहीं आप खुद ही तो नहीं कर रहे अपने रिश्ते को खराब, ये 3 बातें खत्म कर देती हैं प्यार

News18Hindi
Updated: September 19, 2019, 2:12 PM IST
कहीं आप खुद ही तो नहीं कर रहे अपने रिश्ते को खराब, ये 3 बातें खत्म कर देती हैं प्यार
जिम्मेदारियों और उन्हें संभालने के डर से ही बहुत से लोग शादी करने से घबराते हैं और सिंगल रहना पसंद करते हैं.

जिम्मेदारियों और उन्हें संभालने के डर से ही बहुत से लोग शादी करने से घबराते हैं और सिंगल रहना पसंद करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2019, 2:12 PM IST
  • Share this:
शादी करना किसी भी व्यक्ति के जीवन का एक बहुत बड़ा निर्णय होता है और यही कारण है कि व्यक्ति प्यार करने से पहले भले ही न सोचे, लेकिन शादी के बंधन में बंधने से पहले कई बार सोचता है. कहते हैं कि शादी के बाद लोगों की पूरी जिंदगी बदल जाती है. शादी के बाद पार्टनर्स एक अलग तरह की लाइफस्टाइल बिताते हैं. यह बात कुछ हद तक सही भी है क्योंकि शादी के बाद आपको एक अलग स्वभाव के व्यक्ति के साथ रहना होता है.

सिर्फ इतना ही नहीं उसके साथ अपनी चीजों को भी शेयर करना होता है. वहीं जिम्मेदारियों और उन्हें संभालने के डर से ही बहुत से लोग शादी करने से घबराते हैं और सिंगल रहना पसंद करते हैं. दरअसल, उनके मन में शादी को लेकर कई तरह की धारणाएं होती हैं और अपने मन की इन भ्रांतियों के चलते ही वह शादी नहीं करना चाहते. यहां तक कि जो लोग शादी कर भी लेते हैं, उनकी शादीशुदा जिंदगी में परेशानियां आ जाती हैं. आइए आपको बताते हैं ऐसी ही कुछ गलत धारणाओं के बारे में जिनसे आपके रिश्ते को खतरा हो सकता है.

इसे भी पढ़ेंः पहली मुलाकात में लड़कों में ये चीजें ढूंढती हैं लड़कियां, आप भी जान लें

एडजस्टमेंट

कुछ लोगों का मानना है कि शादी का दूसरा नाम एडजस्टमेंट है. दरअसल वह अपनी खुशियों का त्याग नहीं करना चाहते और इसलिए शादी करने से बचते हैं. दरअसल शादी के बाद कुछ जरूरी बाते आपके प्‍यार को बरकरार रख सकती हैं. जब दो लोग एक-दूसरे के साथ रहते हैं तो यकीनन उन्हें कुछ हद तक एडजस्टमेंट करना होता है क्योंकि दोनों व्यक्ति के रहने का तरीका, खानपान व सोच एक जैसी नहीं हो सकती. हालांकि एडजस्टमेंट का अर्थ यह बिल्कुल नहीं है कि आप अपनी खुशियों का त्याग कर दें. एक रिश्ते में दो लोग होते हैं और दोनों की ही खुशी मायने रखती है. शादी के बाद भी आप अपनी पर्सनल आईडेंटिटी को आसानी से बरकरार रख सकते हैं. एडजस्टमेंट दोनों तरफ से होना चाहिए.

लड़ाई और झगड़ा

जब हम किसी शादीशुदा जोड़े को लड़ते हुए देखते हैं तो यही सोचते हैं कि उनके बीच कुछ भी ठीक नहीं है. हालांकि यह धारणा पूरी तरह से गलत है. ऐसा नहीं है कि लड़ाई सिर्फ उन्हीं कपल्स के बीच होती है जिनके आपसी रिश्ते खराब होने लगे हों. कई बार छोटी छोटी बातों पर भी लड़ाई हो जाती है. ऐसे में रिश्ते पर इसका कोई असर नहीं पड़ना चाहिए. कई बार लोग अपने रिलेशन को हैप्पी दिखाने के लिए अपने मन में ही गुस्से व नाराजगी को दबा लेते हैं. इसके कारण भी उनका रिश्ता खराब होने लगता है. ऐसा करना बिल्कुल सही नहीं है. अगर आपको लगता है कि आप किसी बात से अपने पार्टनर से गुस्सा हैं तो इसका इजहार जरूर करें. दरअसल रिश्ते में फीलिंग को एक्सप्रेस करना बेहद जरूरी होता है भले ही प्यार हो या गुस्सा. जब आप खुद को एक्सप्रेस करते हैं तो इससे आपका मन भी हल्का हो जाता है और सामने वाले व्यक्ति को भी आपके मन की बात समझ में आ जाती है.
Loading...

इसे भी पढ़ेंः पति-पत्नी के रिश्ते को कुछ ऐसे बनाएं मजबूत, सम्मान के साथ इन बातों का भी रखें ख्याल

शादी को बोझ समझना

कुछ लोग शादी से सिर्फ इसलिए दूर भागते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि शादी का मतलब एक प्रकार का बोझ होता है. यह धारणा भी बिल्कुल गलत है. यह सच है कि शादी के बाद व्यक्ति को कई नई जिम्मेदारियां उठानी पड़ती हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि यह एक बोझ है. लोगों को यह समझना जरूरी है कि जिस तरह शादी के बाद व्यक्ति की जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं, ठीक उसी तरह आपकी परेशानियों को साझा करने के लिए भी आपको एक पार्टनर मिल जाता है जो हर अच्छे-बुरे वक्त में आपके साथ होता है. इस तरह परेशानियां आपको कभी भी मानसिक रूप से तोड़ नहीं पातीं क्योंकि आपका जीवनसाथी आपके साथ है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिश्ते से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 2:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...