लाइव टीवी

रोजाना दूध पीने की है आदत तो हो जाएं सावधान, महिलाओं को हो सकता है ब्रेस्ट कैंसर!

News18Hindi
Updated: February 28, 2020, 5:01 PM IST
रोजाना दूध पीने की है आदत तो हो जाएं सावधान, महिलाओं को हो सकता है ब्रेस्ट कैंसर!
हर दिन दूध पीने से या फिर दूध में कोई ऐसा तत्व मौजूद है जिस वजह से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कई गुना तक बढ़ जाता है.

एक रिसर्च में सामने आया है कि नियमित रूप से रोजाना दूध पीने से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 80 फीसदी तक बढ़ जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 5:01 PM IST
  • Share this:
कई लोगों को दूध पीना बहुत अच्छा लगता है. कुछ लोगों को बिना दूध पिए रात में नींद तक नहीं आती लेकिन अब दूध पीने वालों के लिए एक बुरी खबर सामने आई है. ये खबर खास तौर पर उन महिलाओं के लिए है जिन्हें दूध पीना बहुत पसंद है. दूध को सबसे हेल्दी फूड माना जाता है. बचपन से ही पैरेंट्स बच्चों को हे्ल्दी होने के नाम पर खूब सारा दूध पिलाते हैं. दूध में कैल्शियम बहुत अधिक मात्रा में मौजूद होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है लेकिन अब वह दूध कैंसर की वजह भी बन रहा है. एक रिसर्च में सामने आया है कि नियमित रूप से रोजाना दूध पीने से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 80 फीसदी तक बढ़ जाता है.

इसे भी पढ़ेंः क्या आपको पता है कौन सा है दही खाने का सही समय, कैसे मिलता है फायदा

रोज दूध पीने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 80 प्रतिशत
अमेरिका की कैलिफॉर्निया स्थित लोमा लिंडा यूनिवर्सिटी में हुए इस रिसर्च के अनुसंधानकर्ताओं ने कुछ डराने वाले खुलासे किए हैं. उनके मुताबिक हर दिन सिर्फ 1 कप यानी करीब 250ml दूध पीने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 50 फीसदी तक बढ़ सकता है. वहीं जो महिलाएं दिन में 2 से 3 कप दूध पीती हैं उन्हें ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा 70 से 80 प्रतिशत तक बढ़ जाता है. स्टडी के ऑथर गैरी ई फ्रेजर का कहना है कि उनके पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि हर दिन दूध पीने से या फिर दूध में कोई ऐसा तत्व मौजूद है जिस वजह से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कई गुना तक बढ़ जाता है.



महिलाओं की डाइट पर नजर रखी गई
इस रिसर्च के नतीजों को इंटरनैशनल जर्नल ऑफ इपिडेमोलॉजी में प्रकाशित किया गया है. इस रिसर्च में नॉर्थ अमेरिका की 53 हजार महिलाओं को शामिल किया गया था. इसमें उनकी डाइट से जुड़ी रोजाना की आदतों पर करीब 8 साल तक पैनी नजर रखी गई थी. ये सभी महिलाएं रिसर्च का हिस्सा बनने से पहले पूरी तरह से कैंसर फ्री थीं. रिसर्च के दौरान इन महिलाओं से उनकी डाइट और खानपान की आदतों को लेकर कई सवाल पूछे गए थे. इसके अलावा भी कई सवाल पूछे गए जैसे- ब्रेस्ट कैंसर की फैमिली हिस्ट्री है या नहीं, दिनभर में कितनी फिजिकल एक्टिविटी होती है, अल्कोहल का सेवन कितना करती हैं, हॉर्मोन्स से जुड़ी कोई समस्या है या नहीं, किसी और तरह की दवा तो नहीं खा रही हैं और प्रजनन और गाइनैकॉलजी से जुड़ी परेशानियां हैं या नहीं.

ब्रेस्ट कैंसर के करीब 1100 नए मामले
हालांकि इस रिसर्च में सिर्फ निरीक्षण किया गया था और स्टडी में दूध पीने से कैंसर क्यों होता है इस बात का कारण साबित नहीं हो पाया है. वैसे वैज्ञानिकों की मानें तो गाय के दूध में मौजूद एक तरह के हॉर्मोन को इसके लिए जिम्मेदार माना जा सकता है. इस स्टडी के खत्म होते होते रिसर्च में शामिल महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर के करीब 1100 नए मामले सामने आ चुके थे. फुल फैट मिल्क, लो फैट मिल्क और नो फैट मिल्क, तीनों ही तरह के दूध का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ने की बात सामने आई थी.

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों के बारे में पूरी जानकारी
आपको बता दें कि ब्रेस्ट कैंसर आज महिलाओं में होने वाला दूसरा सबसे आम कैंसर बन गया है. आंकड़ों के मुताबिक, भारत में हर 8 में से 1 महिला ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित है. इसलिए इस कैंसर के परीक्षण के लिए सही समय पर जांच करवाना जरूरी होता है. जांच के अलावा ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों के बारे में भी पूरी जानकारी होनी चाहिए. नैशनल ब्रेस्ट कैंसर फाउंडेशन के अनुसार, अल्कोहल का सेवन, स्मोकिंग और जंक फूड खाना कुछ ऐसे कारक हैं जिनके चलते महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से हो रहा है. आइए आपको बताते हैं ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों के बारे में.

इसे भी पढ़ेंः क्या आपको भी है कोल्ड ड्रिंक पीने की आदत? तुरंत संभल जाएं

ब्रेस्ट कैंसर के इन लक्षणों की कभी न करें अनदेखी

  • स्किन के टेक्सचर और रंग में बदलाव

  • निप्पल की स्किन उतरने लगे या पपड़ी जम जाए

  • ब्रेस्ट सिकुड़ जाए या उसमें गड्ढा बन जाए

  • एक या दोनों ब्रेस्ट की शेप या साइज बदल जाए

  • ब्रेस्ट मिल्क के अलावा किसी और तरह का डिस्चार्ज होने लगे

  • ब्रेस्ट में सूजन आ जाए या फिर लगातार खुजली हो

  • नियमित रूप से ब्रेस्ट की जांच करवाएं


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2020, 5:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर