अपना शहर चुनें

States

दिल्ली के सीपी की गलियों में भटूरों का 'छुपारुस्तम', 'भोगल' पर जरूर खाएं कोफ्ते वाले छोले

दिल्ली के हर इलाके का एक 'अपना छोले-भटूरे वाला' होता है.
दिल्ली के हर इलाके का एक 'अपना छोले-भटूरे वाला' होता है.

अगर आप दिल्ली (Delhi) में नए हैं तो सीपी के एम ब्लॉक के पास से जनपथ की ओर बढ़िए. वहां सिंधिया हाउस के ठीक पीछे किसी से भी पूछने पर भोगल छोले भटूरे (Bhogal Chole Bhature) का रास्ता आपको मिल जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 9:19 AM IST
  • Share this:
अगर आप कनॉट प्लेस में घूम रहे हैं और दिल्ली (Delhi) के पुराने स्वाद के मुरीद हैं तो एक जगह आपको जरूर पसंद आएगी. दिल्ली के हर इलाके का एक 'अपना छोले-भटूरे वाला' होता है. इन सारे मशहूर भटूरे वालों में एक खास बात होती है, किसी के रेसिपी दूसरे से नहीं मिलती. सबके परोसने और इंग्रीडियेंट्स का अलग ही अंदाज होता है. तो ऐसे ही एक अलग अंदाज वाले भटूरे खिलाते हैं 'भोगल छोले-भटूरे' (Bhogal Chole Bhature) वाले. जी हां, आपको किसी सड़क पर इनका बोर्ड नहीं दिखेगा. दिल्ली के 'दिल' में इनकी दुकान है लेकिन गलियों से होकर आपको गुजरना पड़ेगा.

कोई जानकार आपके साथ न हो तो खोजने में थोड़ा वक्त भी लग सकता है. लेकिन, चुपचाप अकेले में इनके भटूरे खिलते रहते हैं और खाने वालों की कतार लगी रहती है. कस्तूबरा गांधी मार्ग से जनपथ पर निकलने के लिए एलआईसी बिल्डिंग के पास से एक पतला सा रास्ता गया है. वहां कुछ फाइनेंस की दुकाने हैं और उन्हीं के बीच से निकल कर आप पहुंचते हैं भोगल के पास. वैसे तो यहां कोई बैठने की जगह नहीं होती लेकिन आपको सारे कर्मचारी यूनीफार्म में दिखेंगे. साथ ही साफ-सफाई को लेकर खासी मुस्तैदी दिखती है जो कहीं पर भी खाने का स्वाद कई गुना बढ़ा देती है.

इसे भी पढ़ेंः दिल जीत लेगा ये ‘तिल’, जरा इस्तेमाल करके तो देखो …



अगर आप दिल्ली में नए हैं तो सीपी के एम ब्लॉक के पास से जनपथ की ओर बढ़िए. वहां सिंधिया हाउस के ठीक पीछे किसी से भी पूछने पर भोगल छोले भठूरे का रास्ता आपको मिल जाएगा. बस यह ध्यान रखिए कि लंच टाइम में ही यहां आप स्वाद ले सकते हैं. सीपी अपने आप में स्ट्रीट फूड का खजाना है. हर गली में चलते-चलते आप कई अलग तरह के आइटम चख सकते हैं. इसके साथ ही इनके स्टफ्ड भटूरे जो आम भटूरों की तुलना में थोड़े ज्यादा करारे होते हैं आपको तलते दिख जाऐंगे. लेकिन, सरप्राइज है इसके छोलों के साथ. क्योंकि आम तौर पर छोलों में आलू डाल कर मिलता है लेकिन यहां पर छोलों के साथ आपको कुरमुरे पालक-लौकी के कोफ्ते मिलते हैं.
इसे भी पढ़ेंः सब्जियों का राजा है 'बैंगन', भारतीयों का है खास रिश्ता

अभी सिलसिला रुकता नहीं, क्योंकि कचालू के अंचार संग हरी चटनी और प्याज का साथ तो होता ही है. यह यूनिक स्वाद आप भूल नहीं सकते. इसके साथ ही भोगल पर आपको छोले-कुल्चे और छोले-चावल भी मिलते हैं. हर मौसम में यहां लंच लाइम में आपको कतार मिल जाएगी. आसपास के ऑफिसों से बहुस से लोग प्रतिदिन यहां लंच के लिए आते हैं. अपने खास अंदाज और स्वाद के कारण सालों से भोगल अपने लजीज भटूरे लोगों को खिला रहा है. अगर आप कभी सीपी में हों तो एक बार ये स्वाद चख सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज