• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • Breast Feeding Week 2021: पहली बार बनी हो मां तो जानें ब्रेस्टफीडिंग का सही तरीका और इन बातों का रखें ख्याल

Breast Feeding Week 2021: पहली बार बनी हो मां तो जानें ब्रेस्टफीडिंग का सही तरीका और इन बातों का रखें ख्याल

ब्रेस्ट फीडिंग करवाते समय इन बातों का रखें ख्याल-Image/shutterstock

ब्रेस्ट फीडिंग करवाते समय इन बातों का रखें ख्याल-Image/shutterstock

Breast Feeding Week 2021: पहली बार मां बनने बनने पर मातृत्व (Motherhood) से जुड़ा हर एक एहसास और काम बिल्कुल नया होता है. इन्हीं में से एक है बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग (Breast feeding) करवाना. जिसका तरीका नयी मां को समझ नहीं आता.

  • Share this:

    Breast Feeding Week 2021: पहली बार मां बनने बनने पर मातृत्व (Motherhood) से जुड़ा हर एक अहसास बिल्कुल नया होता है. तो वहीं बच्चे से जुड़ी किसी भी बात और काम का अनुभव भी माँ को नहीं होता है. जिसकी वजह से कई तरह की मुश्किलें (Difficulties) सामने आती हैं. इन्हीं में से एक है बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग (Breast feeding) करवाना. जिसका तरीका नयी मां को समझ नहीं आता और न ही इस बात की जानकारी होती है कि बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग करवाते समय किन बातों का ख्याल रखना चाहिए. आइये आज हम आपको बताते हैं कि बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग करवाने का सही तरीका क्या है और इस दौरान किन बातों का ख्याल रखना ज़रूरी है.

    ये भी पढ़ें: पहले बच्चे को देने जा रही हैं जन्म, तो प्रेग्नेंसी में इन बातों का रखें ख्याल

    ब्रेस्ट फीडिंग करवाने का तरीका

    बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग करवाते समय माँ को इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि बच्चे का सिर माँ की छाती से ऊंचा यानी लगभग 45 डिग्री के कोण में होना चाहिए. इसलिए बेहतर होगा कि बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग बैठ कर करवाई जाये.

    लेटकर न करवाएं ब्रेस्ट फीडिंग

    बहुत सी महिलायें लेटकर बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग करवाती हैं जो कि सही तरीका नहीं है. हमेशा इस बात का ख्याल रखें कि खुद लेटकर बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग कभी न करवायें. इससे बच्चे की कान में इंफेक्शन होने का खतरा होता है.

    फ़ौरन न लिटायें

    कई बार बच्चे को फीड करवाने के फौरन बाद बिस्तर पर लिटा दिया जाता है जो कि  सही नहीं है. बच्चे को फीड करवाने के फ़ौरन बाद बिस्तर या गोद में  कभी न लिटायें. ऐसा करने से बच्चे को दूध डाइजेस्ट नहीं होगा और वह पिया हुआ दूध मुंह से निकाल सकता है.

    कंधे से लगायें

    फीड करवाने के बाद बच्चे को सावधानी के साथ कंधे से ज़रूर लगायें और उसकी पीठ को दो-तीन मिनट तक हल्के-हल्के से सहलायें. जिससे दूध डाइजेस्ट करने में बच्चे को मदद मिलेगी.

    डकार दिलायें

    कुछ लोग बच्चे को फीड करवाने के बाद बिना डकार दिलाये ही लिटा देते हैं. ऐसे में लेटने के बाद बच्चे को अगर डकार आती है तो इस दौरान डकार के साथ दूध निकल कर बच्चे की सांस की नली में जाने का खतरा होता है. इसलिए फीड करवाने के बाद हमेशा बच्चे को कंधे से लगाकर या बच्चा बैठने लायक है तो उसको बिठाकर डकार ज़रूर दिलायें.

    ये भी पढ़ें: जानें प्रेग्नेंसी के दौर में किन कामों को करने से बचें गर्भवती महिलाएं

    ब्रेस्ट पम्प की लें मदद

    बहुत बार ऐसा होता है कि माँ किसी वजह से बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग नहीं करवा पाती है या बच्चा ठीक तरह से ब्रेस्ट फीडिंग नहीं कर पाता है. ऐसे में बच्चे को बोतल में बाहर का दूध पिलाना पड़ता है. जबकि बच्चे की सेहत के लिए माँ का दूध बेहद ज़रूरी है. ऐसे में आप ब्रेस्ट पम्प की मदद ले सकती हैं और बोतल के ज़रिये बच्चे को ब्रेस्ट मिल्क पिला सकती हैं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज