Home /News /lifestyle /

अमेरिकी राष्ट्रपति ने 45 मिनट कराया था इंतज़ार, ऐसे लिया था इंदिरा गांधी ने बदला

अमेरिकी राष्ट्रपति ने 45 मिनट कराया था इंतज़ार, ऐसे लिया था इंदिरा गांधी ने बदला

इंदिरा गांधी

इंदिरा गांधी

तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने इंदिरा गांधी को मिलने के लिए 45 मिनटों का इंतज़ार करवाया था. इंदिरा गांधी ने निक्सन से इस अपमान का बदला अनोखे अंदाज़ में लिया था.

    1971 के भारत-पाक युद्ध से पहले तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी अमेरिका के राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन से मिलने गईं. वे चाहती थीं कि पाकिस्तानी सेना द्वारा पूर्वी पाकिस्तानियों (अब बांग्लादेश) पर किए जा रहे अत्याचार को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाया जाय ताकि इस समस्या का हल जल्दी निकले.

    लेकिन इस मुलाकात के दौरान रिचर्ड निक्सन इंदिरा गांधी के साथ बदतमीज़ी से पेश आए, निक्सन ने इंदिरा गांधी को मिलने के लिए 45 मिनटों का इंतज़ार करवाया. इंदिरा गांधी को यह बात याद रही. उन दिनों पाकिस्तानी सेना के अत्याचार की वजह से पूर्वी पाकिस्तान के लोग भारत में शरण ले रहे थे. जिसकी वजह से भारत की मुश्किलें बढ़ रही थीं.

    इंदिरा गांधी ने पाकिस्तानी सेना की करतूत को दुनिया के सामने लाने की पूरी कोशिश की लेकिन निक्सन ने ना केवल इंदिरा गांधी की बात को नज़रअंदाज़ किया बल्कि उन्हें अपमानित भी किया. उस समय निक्सन ने अमरीकी विदेश मंत्री हेनरी किसिंजर से कहा था कि, 'इंदिरा गांधी भारत में घुसने वाले बांग्लादेशी शरणार्थियों को गोली क्यों नहीं मरवा देती'.

    जानकार बताते हैं कि उन दिनों अमेरिका 'या तो आप हमारे साथ हैं या फिर हमारे ख़िलाफ हैं' की नीति पर काम करता था. इंदिरा गांधी के प्रधानमंत्री बनने के बाद और USSR के साथ बढ़ती भारत की नजदीकियों से अमेरिका नाराज था. निक्सन व्यक्तिगत रूप से इंदिरा गांधी के मुकाबले याह्या खान को ज़्यादा पसंद करता था इसलिए 1971 की भारत-पाक लड़ाई में अमेरिका ने पाकिस्तान का साथ दिया था. बरसों बाद निक्सन के कार्यकाल के दौरान के टेप डीक्लासिफ़ाई हुए तो पता चला कि वह इंदिरा गांधी के लिए अपशब्दों का प्रयोग भी किया करता था.

    वरिष्ठ पत्रकार सागरिका घोष अपनी किताब 'Indira: India’s Most Powerful Prime Minister' में लिखती हैं कि इंदिरा गांधी ने 45 मिनट तक कराए जाने वाले अपमान का बदला अनोखे अंदाज़ में लिया था.

    दरअसल इंदिरा के सम्मान में निक्सन ने एक भोज का आयोजन किया. मेज पर वे निक्सन के बगल में बैठी हुई थीं. भोज में शामिल सारे मेहमान इंदिरा को देख रहे थे लेकिन इंदिरा ने अपनी आंखें बंद कर रखी थीं. जैसे वे किसी ध्यान में हों. ना हिली-डुली और ना ही एक शब्द बोलीं.

    बाद में जब उनकी टीम की एक सदस्य ने उनसे इस बारे में पूछा तो उन्होंने बताया, 'मेरे सिर में बहुत तेज दर्द हो रहा था इसलिए मैंने आंखें बंद कर रखी थीं.' हालांकि सबको पता था कि उन्होंने ऐसा क्यों किया था. दरअसल ये निक्सन द्वारा किए गए अपमान का जवाब था.

    इसे भी पढ़ें:
    Love story: प्रेग्नेंट इंदिरा को छोड़ किसी और के इश्क में थे फिरोज
    जब इंदिरा गांधी के करीबी आरके धवन ने कहा था, 'मुझे भी एक गोली लग गई होती...'
    OPINION: इंदिरा गांधी की विदेश यात्रा पर रोक, पर टैक्स चोर धर्म तेजा को 1977 में मिल गई थी छूट

    Tags: America, Congress, Indira Gandhi, Politics, Rajiv Gandhi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर