• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • Breast Feeding Week 2021: ब्रेस्ट फीडिंग बच्चे और मां के लिए कितना है जरूरी, जानें डॉक्टर की राय

Breast Feeding Week 2021: ब्रेस्ट फीडिंग बच्चे और मां के लिए कितना है जरूरी, जानें डॉक्टर की राय

रोजवॉक हॉस्पिटल की गाइनोलॉजिस्ट, डॉ. शैली आनंद.

Breast Feeding Week 2021: मां का दूध (Breast Milk) बच्चों के लिए ईश्वर की ओर से दिया गया सबसे बड़ा उपहार है. इसमें सभी जरूरी पोषक तत्व (Nutrients), एंटी ऑक्सीडेंट और एंजाइम होते हैं.

  • Share this:

    Breast Feeding Week 2021: पहली बार मां बनने बनने पर मातृत्व (Motherhood) से जुड़ा हर एक एहसास बिल्कुल नया होता है. वहीं बच्चे से जुड़ी किसी भी बात और काम का अनुभव भी मां को नहीं होता है, जिसकी वजह से कई तरह की मुश्किलें सामने आती हैं. इन्हीं में से एक है बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग (Breast feeding) करवाना. लेकिन क्या आपको पता है कि बच्चे का पहला आहार मां का दूध ही होता है जो कि उसके लिए अमृत समान होता है. विश्व स्तनपान सप्ताह हर साल 1 अगस्त से एक सप्ताह तक मनाया जाता है. विश्व स्तनपान सप्ताह मनाए जाने की शुरुआत स्तनपान को प्रोत्साहित करने और दुनिया भर में शिशुओं के स्वास्थ्य में सुधार के लिए इनोसेंटी डिक्लेरेशन से हुई. आइए रोजवॉक हॉस्पिटल की गाइनोलॉजिस्ट, डॉ. शैली आनंद से जानते हैं कि बच्चों का पहला आहार मां का दूध क्यों होता है और ब्रेस्ट फीडिंग बच्चे और मां के लिए कितना जरूरी है.

    स्तनपान बच्चों के लिए कितना जरूरी है?
    मां का दूध बच्चों के लिए ईश्वर की ओर से दिया गया सबसे बड़ा उपहार है. इसमें सभी जरूरी पोषक तत्व, एंटी ऑक्सीडेंट और एंजाइम होते हैं. मां का इम्यून सिस्टम कुछ सामान्य वायरस/बैक्टीरिया के लिए एंटीबॉडी बनाता है और मां के दूध के माध्यम से वह एंटीबॉडी बच्चे के शरीर में पहुंच जाते हैं. इससे नवजात शिशु बहुत सी बीमारियों से बचता है. मां के दूध से मिले कुछ एंटीबॉडी उम्र भर बच्चे की हिफाजत करते हैं. विशेषतौर पर जन्म के तुरंत बाद मां का दूध किसी भी बच्चे के लिए अमृत के समान कहा जाता है. मां के दूध की एक विशेषता यह भी है कि बोतल वाले दूध की तरह किसी भी प्रकार से संक्रमित नहीं होता है और न ही इसके तापमान से बच्चे को कोई नुकसान पहुंचने का डर रहता है.

    इसे भी पढ़ेंः World Breastfeeding Week 2021: ब्रेस्‍ट फीडिंग में आ रही है दिक्‍कत? नई मां फॉलो करें ये टिप्‍स

    मौजूदा भागदौड़ भरी जिंदगी में कई बार मां के लिए बच्चों को स्तनपान कराना संभव नहीं हो पाता है. इस बारे में आपका क्या कहना है?
    स्तनपान केवल बच्चे के लिए ही नहीं, मां के शरीर के लिए भी बहुत फायदेमंद है. इसलिए जरूरी है कि जन्म के कुछ महीने तक हर मां अपने बच्चे को दूध जरूर पिलाए. शोध बताते हैं कि स्तनपान कराने वाली मां प्रसव के बाद आसानी से अपना वजन कम कर पाती हैं. बच्चे को स्तनपान कराने से रोजाना करीब 500 कैलोरी ज्यादा बर्न होती है, जिससे शरीर फिट होता है. इसी तरह, स्तनपान कराने वाली महिलाओं का गर्भाशय अन्य की तुलना में ज्यादा जल्दी सामान्य स्थिति में पहुंच जाता है. इससे रक्तस्राव कम होने और एनीमिया का खतरा भी कम होता है. ऐसी महिलाओं में संक्रमण का खतरा भी कम होता है.

    स्तनपान का मां-बच्चे के बीच के भावनात्मक जुड़ाव से क्या संबंध है?
    हमेशा से कहा जाता है कि स्तनपान से मां और बच्चे का रिश्ता मजबूत होता है. इसका वैज्ञानिक आधार भी है. मां-बच्चे के भावनात्मक जुड़ाव से कुछ हैप्पी हॉर्मोन स्रावित होते हैं. इससे प्रसव के बाद अवसाद में जाने की आशंका कम होती है. इससे आत्मविश्वास की भावना भी बढ़ती है. स्तनपान करने वाले बच्चे कम रोते हैं और उनका व्यवहार बेहतर होता है. साथ ही ऐसी मां अपने बच्चे की भावनाओं को ज्यादा बेहतर तरीके से समझ पाती है.

    इसे भी पढ़ेंः Breast Feeding Week 2021: कम होता हो ब्रेस्ट मिल्क, तो बढ़ाने के लिए अपनायें ये तरीके

    स्तनपान और बीमारियों से बचाव के बीच क्या कोई सीध संबंध है?
    शोध बताते हैं कि स्तनपान कराने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर, गर्भाशय कैंसर, ऑस्टियोपोरोसिस, डायबिटीज और हाइपरटेंशन जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है. इसी तरह, मां का दूध पीने वाले बच्चों में डायरिया, कब्ज और प्रीटर्म नेक्रोटाइजिंग एंटेरोकोलाइटिस जैसी समस्याएं कम देखने को मिलती हैं. उनका श्वसन तंत्र भी बेहतर रहता है और उन्हें सर्दी, न्यूमोनिया या इस तरह की अन्य बीमारियों का खतरा भी कम होता है. कान या आंख का संक्रमण कम होने और नजर तेज रहने जैसे भी फायदे बच्चों को होते हैं. असल में अगर स्तनपान से बच्चों को होने वाले फायदे की बात की जाए तो पूरी किताब लिखी जा सकती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज