लाइव टीवी

बच्चे को ब्रेस्टफीड कराने से पहले और बाद में महिलाएं जरूर रखें इन बातों का ख्याल

News18Hindi
Updated: November 27, 2019, 12:04 PM IST
बच्चे को ब्रेस्टफीड कराने से पहले और बाद में महिलाएं जरूर रखें इन बातों का ख्याल
महिलाओं को ब्रेस्‍टफीडिंग करने के पहले और बाद में कई बातों का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है.

ब्रेस्‍टफीडिंग करवाना बच्चे और मां दोनों के स्‍वास्‍थ्‍य लिए बहुत लाभदायक होता है. ब्रेस्टफीडिंग करवाने से महिला को ब्रेस्ट से जुड़ी विभिन्न बीमारियों का खतरा काफी कम हो जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2019, 12:04 PM IST
  • Share this:
मां का दूध बच्चे के लिए अमृत समान होता है. यह दूध नवजात को कई प्रकार की बीमारियों से बचाता है. हालांकि महिलाओं को ब्रेस्‍टफीडिंग करने के पहले और बाद में कई बातों का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है. आपको बता दें कि ब्रेस्‍टफीडिंग करवाना बच्चे और मां दोनों के स्‍वास्‍थ्‍य लिए बहुत लाभदायक होता है. ब्रेस्टफीडिंग करवाने से महिला को ब्रेस्ट से जुड़ी विभिन्न बीमारियों का खतरा काफी कम हो जाता है.

इसे भी पढ़ेंः डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में आते हैं ये बदलाव, जान लें ये जरूरी बात

वहीं नवजात को मां के दूध से कई प्रकार के पौष्टिक तत्व मिलते हैं जिससे वह बाहरी इंफेक्शनों से बच जाता है. कई महिलाएं अपने बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग नहीं करवातीं. दरअसल उन्हें लगता है कि इससे उनके ब्रेस्ट का आकार खराब हो जाएगा लेकिन यदि आप ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इन बातों का ध्यान रखेंगी तो आपको ऐसी किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा. आइए बताते हैं कौन सी हैं वो बातें.

ब्रेस्टफीडिंग करवाते समय इन बातों का रखें ख्याल

डिलीवरी के बाद मां को बहुत टाइट ब्रा बिल्कुल नहीं पहननी चाहिए. इससे बच्चे को दूध पिलाने में बहुत परेशानी होगी. साथ ही ब्रेस्ट पर पसीने की वजह से रैशज हो सकते हैं. खुजली की समस्या भी सामने आ सकती है. इसके लिए कंफर्टेबल ब्रा पहनना चाहिए. कॉटन की ब्रा का ही उपयोग करें. ऐसे कपड़े पहने जिससे बच्चे को दूध ब्रेस्टफीडिंग कराना आसान हो.

ब्रेस्ट को बेबी वाइप से साफ करें
बच्चे को दूध पिलाने के बाद ब्रेस्ट को बेबी वाइप से पोछना चाहिए. इसके अलावा ब्रेस्ट को नारियल तेल और बेबी लोशन से मसाज करने से वह ढीले नहीं होते. ब्रेस्ट को हल्के हाथों से मसाज करें, उन पर ज्यादा जोर न दें. ब्रेस्ट में अगर चोट लग जाए तो उसके जलन या खुजली को मिटाने के लिए आप घर में बनी घी का इस्तेमाल कर सकती हैं.
Loading...

बच्चे को सही से दूध पीलाना सिखाएं
आप अपने ब्रेस्ट के बालों को हेयर रिमूविंग क्रीम से खुद साफ कर लें क्योंकि बच्चों को दूध पीते वक्त ब्रेस्ट क ये बाल तंग करते हैं और वह परेशान होते हैं. ब्रेस्टफीडिंग लगभग 6 महीने के बाद भी चलती रहती है, उस वक्त तक बच्चों के थोड़े दांत भी निकल जाते हैं. इस समय वह ब्रेस्ट पर अपने दांत भी चला देते हैं. बच्चे को सही से दूध पीलाना सिखाएं.

इसे भी पढ़ेंः शरीर के इन अंगों को छूने से पहले 10 बार सोच लें, एक गलती पड़ सकती है भारी

ब्रेस्ट पर फेसमास्क लगाएं
ब्रेस्ट में शहद लगा दें जिससे बच्चे अपना मुंह कहीं और न ले जाएं. ब्रेस्टफीडिंग के कारण ब्रेस्ट लटक न जाएं इसके लिए उन पर खास फेसमास्क लगाएं और जब वह सूख जाए तब अच्छे से धे लें. ब्रेस्ट को शेप में रखने के लिए इलास्टिक सूती टी शर्ट वाले कपड़े कैरी करें.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 12:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...