लाइव टीवी

भाई दूज पर महिलाओं को दिल्ली सरकार का बड़ा तोहफा, DTC बसों में सुरक्षा के साथ फ्री सफर

News18Hindi
Updated: October 28, 2019, 2:53 PM IST
भाई दूज पर महिलाओं को दिल्ली सरकार का बड़ा तोहफा, DTC बसों में सुरक्षा के साथ फ्री सफर
बसों में निशुल्क सफर का मौका देने के लिए दिल्ली सरकार के इस निर्णय को काफी लोग पसंद कर रहे हैं.

इस बार भाई दूज के मौके पर दिल्ली सरकार ने बहनों को एक बड़ा गिफ्ट देने का ऐलान किया है. अब महिलाएं डीटीसी बसों में फ्री में करेंगी सफर.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2019, 2:53 PM IST
  • Share this:
भैया दूज भाई-बहन के प्यार और मजबूत बंधन का त्योहार है. इस बार भाई दूज 29 अक्टूबर को मनाया जा रहा है. इस दिन बहनें, भाइयों को तिलक लगाती हैं और उनकी आरती उतारती हैं. साथ ही अपने भाइयों के उज्जवल भविष्य और लंबी उम्र की कामना करती हैं. ऐसे में भाइयों का फर्ज होता है कि वह अपनी बहनों को तोहफे दें. इस बार भाई दूज के मौके पर दिल्ली सरकार ने बहनों को एक बड़ा गिफ्ट देने का ऐलान किया है. दरअसल भाई दूज के मौके पर इस बार महिलाओं को दिल्ली की डीटीसी बसों में हमेशा के लिए फ्री में सफर करने तोहफा मिलेगा. 29 अक्टूबर यानी भाई दूज के दिन से इसे लागू कर दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः कपल ने भारतीय संविधान की शपथ लेकर की शादी!

बसों में 13 हजार मार्शल नियुक्त

बसों की संख्या में बढ़ोतरी के साथ साथ महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला मार्शलों को भी तैनात किया जाएगा. कुल 13,000 मार्शल बसों में बीमार की मदद भी करेंगे एवं अन्य किसी भी आपात स्तिथि से निपटेंगे. बसों में रोजाना करीब 30 लाख यात्री डीटीसी बसों में सफर करते हैं. इनमें करीब 15 फीसदी यानी पांच लाख महिलाएं होती हैं. दिल्ली अकेला राज्य है जहां लोगों की सुरक्षा और मदद के लिए हर बस में मार्शल नियुक्त किए जा रहे हैं. बसों में निशुल्क सफर का मौका देने के लिए दिल्ली सरकार के इस निर्णय को काफी लोग पसंद कर रहे हैं. इसके तहत पहले से संचालित होने वाली बसों को दुरस्त करने के साथ साथ बेहतर सुविधाएं देने के लिए तैयारियां की जा रही हैं. इस स्कीम की शुरुआत होने से उन महिलाओं को अधिक फायदा पहुंचेगा जो अधिक मात्रा में बसों में सफर करती हैं.




300 इलेक्ट्रिक बसों का टेंडर जारी

पुरानी हो चुकी बसों में होने वाली खराबी के कारण अक्सर यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. आपको बता दें कि डीटीसी की संख्या में बढ़ोतरी के लिए टेंडर जारी किए गए हैं. इसमें 300 इलेक्ट्रिक बसों के अलावा 1000 अन्य बसें शामिल हैं. इन बसों के सड़कों पर उतरने के बाद ही यात्रियों को दिल्ली में बेहतर परिवहन सुविधा मिल सकेगी. दरअसल पुरानी हो चुकी लो फ्लोर बसों के कहीं भी खराब हो जाने की वजह से डीटीसी बसों में सफर करने वालों की संख्या कम होती जा रही है. इसी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार ने बसों की सेवा को सुधारने का काम शुरू किया है.

इसे भी पढ़ेंः Diwali 2019: इस बार मनाएं सेहतमंद दिवाली, अपनों को बादाम के साथ दें खुशियों का तोहफा

बसों में यात्रियों की संख्या पहले से कम हुई

दिल्ली की सड़कों पर वाहनों की भारी तादाद की वजह से बसों में सफर करने वाले लेागों को अक्सर देरी की समस्या से जूझना पड़ता है. बसों की कमी और नियमित समय पर संचालन न होने की वजह से बसों में यात्रियों की संख्या पहले से कम हुई है. नौ साल पहले डीटीसी बसों में रोजाना 40 लाख से अधिक लोग सफर करते थे. मेट्रो का संचालन शुरू होने के बाद बसों में यात्रियों की संख्या 25 फीसदी तक कम हो गई. अब यह संख्या करीब 30 लाख है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 28, 2019, 2:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...