• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • प्रेग्नेंसी में केला खाना है फायदेमंद, जानें कैसे करता है महिलाओं की मदद

प्रेग्नेंसी में केला खाना है फायदेमंद, जानें कैसे करता है महिलाओं की मदद

प्रेग्नेंसी के दौरान केले को डाइट में करें शामिल. Image Credit : Pixabay

प्रेग्नेंसी के दौरान केले को डाइट में करें शामिल. Image Credit : Pixabay

Banana In Pregnancy: केले में कार्बोहाइड्रेट और शर्करा की मात्रा अधिक होती है, जो थकान महसूस होने पर एनर्जी (Energy) को बढ़ावा दे सकता है.

  • Share this:

    Banana In Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत से फल और सब्ज़ियां खानी चाहिए ये स्वास्थ्य के लिए अच्छी मानी जाती हैं. इस दौरान मानसिक और शारीरिक कई परिवर्तन होते हैं. ऐसे में अगर केले(Banana) को डाइट में शामिल किया जाए तो कई फायदे हो सकते हैं.

    मतली और मॉर्निंग सिकनेस को करें कम
    केले  विटामिन बी , विशेष रूप से विटामिन बी 6 से भरपूर होते हैं .यह विटामिन मतली और उल्टी से जूझ रही गर्भवती महिलाओं द्वारा ली जाने वाली अधिकांश मतली-रोधी दवाओं में होता है. अगर  मॉर्निंग सिकनेस को कम करना है, तो डाइट में एक या दो  केला को शामिल करने से काफी फायदा हो सकता है.

    गर्भावस्था के एनीमिया में मदद करें
    कई गर्भवती महिलाएं आयरन के निम्न स्तर या एनीमिया से जूझती हैं. केला खाने से आयरन के स्तर को बढ़ाने में मदद मिल सकती है. हालांकि, आयरन टैबलेट लेना भी आवश्यक होता है.  अगर आपको कमजोरी लग रही है  तो अपने डॉक्टर से बात करें.

    फॉलिक एसिड
    फॉलिक एसिड लेना इस दौरान बेहद जरूरी है. यह एक बच्चे के विकास  के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है. जबकि सभी गर्भवती महिला को फोलिक एसिड विटामिन लेना चाहिए.

    पाचन में मदद
    केले में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो अच्छे पाचन के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है. आपके आहार में अतिरिक्त फाइबर आपको नियमित मल त्याग करने और कब्ज से बचने में मदद कर सकता है. क्योंकि कब्ज की शिकायत गर्भावस्था के दौरान आम है. केला खाने से पेट साफ होगा और पाचन तंत्र भी सही रहेगा.

    यह भी पढ़ें: ऑक्सीजन से भरपूर हैं ये फल और सब्जियां, जरूर करें डाइट में शामिल

    बच्चे के मस्तिष्क के विकास में सहायता
    विटामिन बी6, आयरन और फोलिक एसिड सभी महत्वपूर्ण पोषक तत्व हैं. जो एक बच्चे के स्वस्थ मस्तिष्क के विकास के लिए आवश्यक होते हैं। केले में ये सभी पोषक तत्व होते हैं. 

    मूड स्विंग करेगा कम
    जब आप गर्भवती हों तो नाराज़गी, गुस्सा मूड स्विंग आम बात है.  केला आपके पेट और अन्नप्रणाली में अम्लता के स्तर को नीचे रखने में मदद करता है, जो मूड स्विंग को कम करने में मदद करता है.

    यह भी पढ़ें:स्किन को यंग बनाए रखने के लिए जरूरी है खुश रहना, जानिए कैसे

    आपको देगा एनर्जी
    केले में कार्बोहाइड्रेट और शर्करा की मात्रा अधिक होती है, जो थकान महसूस होने पर एनर्जी को  बढ़ावा दे सकता है. 

    रक्तचाप को स्थिर करने में करता है मदद
    केले में पोटेशियम की उच्च मात्रा में होता है. पोटेशियम एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है, जिसका उपयोग आपका शरीर स्वस्थ रक्तचाप को बनाए रखने के लिए करता है. नियमित रूप से केला खाने से गर्भावस्था के दौरान आपके रक्तचाप में बहुत अधिक उतार-चढ़ाव से बचने में मदद मिल सकती है.अगर आपको डायबिटीज नहीं है तो दिन में 1-2 केले खाने से आपको और आपके बच्चे को आपको स्वस्थ रखने के लिए कई आवश्यक विटामिन और खनिज मिलते हैं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज