लाइव टीवी

ब्राजील में टीनएज प्रेग्नेंसी रेट से घबराई सरकार, कहा- 'बच्चों प्लीज़ शादी से पहले सेक्स मत करो'

News18Hindi
Updated: January 27, 2020, 1:21 PM IST
ब्राजील में टीनएज प्रेग्नेंसी रेट से घबराई सरकार, कहा- 'बच्चों प्लीज़ शादी से पहले सेक्स मत करो'
ब्राजील सराकर ने 'आई चूज टू वेट' नाम का एक अभियान शुरु किया है.

ब्राजील में टीएनएज प्रेग्नेंसी रेट सबसे ज्यादा है. ब्राजील में टीएनएज प्रेग्नेंसी रेट लगभग 62% है. इसके साथ ही ब्राजील में यौन संक्रमण के मामलों में भी तेजी से इजाफा हो रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2020, 1:21 PM IST
  • Share this:
देश में बढ़ रहे टीनएज प्रेग्नेंसी रेट और एचआईवी संक्रमण के बढ़ते मामलों से ब्राजील सरकार परेशान है. किशोर अवस्था में लड़कियों के प्रेग्नेंट होने के बढ़ते मामलों ने सरकार को चिंता में डाल दिया है. बच्चे छोटी उम्र में सेक्स न करें इसलिए सरकार उन्हें शादी तक का इंतजार करने का संदेश दे रही है.

इसके लिए ब्राजील सरकार ने एक अभियान चलाने का फैसला लिया है. मानवाधिकार और परिवार मंत्री डामारेस ने देश के युवाओं को सलाह देते हुए कहा, ' ब्राजील के युवा कई कारणों से छोटी उम्र में सेक्स कर रहे हैं. खासकर पार्टी में यह सब आम हो गया है. यंग जेरेशन को सोचना चाहिए कि पार्टीज में सिर्फ सेक्स नहीं बल्कि कई तरह से एन्जॉय किया जा सकता है.'

आई चूज टू वेट अभियान की शुरुआत
ब्राजील के मानवाधिकार और परिवार मंत्री ने कहा कि यंग जेनेरेशन के बच्चे ज्यादा सेक्स के प्रति उतारू न हों इसके लिए 'आई चूज टू वेट' नाम का एक अभियान शुरु किया है. इस अभियान को चलाने के लिए सरकार ने उन सभी चर्च के फादर से सलाह ली है, जो सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं और उनके फॉलोअर्स की संख्या भी ज्यादा है.

इसे भी पढ़ें: लिव इन रिलेशनशिप में रहने से हो सकते हैं ये 5 नुकसान, नहीं जानते हैं तो अब जान लीजिए

ब्राजील के लॉ प्रोफेसर देबोरा डिनिज ने सरकार की इस नीति पर कहा कि सेक्स के प्रति संयम नीतियां अप्रभावी हैं.
ब्राजील के लॉ प्रोफेसर देबोरा डिनिज ने सरकार की इस नीति पर कहा कि सेक्स के प्रति संयम नीतियां अप्रभावी हैं.


सरकार की नीति पड़ सकती है उल्टीमीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ब्राजील के लॉ प्रोफेसर देबोरा डिनिज ने सरकार की इस नीति पर कहा कि सेक्स के प्रति संयम नीतियां अप्रभावी हैं. डिनिज का कहना है कि सरकार की नीतियां किशोर गर्भावस्था और यौन रोगों की समस्या में भी असफल साबित हुई है. वहीं, इस मामले पर विशेषज्ञों का कहना है कि गर्भावस्था पर अंकुश लगाने की अब तक की कोशिशों को सरकार की इस नीति से नुकसान पहुंच सकता है.

 

इसे भी पढ़ें: सावधान अगर वैसलीन, लोशन, नारियल तेल का करते हैं सेक्स के दौरान इस्तेमाल: रिपोर्ट

 

रिपोर्ट्स के अनुसार पिछले दिनों एक बच्चे की मां बनी एक 15 साल की लड़की का कहना है कि सरकार की यह नीति काफी काम आएगी. लड़की का कहना है कि टीनएज में गर्भनिरोधक संदेश बहुत काम आएगा. उन्होंने बताया कि उनकी क्लास की कई लड़कियां प्रेग्नेंट हैं. सरकार की यह नीति टीएनएज बर्थ पर कंट्रोल लगा सकती है.

ब्राजील में टीएनएज प्रेग्नेंसी रेट लगभग 62% है.
ब्राजील में टीएनएज प्रेग्नेंसी रेट लगभग 62% है.


इसे भी पढ़ें: Ghosting से लेकर Eclipsing तक, फेमस हो रहे हैं ये अजब-गजब डेटिंग ट्रेंड्स

 

ब्राजील में टीएनएज प्रेग्नेंसी रेट
आंकड़ों के मुताबिक, ब्राजील में टीएनएज प्रेग्नेंसी रेट सबसे ज्यादा है. ब्राजील में टीएनएज प्रेग्नेंसी रेट लगभग 62% है. इसके साथ ही ब्राजील में यौन संक्रमण के मामलों में भी तेजी से इजाफा हो रहा है. ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, 2018 में यौन संक्रमण के 43,941 नए मामले सामने आए थे. यह आंकड़ा 2014 की तुलना में लगभग 40 प्रतिशत ज्यादा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 1:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर