Home /News /lifestyle /

तेल मालिश के हैं कई फायदे, ब्‍लड सर्कुलेशन बेहतर करने के साथ स्किन को भी रखती है हेल्‍दी

तेल मालिश के हैं कई फायदे, ब्‍लड सर्कुलेशन बेहतर करने के साथ स्किन को भी रखती है हेल्‍दी

तिल का तेल अल्ट्रावायलेट किरणों से प्रोटेक्‍शन देता है.  Image: shutterstock

तिल का तेल अल्ट्रावायलेट किरणों से प्रोटेक्‍शन देता है. Image: shutterstock

Benefits Of Oil Massage: अगर आप रोज तेल (Oil Massage) मालिश करें तो इससे आपकी स्किन (Skin) में शाइन तो आएगी ही, यह आपकी बोन्‍स (Bones) के लिए भी काफी फायदेमंद होता है.

    Benefits Of Oil Massage: बचपन से हम सुनते आए हैं कि तेल मालिश के ढेर सारे फायदे होते हैं. खासकर बच्‍चों के लिए तो ये बहुत ही जरूरी माना जाता है. लेकिन अगर आप लाइफ टाइम तेल से मालिश (Oil Massage) करते हैं तो इससे आपकी सेहत और खूबसूरती दोनों ही बनी रहती है. इससे त्वचा में आई खुश्की दूर होती है और त्वचा (Skin) की झुर्रियां दूर होती हैं. अगर रेग्‍युलर तेल मालिश किया जाए तो ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है और शरीर की नस-नाड़ियों को ताकत मिलती है. अगर आपकी मांसपेशियां कमजोर हो गई हैं तो आपको जरूर तेल मालिश करनी चाहिए. यही नहीं, अगर आप थका-थका महसूस करते हैं तो आप तेल मालिश जरूर कराएं. ऐसा करने से शरीर में ताकत महसूस होती है और हड्डियों में मजबूती आती है.

    इसे भी पढ़ें : हेयर कलरिंग से पहले इन 5 बातों का रखें ख्याल, बाल दिखेंगे सिल्‍की और खूबसूरत

    अलग-अलग तेलों के फायदे

    1. सरसों का तेल

    अगर आप सरसों तेल से मालिश कराते हैं तो ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है. यह त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद है और इसके नियमित प्रयोग से स्किन पर निखार आता है. यह मांसपेशियों का तनाव दूर करने में भी काफी लाभदाय है. अगर आप हल्‍की धूप में सरसों के तेल की मालिश करें तो इससे शरीर में सनलाइट से मिलने वाले विटामिन-डी को ऑब्‍जर्ब करने में मदद मिलती है. सरसों के तेल से पसीने वाले ग्लैंड्स सक्रिय होते हैं जिससे बॉडी डीटॉक्‍स करने में मदद मिलती है. त्वचा के संक्रमण से भी यह बचाता है.

    2. तिल का तेल

    तिल के तेल में अल्ट्रावायलेट किरणों से प्रोटेक्‍शन का गुण होता है जिससे एजिंग की समस्‍या नहीं होती. यह प्रदूषण से भी स्किन को प्रोटेक्‍शन देती है. इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है जो एक्ने से बचाता है. तिल के तेल में कॉपर, मैगनीज, कैल्शियम और मैग्नीशियम भरपूर होते हैं. इसके अलावा इसमें एंटी- ऑक्सिडेंट तत्व भी होते हैं जो त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करते हैं. इसमें विटामिन ई, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और विटामिन डी होते हैं जो शरीर के बेहतर विकास के लिए बहुत जरूरी है.

    इसे भी पढ़ें: कमर के मोटापे की वजह से साड़ी पहनने से कतराती हैं? अपनाएं साड़ी स्‍टाइलिंग का ये तरीका

    3. अतिबला यानी खरैटी का तेल

    नर्वस सिस्टम के विकार, जोड़ों के दर्द, मांसपेशियों में जकड़न, लंबी बीमारी के बाद की कमजोरी और चेहरे के लकवे को ठीक करने में अतिबला का तेल आयुर्वेद में प्रयोग किया जाता है.

    4. नारियल का तेल

    नारियल तेल त्वचा के लिए नैचुरल मॉइश्चराइजर का काम करता है, यह मृत त्वचा (डेड स्किन) को हटाकर रंग निखारता है. यह त्वचा रोग, डर्मेटाइटिस, एक्जिमा और स्किन बर्न में भी काफी उपयोगी है. नारियल तेल से सिर्फ पांच मिनट तक मसाज करने से न सिर्फ रक्त संचार में वृद्धि होती है, बल्कि खो चुके पोषक तत्वों की भी भरपाई करता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Health benefit, Home Remedies, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर