इतना भी कड़वा नहीं होता करेला, जानिए क्या हैं इसके गुण

भारत में करेला अलग-अलग ढंग से खाया जाता है.

भारत में करेला अलग-अलग ढंग से खाया जाता है.

आयुर्वेद में करेले (Bitter Gourd) के काफी फायदे बताए गए हैं. यही वजह है कि ज्यादातर लोग इसे बीमारियों से दूर रहने के लिए खाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 1:16 PM IST
  • Share this:
(विवेक कुमार पांडेय)

करेला (Bitter melon) का नाम लेते ही ज्यादातर लोगों की भौंहें सिकुड़ जाती हैं. हालांकि मैं कुछ ऐसे लोगों को भी जानता हूं, जिन्हें करेला (Bitter Gourd) बहुत पसंद है. लेकिन इसे ज्यादातर लोग बीमारियों से दूर रहने के लिए लोग खाते हैं. सबसे खास बात यह है कि करेला अपने गुणों के कारण सब्जी और फल दोनों कैटेगरीज में आता है.

करेले का इतिहास
करेले को लेकर फूड हिस्ट्री में बहुत ज्यादा तथ्य मौजूद नहीं हैं, लेकिन ज्यादातर लोग मानते हैं कि इसका ओरिजिन भारत में हुआ था. यानी करेला एक शुद्ध रूप से भारतीय खाना है. कुछ लोग यह भी कहते हैं कि सदर्न चाइना में भी करेला काफी समय से इस्तेमाल किया जाता रहा है. आज की तारीख में करेले का इस्तेमाल दुनिया के लगभग हर क्षेत्र में होता है. भारत में भी करेला हर इलाके में खाया जाता है.
ये भी पढ़ें - लॉकडाउन में अगर आप हो गए हैं 'मोटे', तो ऐसे करें वेट लॉस



दो तरह के करेले दुनिया में मशहूर हैं
आम तौर पर दुनिया में दो तरह के करेले मशहूर हैं, एक भारत का और दूसरा चाइना का. चाइना के करेले की उपरी सतह कम खुरदरी होती है. साथ ही यह हल्के हरे रंग का होता है, लेकिन भारत के करेले इसके उटल बहुत ज्यादा हरे रंग के होते हैं. साथ ही इनकी बाहरी परत लगभग नुकीली होती है. करेला वैज्ञानिक ढंग से खीरे का रिश्तेदार है. करेले को छिलके के साथ खाया जाता है.

करेले के स्वाद
भारत में करेला अलग-अलग ढंग से खाया जाता है. इसकी भुजिया बनती .है साथ ही नार्थ इंडिया में करेले की कलौंजी बहुत खाई जाती है. कच्चे करेले का जूस तो कुछ लोग पीते ही हैं. बंगाल की एक विशेष डिश 'सूक्तो' बिना करेले के बनती ही नहीं. साउथ इंडिया में नारियल के साथ मिलाकर करेला बनाया जाता है, लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि करेले की मिठाई भी बनती है और करेले की चाय भी खूब मशहूर है.

करेले के फायदे
अपने खास गुणों को लेकर करेला बहुत फायदेमंद है. डायबिटीज के पेशेंट तो करेले का जूस भी पीते हैं. डायबिटीज के साथ ब्लड प्रेशर, डाइजेशन और हेयर लॉस की स्थिति में यह बहुत फायदेमंद होता है. साथ ही इसमें कैंसर प्रतिरोधक क्षमता भी होती है. इसमें विटामिन सी, फोलेट, विटामिन ए के साथ ही पोटेशियम, आयरन और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं.

ये भी पढ़ें - खौलते तेल में हाथ डाल कर निकाल लेते हैं 'पकौड़े', सालों से जारी  स्वाद का सफर

...तो करेला जितना कड़वा सुनाई देता है उतना है नहीं. गर्भवती महिलाओं के लिए करेला वर्जित किया गया है, लेकिन आयुर्वेद में भी करेले के काफी फायदे बताए गए हैं. साथ ही कोलकाता में करेले की मिठाई भी चखी जा सकती है. अगर आप भी करेला पसंद नहीं करते, तो एक बार करेले की कलौंजी खाकर देखिए...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज