Basant Panchmi 2019: बसंत पंचमी पर पीला रंग पहनना क्‍यों होता है शुभ,जानिए इसका महत्‍व

इसलिए मां सरस्‍वती का पूजन करते वक्‍त पहने जाते हैं पीले रंग के वस्‍त्र.

News18Hindi
Updated: February 10, 2019, 11:13 AM IST
Basant Panchmi 2019: बसंत पंचमी पर पीला रंग पहनना क्‍यों होता है शुभ,जानिए इसका महत्‍व
Basant Panchmi 2019: बसंत पंचमी पर क्‍यों पहने जाते हैं पीले कपड़े, जानिए महत्‍व
News18Hindi
Updated: February 10, 2019, 11:13 AM IST
आज पूरे देश में बसंत पंचमी का त्‍योहार मनाया जा रहा है. सभी लोग अपने-अपने घरों में ज्ञान की देवी यानी कि मां सरस्‍वती की पूजा-अर्चना कर रहे हैं. इस दिन स्कूलों, शिक्षण संस्थानों और मंदिरों में खासतौर पर मां सरस्वती की प्रतिमा को पीले रंग के वस्त्रों और आभूषणों से सजाया गया है. वहीं मां की आराधना करने वाले लोग भी पीले रंग के कपड़े पहनकर पूजन कर रहे हैं. मगर क्‍या आप जानते हैं इस दिन पीले रंग के कपड़े ही क्‍यों पहने जाते हैं? क्‍यों होता है इस दिन ये रंग पहनना शुभ.आइए जानते हैं.

दरअसल इसके पीछे महत्‍वपूर्ण कारण हैं. पहला तो ये है कि बसंत पंचमी के दिन सूर्य उत्तरायण होता है. इस दौरान धरती पर पड़ने वाली सूर्य की पीली किरणें हमें सूर्य की तरह गंभीर और ओजस्वी बनने का संकेत देती हैं.उत्तरायण के दौरान सूर्य की इन पीली किरणों के कारण भी बसंत पंचमी पर पीले रंग का बहुत महत्व होता है. इसलिए इस दिन स्त्री पुरुष और विद्यार्थी पीले रंग का वस्त्र पहनकर विद्या की देवी मां सरस्वती की आराधना करते हैं.

शादी के पहले साल दुल्हन करे ये काम, तो बढ़ सकती है पति की परेशानी! 



इसके अलावा पीले रंग को वसंत का प्रतीक माना जाता है. वसंत ऋतु एक ऐसी ऋतु है जो सभी मौसमों और सभी ऋतुओं में सबसे बड़ी है. इस मौसम में न तो अधिक तेज धूप महसूस होती है, ना ही सर्दी और ना ही गर्मी और ना ही बारिश. बसंत ऋतु को गुलाबी ठंड का मौसम कहा जाता है. इसलिए यह मौसम मौसम बहुत सुखद होता है.

इस मौसम में चारों तरफ पीली सरसों के फूलों से लहलहाते खेत दिखायी देते हैं, जो मन में ऊर्जा भर देते हैं. इसके साथ ही बसंत ऋतु का आगमन होने पर आम के पेड़ों में बौर आने लगते हैं और अन्य पेड़ों में नयी ताजी पत्तियां और फूल आने लगते हैं. यही कारण है कि बसंत ऋतु या बसंत पंचमी पर इस रंग का खास महत्व होता है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर