Home /News /lifestyle /

विंटर में नन्‍हें बच्चों को खास देखभाल की पड़ती है जरूरत, इन ज़रूरी बातों का रखें ख्‍याल

विंटर में नन्‍हें बच्चों को खास देखभाल की पड़ती है जरूरत, इन ज़रूरी बातों का रखें ख्‍याल

बच्चे को कुछ देर सुबह के समय सन बाथ जरूर कराएं. Image : Pixabay

बच्चे को कुछ देर सुबह के समय सन बाथ जरूर कराएं. Image : Pixabay

Baby Care In Winter : विंटर (Winter) में नन्‍हें शिशुओं (Infants) को सर्दी, जुकाम, बुखार आदि की समस्याएं लगी रहती हैं. ऐसे में सर्दियों में बच्चों का खास ख्‍याल (Baby Care) रखना बहुत जरूरी होता है. बदलते मौसम में एडजस्‍ट करने और तापमान में लगातार उतार-चढ़ाव से उनके शरीर को एडजस्‍ट करने में समय लगता है इसलिए भी बच्चों का सर्दी के मौसम में खास देखभाल की जरुरत पड़ती है. इस मौसम में सर्द हवाओं और गर्म कपड़ों के कारण बच्चों की स्किन बहुत ज्‍यादा ड्राई हो जाती हैं, जिसकी वजह से त्वचा पर एलर्जी और रैशेज आने लगते हैं. वहीं, ज्यादा कपड़े पहनने की वजह से वह घुटन महसूस करने लगते हैं और इरिटेट होकर रोने लगते हैं. यहां हम आपको कुछ ऐसे टिप्स (Tips) दे रहे हैं जिनकी मदद से नए पेरेंट्स अपने बच्चे का खास ख्याल रख सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    Baby Care In Winter : विंटर (Winter) के मौसम में बच्‍चों को खास देखभाल (Baby Care) की जरूरत होती है. विंटर आते ही कई पेरेंट्स अपने बच्‍चों को नहलाना बंद कर देते हैं. लेकिन बड़ों की तरह बच्चों को भी रोज सफाई (Cleaning) की जरूरत होती है.उन्हें नियमित रूप से नहलाने के कई फायदे होते हैं. नहाने से स्किन के पोर्स क्‍लीन होते हैं और स्किन नरिश भी रहती है. ऐसे में बच्‍चों को गुनगुने पानी से जरूर नहलाएं लेकिन बंद कमरे के अंदर ही नहलाएं. आप अगर रोज नहीं नहलाना चाहते हैं तो उन्‍हें गुनगुने पानी में तौलिया निचोड़कर पोछ भी सकते है.

    विंटर में बच्‍चों का इस तरह रखें ख्‍याल

    1.तेल लगाना जरूरी

    नहाने से पहले और रात के समय बच्‍चों की किसी अच्‍छे तेल से मालिश करें. ऐसा करने से बच्‍चें की स्किन ड्राई नही होती और नरिश बनी रहती है. तेल मालिश से बच्‍चों का ब्‍लड सर्कुलेशन अच्‍छा रहता है औैर बोन्‍स मजबूत होते हैं. नहलाने के बाद पूरी बॉडी में मॉश्चराइजिंग क्रीम भी जरूर लगाएं.

    2.रात में इस बात का रखें ख्‍याल

    रात में बच्चे के ऊपर भारी कंबल या रज़ाई न डालें. इसकी बजाय आप कमरे को गर्म रखने की कोशिश कर सकते हैं या फिर हल्का कंबल ओढ़ा सकते हैं.

    3.पेट दर्द हो तो ये करें

    अगर बच्चे का पेट दर्द हो रहा है या फिर पेट साफ नहीं हो रहा है तो उसे दवाओं के बदले ग्राइप वॉटर दें या पेट में सेक लगाएं. आप डॉक्‍टर की सलाह ले सकते हैं.

    4.सीजनल चीजें खिलाएं

    बच्चे को मौसम की हिसाब से फल और सब्ज़ियां आदि जरूर खिलाएं. इससे उन्हें सर्दी में बीमारियों से लड़ने की ताक़त मिल सकती है और उनका इम्‍यूनिटी भी स्‍ट्रॉन्‍ग रहती है. इसके अलावा, अगर बच्चा बड़ा हो गया है तो उसे रोज़ाना बादाम, काजू, किशमिश भी खिलाएं.

    5.पोषण का रखें खयाल

    बच्चे को रोज़ अंडा, दूध, दही, अनाज, सूप, दाल आदि खिलाएं. इससे आपके बच्चे का शरीर गर्म रहेगा और पेट भी साफ रहेगा.

    6.एयर प्यूरीफायर का करें इस्तेमाल

    प्रदूषण और धुएं से बच्‍चों को बचाना बहुत जरूरी है. इसके लिए आप विंटर में एयर प्‍यूरीफायर का इस्‍तेमाल करें.

    7.मोजा जरूरी

    शिशु भले ही सारे समय बिस्तर पर लेटे रहते हो और जमीन पर पैर नहीं रखते हैं, फिर भी उन्हें तलवों से ठंड लग सकती है. इसलिए शिशु को मोजा पहनाना या पैरों की तरफ कपड़ा लपेटना जरूरी है. आप उन्हें मोजे भी पहना सकते हैं.

    8.धूप जरूरी

    धूप अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी है. अपने बच्चे को कुछ देर सुबह के समय सन बाथ जरूर कराएं. इससे उनको ताजी हवा के साथ विटामिन डी भरपूर मिलेगा. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Baby Care, Lifestyle, Parenting tips, Winter

    अगली ख़बर