लाइव टीवी

2037 तक ज़्यादातर बच्चे होंगे 'ई बेबीज', ऑनलाइन डेटिंग है वजह : रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: November 29, 2019, 11:44 AM IST
2037 तक ज़्यादातर बच्चे होंगे 'ई बेबीज', ऑनलाइन डेटिंग है वजह : रिपोर्ट
2037 तक ज़्यादातर बच्चे होंगे ई बेबीज, ऑनलाइन डेटिंग है वजह

फ्यूचर ऑफ़ डेटिंग नाम की रिपोर्ट में यह जानकारी छापी गई है. उन्होंने यह डाटा एक डेटिंग प्लेटफार्म ई हार्मोनी और ऑफिस फॉर नेशनल स्टेस्टिक से लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2019, 11:44 AM IST
  • Share this:
साल 2037 तक ब्रिटेन में ज़्यादातर 'ई बेबीज' होंगे! 'ई बेबीज' का मतलब है ऐसे माता-पिता की संतान जो या तो किसी डेटिंग ऐप या ऑनलाइन डेटिंग साइट पर मिले हों बजाए इसके जो आमने-सामने या पारंपरिक तरीके से मिले हों. इम्पीरियल कॉलेज बिजनेस स्कूल द्वारा की गई स्टडी के अनुसार, अगले दशक में पैदा होने वाले तकरीबन 40 प्रतिशत बच्चे 'ई बेबीज' होंगे.

TOI ने फ्यूचर ऑफ़ डेटिंग नाम की रिपोर्ट के हवाले से यह रिपोर्ट प्रकाशित की है. रिपोर्ट का डाटा एक डेटिंग प्लेटफार्म ई हार्मोनी और ऑफिस फॉर नेशनल स्टेस्टिक से लिया है. इस रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि साल 2015 से 2019 के बीच लगभग 32 प्रतिशत रिलेशनशिप ऐसे थे जिनकी शुरुआत ऑनलाइन डेटिंग से हुई थी. वहीं 2005 से 2014 के बीच महज 19 प्रतिशत रिलेशन ही ऑनलाइन डेटिंग की वजह से शुरू हुए थे.

इसे भी पढ़ें: इस कोर्स में हुए फेल तो जिंदगी भर रह जाएंगे कुंवारे, छीन लिया जाएगा शादी का अधिकार

शोधकर्ताओं का मानना है कि साल 2030 तक इस संख्या में तेजी से इजाफा होगा. उनका अनुमान है कि तब तक आधे से ज्यादा रिलेशनशिप ऐसे होंगे जो ऑनलाइन माध्यम से शुरू होंगे. इम्पीरियल कॉलेज बिजनेस स्कूल के प्रिंसिपल टीचिंग फेलो पाउलो ने बताया कि आज के डिजिटल वर्ल्ड में ऑनलाइन डेटिंग से ऐसा पार्टनर खोजने में मदद मिलती है जिससे आपका माइंडसेट मिलता हो और जो आपके अनुकूल हो. उन्होंने कहा कि प्यार की तलाश के लिए साल 2035 एक यांत्रिक साल (इंस्ट्रूमेंटल ईयर) होगा और ये 21वीं सदी में डेटिंग के एक नए युग की शुरुआत होगी.

इसे भी पढ़ें: अच्छी नींद के लिए आज ही शुरू कर दें योग: रिसर्च

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ट्रेंड्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 10:27 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर