गर्मी में जूते की बजाय पहनें चप्पल, फ्लोटर और सैंडल, बचे रहेंगे कई दिक्कतों से

गर्मी में  पहने चप्पल बचे रहेंगे इन्फेक्शन से-Image credit/pexels-isa-g

गर्मी में पहने चप्पल बचे रहेंगे इन्फेक्शन से-Image credit/pexels-isa-g

गर्मी के दिनों में जूते (Shoes) पहनने से कोई ख़ास आराम तो मिलता नहीं है बल्कि कई तरह की परेशानियों (Problems) का सामना करना पड़ जाता है. ऐसे में चप्पल, फ्लोटर और सैंडिल आपको कई दिक्कतों से निजात (Riddance) दिलाते हैं.

  • Share this:
बहुत सारे लोग गर्मी के मौसम में भी जूते (Shoes) पहनना ही पसंद करते हैं. भले ही जूते पहनने के चलते उनको कितनी ही दिक्कतों का सामना क्यों ना करना पड़ जाए. उनको लगता है कि जूता पहनने से स्टैंडर्ड हाई होता है और चप्पल, फ्लोटर या सैंडल पहनने से उनका स्टैंडर्ड लो हो सकता है लेकिन दौर बदल रहा है. चप्पल हों या सैंडल या फ्लोटर, सभी अब लेटेस्ट डिजाइन्स और बहुत सारे कलर्स में बाज़ार में मौजूद हैं. इसी वजह से अब लोग इनको शौक (Interest) के साथ खूब कैरी करने लगे हैं. वो भी जींस, कैपरी, बरमूडा, टी-शर्ट, गाउन, सलवार सूट, लैगिंग, प्लाजो और स्कर्ट जैसी हर ड्रेस के साथ. केवल पिकनिक और शॉपिंग के लिए ही नहीं बल्कि ऑफिस जाने के लिए भी बहुत सारे युवा फिर चाहें मेल हों या फीमेल इनका सहारा लेने लगे हैं. गर्मी के मौसम में चप्पल, फ्लोटर या सैंडल को कैरी करना आरामदायक (Comfortable) तो है ही, इनको पहन कर आप कई तरह की दिक्कतों से भी बचे रह सकते हैं.

पहनने और उतारने में आसानी

कोरोना का दौर अभी जारी है, ऐसे में अगर आप किसी के घर जाते हैं तो वो व्यक्ति ये बिल्कुल नहीं चाहेगा कि आप जूते पहनकर उनके घर के अंदर प्रवेश करें. लेकिन जूते उतारने और पहनने की दिक्कत से बचने के लिए कई बार लोग जूते पहनकर ही घर के अंदर दाखिल हो जाते है. शिष्टाचार के चलते लोग आपको ऐसा करने से मना तो नहीं कर पाते लेकिन उनको बुरा ज़रूर फील होता है. ऐसे में अगर आप चप्पल, फ्लोटर या सैंडिल का सहारा लेते हैं तो इनको उतारना और पहनना आसान होगा.

ये भी पढ़ें: गर्मी के मौसम में स्टाइलिश दिखने के लिए लड़कियां फ़ॉलो करें ये टिप्स
 इन्फेक्शन का खतरा होगा कम


गर्मी के मौसम में जूते पहनने पर पैरों में पसीना आता है. साथ ही इसको दिन भर पहने रहने से पैरों में हवा भी नहीं लगती है जिससे इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है. चप्पल, फ्लोटर या सैंडिल पहनने की स्थिति में आप जब चाहें अपने पैरों को पानी से धो भी सकते हैं, जिससे गर्मी और इन्फेक्शन दोनों चीज़ों से राहत मिलेगी.

ये भी पढ़ें: उम्र 25 की हो या 50 की, कुर्ता भी देता है किलर लुक, फेस्टिव सीज़न के लिए भी है बेस्ट



 मिलता है आराम


चप्पल, फ्लोटर या सैंडिल पहनने से पैरों को आराम तो मिलता ही है, चलने-फिरने में भी परेशानी नहीं होती है. अगर एक्यूप्रैशर के ज़रिये आप अपने सर दर्द या पैरों के दर्द का इलाज करना चाहती हैं तो बाज़ार में आपको लेटेस्ट डिजाइन और ब्राइट कलर्स के साथ एक्यूप्रैशर चप्पलें भी मिल जाएंगी. ये आपको चलते-फिरते हुए एक्यूप्रैशर थैरेपी के ज़रिये दर्द से राहत देंगी. एक्यूप्रैशर चप्पलें पहनने से तलवों के खास बिंदुओं पर प्रेशर पड़ता है जिससे दर्द में राहत मिलती है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज