होम /न्यूज /जीवन शैली /

कोरोना के बदलते वेरिएंट के खिलाफ मजबूत इम्यूनिटी देता है ब्रेकथ्रू इंफेक्शन- स्टडी

कोरोना के बदलते वेरिएंट के खिलाफ मजबूत इम्यूनिटी देता है ब्रेकथ्रू इंफेक्शन- स्टडी

कोविड-19 वैक्सीन (फोटो-shutterstock.com)

कोविड-19 वैक्सीन (फोटो-shutterstock.com)

Breakthrough infection builds strong immunity : अमेरिका की ओरेगन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी (Oregon Health & Science University) यानी ओएचएसयू (OHSU) के रिसर्चर्स द्वारा की गई इस स्टडी के मुताबिक, ब्रेकथ्रू इंफेक्शन (Breakthrough Infection) कोरोना के बदलते वेरिएंट से मजबूत सुरक्षा प्रदान करता है.

अधिक पढ़ें ...

    Breakthrough infection builds strong immunity : कोरोनावायरस के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) ने दुनियाभर में दहशत का माहौल बनाया हुआ है. अब तक हुई स्टडीज और आंकड़ों की मानें तो ये वेरिएंट वैक्सीन से मिली सुरक्षा को भी चकमा दे रहा है या उसके असर को कम कर रहा है. हालांकि एक नई स्टडी के निष्कर्ष इस दहशत भरे माहौल में कुछ राहत पहुंचाने वाले दिखाई देते हैं. अमेरिका की ओरेगन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी (Oregon Health & Science University) यानी  ओएचएसयू (OHSU) के रिसर्चर्स द्वारा की गई इस स्टडी मुताबिक, ब्रेकथ्रू इंफेक्शन (Breakthrough Infection) कोरोना के बदलते वेरिएंट से मजबूत सुरक्षा प्रदान करता है. इस स्टडी के अनुसार, ब्रेकथ्रू इंफेक्शन कोरोना के डेल्टा वेरिएंट (Delta variant) के खिलाफ स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी (strong immunity) पैदा करता है. इससे ये भी भी संकेत मिले हैं कि ब्रेकथ्रू इंफेक्शन वाले लोगों में पैदा हुई स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी कोरोनावायरस के बदलते वेरिएंट्स के खिलाफ भी उच्च प्रभावी (high effective) रहेगी. हालांकि, इस स्टडी का ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर अलग से कोई आंकलन नहीं किया गया.

    इस स्टडी के निष्कर्ष ‘जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन (JAMA)’ में प्रकाशित किए गए हैं. आपको बता दें कि ब्रेकथ्रू इंफेक्शन वो इंफेक्शन होता है जब किसी को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगने के दो हफ्ते के बाद कोविड-19 का संक्रमण हो जाता है.

    कैसे हुई स्टडी
    ये स्टडी यूनिवर्सिटी के 52 कर्मचारियों पर किया गया, जिन्होंने फाइजर की वैक्सीन लगवाई थी. इनमें से 26 लोगों में हल्का ब्रेकथ्रू इंफेक्शन पाया गया. इन 26 में 10 में डेल्टा वेरिएंट से, 9 में गैर डेल्टा वेरिएंट से और 7 में अनजान वेरिएंट से ब्रेकथ्रू इंफेक्शन मिला था.

    क्या कहते हैं जानकार
    इस स्टडी के सीनियर राइटर और ओएचएसयू (OHSU) के असिस्टेंट प्रोफेसर फिकाडू तफेसे (Fikadu Tafesse) ने कहा, ‘आप इससे बेहतर इम्यूनिटी नहीं हासिल कर सकते हैं. ये वैक्सीन गंभीर बीमारी के खिलाफ बहुत प्रभावी होती हैं. स्टडी में हमने पाया है कि वैक्सीन लगवाने के बाद ब्रेकथ्रू इंफेक्शन के शिकार होने वालों में सुपर प्रतिरक्षा (Super Immunity) पैदा होती है.’

    यह भी पढ़ें-
    सर्दियों में जोड़ों के दर्द में फायदा पहुंचाता है वॉरियर पोज, हेल्दी डाइट से भी मिलती है मदद

    फिकाडू तफेसे (Fikadu Tafesse) ने आगे बताया, ‘स्टडी के दौरान ब्रेकथ्रू इंफेक्शन वाले लोगों में एंटीबाडी (Antibody) की मात्रा और प्रभाव की जांच की गई. इसमें पाया गया कि फाइजर वैक्सीन (Pfizer vaccine) की दूसरी डोज के दो हफ्ते बाद बनी एंटीबाडी की तुलना में ब्रेकथ्रू मामलों के ब्लड सैंपल में एंटीबाडी-मात्रा और प्रभाव दोनों ही मामलों में 1,000 प्रतिशत अधिक थी.’ उन्होंने बताया कि ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर कोई स्पेशल स्टडी नहीं की गई है. लेकिन, इस स्टडी के नतीजों से हम ये अनुमान लगा रहे हैं कि ओमिक्रॉन से होने वाले ब्रेकथ्रू इंफेक्शन से भी इसी तरह की स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी पैदा होगी.

    यह भी पढ़ें-
    Winter Workouts: सर्दियों में बेहद काम के हैं ये 6 वर्कआउट, हरदम रखेंगे फिट एंड हेल्दी

    क्या कहते हैं स्टडी के नतीजे
    इस स्टडी के नतीजे बताते हैं कि वैक्सीनेशन के बाद होने वाला संक्रमण, भविष्य में कोरोना के नए वेरिएंट से होने वाले संक्रमण के खिलाफ भी मजबूत सुरक्षा प्रदान करने का काम करता है. ओएचएसयू स्कूल ऑफ मेडिसिन में एसोसिएट प्रोफेसर और स्टडी के को-राइटर मार्सेल कर्लिन (Marcel Curlin) कहते हैं कि भले ही अभी महामारी खत्म नहीं होने जा रही है, लेकिन इस स्टडी के नतीजे इशारा करते हैं कि अब हम इसके अंत की तरफ बढ़ रहे हैं. कर्लिन कहते हैं कि कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण अहम हथियार है. यह व्यक्ति को सुरक्षा का आधार प्रदान करता है.

    Tags: Health, Health News, Lifestyle

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर